पीएचई पर निर्भर न रहें, छोटी-छोटी व्यवस्थाएं कराएं पंचायत स्तर पर



कटनी/स्लीमनाबाद(सुग्रीव यादव): ग्राम पंचायत की पेयजल व्यवस्था को दुरूस्त करने के लिए पीएचई पर निर्भर न रहें। पंचायत के मद से और जलकर की राशि के माध्यम से छोटे-छोटे कार्य स्वयं कराएं, ताकि गांव की पेयजल व्यवस्था बेहतर हो सके। आवश्यकतानुसार गांववालों के साथ मिलकर जलकर में भी वृद्धि करें और उसकी राशि का भी व्यवस्था बनाने में समुचित उपयोग करें। यह निर्देश कलेक्टर प्रियंक मिश्रा ने मुख्यमंत्री जन सेवा अभियान अंतर्गत विजयराघवगढ़ विकासखंड के हरदुआकलां में आयोजित शिविर के दौरान दिए।

बरसते पानी में कलेक्टर श्री मिश्रा हरदुआकलां शिविर में पहुंचे और अभियान के तहत किए गए सर्वे के दौरान विभिन्न योजनाओं के हितग्राहियों के संबंध में जानकारी ली। ग्राम पंचायत सचिव ने सर्वे के दौरान शौचालय निर्माण, वृद्धावस्था पेंशन, राष्ट्रीय परिवार सहायता, दिव्यांग छात्रवृति, आयुष्मान कार्ड, लाड़ली लक्ष्मी योजना, संनिर्माणकार योजना आदि के संबंध में पात्र हितग्राहियों की सूची का वाचन किया। कलेक्टर श्री मिश्रा ने ग्रामीणों को आयुष्मान कार्ड की उपयोगिता की जानकारी दी और शासन की विभिन्न योजनाओं का लाभ शिविर के माध्यम से उठाने के लिए प्रेरित किया। कलेक्टर ने ग्रामीणों से गांव सफाई व्यवस्था, आंगनबाड़ी केन्द्र, आरोग्य केन्द्र आदि के खुलने व योजनाओं की जानकारी के संबंध में संवाद कर जानकारी ली। साथ ही कहा कि गांव में स्वच्छता रहे, इसकी जिम्मेदारी सिर्फ ग्राम पंचायत की नहीं है, सभी मिलकर गांव को स्वच्छ व सुंदर बनाने का कार्य करें। उन्होंने शिविर के दौरान किए जा रहे हेल्थ चेकअप शिविर का भी अवलोकन कर जांच व दवा वितरण के संबंध में जानकारी ली और आवश्यक निर्देश दिए।

लाड़ली उत्सव में हुए शामिल, प्रमाण पत्र किए प्रदान

कलेक्टर श्री मिश्रा हरदुआकलां के आंगनबाड़ी केन्द्र में अभियान के तहत आयोजित लाड़ली उत्सव कार्यक्रम में भी शामिल हुए। उन्होंने आंगनबाड़ी केन्द्र में लाड़लियों को प्रमाण पत्र व उपहार भेंट किए। साथ ही कार्यकर्ता और उपस्थित महिलाओं से केन्द्र के माध्यम से दिए जाने वाले विभिन्न योजनाओं के लाभ के संबंध में भी चर्चा की।

प्राथमिक स्कूल का किया निरीक्षण

कलेक्टर श्री मिश्रा ने शिविर स्थल के नजदीक ही संचालित प्राथमिक स्कूल आदिवासी टोला का निरीक्षण किया। स्कूल में बच्चों के संबंध में जानकारी ली। कुछ छात्रों के पास यूनीफार्म नहीं थीं, जिसके संबंध में भी शिक्षक से जानकारी ली और आवश्यक निर्देश दिए। परिसर में लगे ट्रांसफार्मर से दुर्घटना की आशंका को लेकर ग्रामीणों ने कलेक्टर का ध्यानाकर्षण कराया, जिसपर उन्होंने एसडीएम को ट्रांसफार्मर को शिफ्ट कराने प्रस्ताव तैयार कराने के निर्देश दिए। इस दौरान एसडीएम महेश मंडलोई, तहसीलदार विजय द्विवेदी, सीईओ जनपद पंचायत राकेश शुक्ला सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

शेयर करें: