निर्धारित दिन और समय पर खुलें उचित मूल्य की दुकानें

जबलपुर,कलेक्टर सौरभ कुमार सुमन ने सभी अनुविभागीय दंडाधिकारियों को अपने-अपने क्षेत्र में सार्वजनिक वितरण प्रणाली के तहत उपभोक्ताओं को शत-प्रतिशत खाद्यान्न का वितरण कराने के निर्देश दिये हैं। श्री सुमन ने कहा कि सभी एसडीएम को यह सुनिश्चित करना होगा कि उनके क्षेत्र में उचित मूल्य दुकानें निर्धारित दिन और समय पर खुलें तथा उपभोक्ताओं को उनके हिस्से का पूरा-पूरा खाद्यान्न मिले।
कलेक्टर ने ये निर्देश आज खाद्यान्न के उठाव एवं वितरण, आयुष्मान कार्ड बनाने के कार्य में हुई प्रगति, खाद की उपलब्धता एवं वितरण, स्कूली बच्चों के जाति प्रमाण-पत्र बनाने के कार्य में हुई प्रगति तथा संबल योजना के तहत पंजीयन के लिए प्राप्त हुए आवेदनों के सत्यापन के कार्य की समीक्षा के लिए आज शाम कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में आयोजित बैठक में दिये। बैठक में रिंग रोड के लिए भू-अर्जन की दिशा में हुई प्रगति का ब्यौरा भी उन्होंने लिया। जिला पंचायत की सीईओ डॉ. सलोनी सिडाना, अपर कलेक्टर शेर सिंह मीणा एवं सुश्री विमलेश सिंह तथा सभी संबंधित विभागों के अधिकारी बैठक में मौजूद थे। जिले के ग्रामीण क्षेत्र में पदस्थ एसडीएम एवं संबंधित अधिकारी व्हीसी के माध्यम से इस बैठक से जुड़े थे।
कलेक्टर ने बैठक में सभी एसडीएम को सार्वजनिक वितरण प्रणाली के खाद्यान्न का समय पर उठाव और वितरण सुनिश्चित करने के लिए अपने क्षेत्र की दुकानों की नियमित मॉनीटरिंग करने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि एसडीएम को उन दुकानों पर विशेष ध्यान देना होगा जहां खाद्यान्न का वितरण काफी कम हुआ है। यदि ऐसी दुकानों पर विक्रेता नहीं हैं तो वहां पदस्थ सहायक विक्रेताओं के माध्यम से उपभोक्ताओं को खाद्यान्न का वितरण कराया जाये। कलेक्टर ने सभी एसडीएम को अपने-अपने क्षेत्र में एक सप्ताह के भीतर खाद्यान्न का शत-प्रतिशत वितरण कराने के निर्देश भी दिये।
श्री सुमन ने बैठक में खाद की उपलब्धता एवं वितरण की स्थिति का समीक्षा भी की। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिये की खाद प्राप्त करने में किसानों को कहीं कोई कठिनाई नहीं होनी चाहिए। बैठक में बताया गया कि आज रात डीएपी की एक और रेक जबलपुर आने वाली है। सभी डबल लॉक केन्द्रों पर कल तक इसे पहुंचा दिया जायेगा। कलेक्टर श्री सुमन ने बैठक में स्कूली बच्चों के जाति प्रमाण-पत्र बनाने के कार्य में तेजी लाने की हिदायत भी अधिकारियों को दी। उन्होंने स्कूली बच्चों के जाति-प्रमाण पत्र बनाने के निरस्त आवेदनों की एक बार फिर से स्क्रीनिंग करने के निर्देश सभी एसडीएम को दिये। कलेक्टर ने कहा कि दस्तावेजों की कमी के कारण कोई भी जाति प्रमाण-पत्र निरस्त न किया जाये बल्कि उनका पुन: परीक्षण कर पंचनामा के माध्यम से तथा पटवारी से प्रतिवेदन प्राप्त कर उनका निराकरण किया जाये।
कलेक्टर ने बैठक में शेष पात्र व्यक्तियों के आयुष्मान कार्ड बनाने की दिशा में हुई प्रगति की समीक्षा भी की। उन्होंने कहा कि आयुष्मान कार्ड बनाने के कार्य की एसडीएम लगातार मानीटरिंग करें। श्री सुमन ने रिंग रोड के भू-अर्जन की दिशा में हुई प्रगति का ब्यौरा भी बैठक में लिया तथा सभी संबंधित एसडीएम को तय समय के अनुसार भू-अर्जन की कार्यवाही करने के निर्देश दिये। उन्होंने संबल योजना के तहत श्रमिकों से प्राप्त पंजीयन के आवेदनों का सत्यापन के कार्य में गति लाने के निर्देश देते हुए ज्यादा से ज्यादा श्रमिकों का पंजीयन कराने की हिदायत बैठक में दी। बैठक में राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण के प्रोजेक्ट डायरेक्टर सुमेश बाझल भी मौजूद थे।

शेयर करें: