शाला भवन की नींव तक नही हो सकी तैयार,निर्माण कार्य के पहले राशि निकाल कर दिए गोलमाल



कटनी/स्लीमनाबाद(सुग्रीव यादव): सरकारी स्कूलों मैं शिक्षा व्यवस्था को सुदृढ बनाने का सरकार के द्वारा ढिढोरा पीठा जा रहा है।लेकिन धरातल मैं शिक्षा व्यवस्था की हकीकत कुछ ओर बया कर रही है।जिससे विद्यार्थियों के भविष्य के साथ खिलवाड़ हो रहा है।विद्यार्थियों को शिक्षा ग्रहण करने शिक्षा का मंदिर मिले इसके लिए सरकार द्वारा भारी भरकम राशि खर्च की जा रही है।लेकिन राशि मिलने के बाबजूद भी स्कूल भवनों का निर्माण कार्य नही कराया जा रहा है।ऐसा ही मामला बहोरीबंद जनपद की ग्राम पंचायत सोमाकला का सामने आया है।जहां स्कूल भवन जर्जर हो जाने की स्थिति मे गत वर्ष 2021 मैं शासन स्तर से अतिरिक्त कक्ष निर्माण के लिए 4 लाख 41 हजार रुपये की राशि स्वीकृति की।जिसमे से स्वीकृति राशि मे से प्रथम किश्त 2 लाख 20 हजार रुपये ग्राम पंचायत के खाते मैं भेज दिए गए।लेकिन पूर्व सरपंच व तत्कालीन सचिव रामरतन झारिया ने पहली किश्त की राशि निकाल स्कूल भवन का निर्माण कार्य कराना भूल गए ओर गोलमाल कर दी गई।
जिसका दंश विद्यार्थियों को भुगतना पड़ रहा है।यहां तक कि विद्यार्थियों को पेड़ के नीचे बैठाकर अध्ययन करना पड़ा है।अब जब नई ग्राम सरकार का गठन हुआ है तो सरपंच ने पीडीएस भवन मैं 1 से लेकर 8 वी तक कक्षाये संचालित करवाई जा रही है।जिससे पीडीएस भवन से खाद्यान्न वितरण भी नही हो पा रहा है।

राशि वसूलने विभागीय अधिकारी नही दे रहे ध्यान-
नई ग्राम सरकार गठन होने के बाद सरपंच सुखचैन चक्रवर्ती ने स्कूल भवन की राशि बिना निर्माण कार्य कराए आहरण कर लेने पर बीआरसी व डीपीसी को शिकायत पत्र सौप तत्कालीन सचिव से राशि वसूलने व कार्रवाई की मांग की है।ताकि स्वीकृति राशि पंचायत खाते मैं आ जाये तो स्कूल भवन का निर्माण कार्य हो जाये।जिससे विद्यार्थियों को अध्यापन कार्य हेतु स्वयं का भवन मिल जाये।
इस संबंध मे उपयंत्री एस के सोनी का कहना है सोमाकला मैं अतिरिक्त कक्ष निर्माण के लिए राशि शासन स्तर से पंचायत खाते मैं भेजी गई थी।
बिना निर्माण कार्य कराए राशि आहरण की गई है तो गलत है।
इस संबंध मे जानकारी प्राप्त हुई है।

इनका कहना है- प्रशांत मिश्रा विकासखण्ड स्त्रोत समन्वयक

बहोरीबन्द की ग्राम पंचायत सोमाकला मैं अतिरिक कक्ष निर्माण के लिए शासन स्तर से राशि दी गई थी।बिना निर्माण कार्य कराए राशि आहरण करना गलत है।इस संबंध मे शिकायत पत्र प्राप्त हुआ।मामले की अग्रिम कारवाई के लिए जिला स्त्रोत समन्वयक को पत्र भेजा गया है।

शेयर करें: