9 दिनों तक आदिशक्ति की आराधना मैं लीन रहेंगे भक्त, सजने लगे मातारानी के दरबार



कटनी/स्लीमनाबाद(सुग्रीव यादव): आदिशक्ति, जगतजननी की आराधना का पर्व शारदेय नवरात्र स्लीमनाबाद तहसील क्षेत्र मे उत्साह पूर्वक मनाया जाएगा।नवरात्र उत्सव को खास मनाने को लेकर तैयारियां जारी है। इस बार नवरात्रि महोत्सव पूरे नौ दिन तक मनाया जाएगा, क्योंकि सालों बाद इस बार नवरात्रि में पूरे 9 दिन आ रहे हैं, किसी भी दिन किसी भी तिथि का क्षय नहीं हो रहा है। ऐसे में माता की आराधना श्रद्धालु पूरे 9 दिन कर पाएंगे। दो साल के कोरोनाकाल के बाद मिली छूट के चलते त्योहारों को लेकर लोगों में उत्साह है। गणेशोत्सव के बाद लोग नवरात्र की तैयारी में जुट गए हैं। इसके चलते प्रतिमा निर्माण से लेकर उसे नया लूक देने की तैयारी कर रहे हैं।साथ ही मूर्तिकार भी दुर्गा प्रतिमाओं को बनाने मे जुटे हुए है।स्लीमनाबाद स्थित सिंहवाहिनी मंदिर मे नवरात्र उत्सव पर देवी पुराण नवाहयज्ञ भी आयोजित होगा।जिसको लेकर तैयारियां जारी है।वही खड़रा स्थित शारदा मंदिर भी विशेष तैयारियां जारी है।बहोरीबंद के प्रसिद्ध तिंगवा मंदिर व पहरुआ स्थित टिंशन माता मंदिर मे भी नवरात्र उत्सव को तैयारियां की जा रही है।सभी देवी मंदिरों मैं ज्वारे बोए जाएंगे साथ ही मन्नत कलश भी स्थापित किये जाते है।

वर्षों बाद गज पर सवार होकर आएंगी माता-

पंडित दिलीप त्रिपाठी ने बताया कि वर्षो बाद माता दुर्गा गज पर सवार होकर आएगी। इस बार हस्त नक्षत्र व शुक्ल योग केे चलते यह पर्व खुशहाली लाएगा। पंचांग के अनुसार इस बार न तो तिथि में घट बढ़ हुई है। न ही कोई तिथि डबल आई है।शारदीय नवरात्र की शुरुआत 26 सितंबर से होगी। प्रतिपदा तिथि रविवार को रात्रि 3.24 बजे से शुरू हो जाएगी। जो सोमवार की रात 3.08 बजे खत्म होगी। ऐसे में इस शारदीय नवरात्र में कलश स्थापना का शुभ मुहूर्त सोमवार को सूर्योदय के बाद द्विश्वभाव कन्या लग्न में और अमृत की चौघड़िया में सुबह 6.08 बजे से लेकर 7.38 बजे तक, शुभ के चौघड़िया में सुबह 9.08 बजे से 10.38 तक रहेगा। अभिजीत मुहूर्त 11.44 बजे से 12.32 बजे तक सर्वश्रेष्ठ रहेगा।

शेयर करें: