देश की पहली आदिवासी महिला राष्ट्रपति होंगी द्रौपदी मुर्मू

दिल्ली. राष्ट्रपति चुनाव में एनडीए के राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू ने तीसरे दौर की मतगणना के बाद ही कुल वैध वोटों के 50 प्रतिशत का आंकड़ा पार कर लिया और उन्होंने अपने प्रतिद्वंद्वी यशवंत सिन्हा को हरा दिया है. इसके साथ ही उनका देश का राष्ट्रपति बनना तय हो गया. हालांकि अभी उनकी जीत की औपचारिक घोषणा होना बाकी है. यानी अब सिर्फ यह तय होना बाकी है कि वह कितने वोटों से जीती हैं.द्रौपदी मुर्मु देश की 15वीं राष्ट्रपति होंगी. नवनिर्वाचित राष्ट्रपति का शपथ ग्रहण समारोह 25 जुलाई को होगा. इसके साथ ही वह देश की पहली आदिवासी महिला राष्ट्रपति होंगी. एनडीए की राष्ट्रपति उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू की जीत की जानकारी देते हुए राज्यसभा के महासचिव पीसी मोदी ने कहा कि अभी कुल 3219 वैध वोटों की गिनती हुई, जिसका कुल वैल्यू 8,38,839 है. इनमें से द्रौपदी मुर्मू को 5,77,777 के मूल्य के 2161 वोट मिले हैं. वहीं यशवंत सिन्हा को 2,61,062 के मूल्य के 1058 वोट मिले.उन्होंने कहा कि अभी तक केरल, एमपी, महाराष्ट्र, मणिपुर, मेघालय, मिजोरम, नागालैंड, ओडिशा और पंजाब के मतों की गिनती हुई है. इस दौर में कुल वैध मत 1,333 हैं. वैध मतों का कुल मूल्य 1,65,664 है. इसमें से द्रौपदी मुर्मू को 812 वोट मिले, जबकि यशवंत सिन्हा को 521 वोट मिले.द्रौपदी मुर्मू को क्रॉस वोटिंग के ज़रिए अभी तक 104 विधायकों और 17 सांसदों के वोट मिले हैं. मुर्मू को समर्थन देने वाले दलों के सांसदों की संख्या 523 थी, लेकिन वोट मिले 540, यानी 17 सांसदों ने उनके पक्ष में क्रॉस वोटिंग की. इसी तरह अभी तक 16 राज्यों में 104 विधायकों ने क्रॉस वोट कर द्रौपदी मुर्मू को वोट किया है.

शेयर करें: