स्लीमनाबाद की जीवनदायिनी कटनी नदी के जीवन को संवारने युध्दस्तर पर सभी का सहयोग जरूरी

कटनी/स्लीमनाबाद(सुग्रीव यादव); स्लीमनाबाद तहसील क्षेत्र की जीवनदायिनी कटनी नदी मैं नर्मदा जल मिले इसके लिए क्षेत्रवासियों के द्वारा चरणबद्ध तरीक़े से आंदोलन चलाया जा रहा है।जिसमे मंगलवार को ग्राम टिकरिया मैं व्यापक स्तर पर हस्ताक्षर अभियान चलाया गया।जिसमे राजनीति को दरकिनार करते हुए जनप्रतिनिधियों व ग्रामीणों ने सहभागिता दिखाई।अभियान से पहले ग्राम चौपाल आयोजित हुई।जिसमें चौपाल को संबोधित करते हुए जिला पंचायत सदस्य पंडित प्रदीप त्रिपाठी ने कहा कि बरगी व्युत्पर्जन परियोजना के तहत वर्तमान मे स्लीमनाबाद मैं अंडर ग्राउंड टनल कार्य चल रहा है।योजना मुताबिक जबलपुर से रीवा तक नर्मदा जल पहुँचाया जाएगा।
जिसके लिए स्लीमनाबाद मैं 12 किलोमीटर अंडर ग्राउंड टनल कार्य को छोड़ दिया जाए तो बाकी नहर का कार्य पूर्ण हो चुका है।इंतजार है तो बस स्लीमनाबाद टनल कार्य पूर्ण होने का।
नर्मदा जल से जबलपुर, कटनी,सतना व रीवा जिले की हजारों हैक्टेयर कृषि भूमि सिंचित होगी।
लेकिन कटनी जिले का स्लीमनाबाद तहसील मुख्यालय जहां 12 किलोमीटर के दायरे मैं अंडर ग्राउंड टनल कार्य जारी है उस क्षेत्र मे नर्मदा जल नही मिल पायेगा।
जो कि स्लीमनाबाद क्षेत्र के साथ यह उपेक्षा की जा रही है।
इसलिए जीवनदायिनी को नर्मदा जल मिले इसके लिए सभी को एकजुटता के साथ आगे आकर अभियान मैं सहभागिता दिखानी है।
अभियान के तहत घर घर जाकर अभियान चलाया गया ।जिसमें ग्रामीणों ने हस्ताक्षर अभियान मैं बढचढकर भागीदारी की व नर्मदा जल कटनी नदी मैं गिरे सहभागिता की।
।क्षेत्रवासियों का कहना था कि स्लीमनाबाद क्षेत्र की जीवनदायिनी कटनी नदी मैं नर्मदा जल पहुँचाया जाए।जिससे क्षेत्र मे ग्रीष्मकालीन व अल्पवर्षा के समय पेयजल संकट की स्थिति उतपन्न न हो।
कटनी नदी मैं नर्मदा जल मिलने से हजारों हैक्टेयर कृषि भूमि सिंचित होगी जिससे किसानों को भी आर्थिक लाभ होगा।
साथ ही ग्रीष्मकालीन समय मैं जब नदी सूख जाती है तब पशु-पक्षियो सहित जानवरो को प्यास बुझाने राहत मिलेगी।
नर्मदा जल के कटनी नदी मैं गिरने से स्लीमनाबाद, बंधी स्टेशन,मटवारा,भेड़ा, बिचुआ,भगनवारा ,टिकरिया व खिरहनी गांव को लाभ मिलेगा।
इस दौरान आदित्य दुबे अनुराग मिश्रा,  राकेश साहू, रणजीत यादव, धीरज यादव, गेंदलाल आदिवासी, शेखर यादव, कोमल तिवारी, सुरेश कुमार, राजकुमार हल्दकार, लक्ष्मी यादव, मुन्ना यादव, बाबूराम, साजन यादव, अनारी यादव, गोपाल राजपाल, बनवारी लाल, सुखदेव प्रसाद, रामरतन, रोहणी प्रसाद, ब्रजकिशोर सहित बड़ी संख्या मे ग्रामवासियों की उपस्थिति रही।

शेयर करें: