नकली देशी घी के कारखाने पर क्राइम ब्रांच और पुलिस की कार्यवाही 

 

जबलपुर:क्राइम ब्रांच और पुलिस ने सँयुक्त रूप से नकली देशी घी बनाने के कारखाने पर कार्यवाही की है,इस कारखाने के अंदर तैयार किये जा रहे नकली देशी घी की सूचना पर पहुँची थी क्राइम ब्रांच और पुलिस की टीम ने  वनस्पति घी एवं रिफाईंड आईल तथा फ्लेवरिंग एसेन्स का मिश्रण कर भारी मात्रा में तैयार किया हुआ कृत्रिम घी तथा वनस्पति घी कीमती लगभग डेढ़ लाख रूपये का पकड़ा जाकर कारखाने को सील कर दिया गया है,वैसे तो जबलपुर एसपी के आदेश पर इस तरह की कार्यवाही लगातार जारी है ,

किराए के मकान में तैयार किया जा रहा था नकली देशी घी 

वहीं पुलिस से प्राप्त जानकारी के मुताबिक  दिनाॅक 27-2-21 को क्राइम ब्रान्च को विश्वसनीय सूचना मिली कि राजेश केशरवानी थाना गढा अंतर्गत भारत कालोनी मे किराये का मकान लेकर उक्त मकान में वनस्पति घी एवं रिफाईंड तेल मे एसेंस मिलाकर अवैध लाभ अर्जित करने के लिए कृतिम देसी घी तैयार कर जबलपुर सहित आसपास के जिलों में बेच रहा है।सूचना से वरिष्ठ अधिकारियों को अवगत कराते हुये वरिष्ठ अधिकारियों के मार्ग दर्शन में क्राइंम ब्रान्च एवं थाना गढा पुलिस के द्वारा योजनाबद्ध तरीके से दबिश दी गयी, कमरे के अंदर 2 व्यक्ति राहुल गुप्ता उम्र 28 वर्ष निवासी इंद्रा नगर संतोषी माता मंदिर गोरखपुर एवं संतोष केशरवानी उम्र 42 वर्ष निवासी मथुरा विहार प्लाट न. 48 विजय नगर मिले, सूचना से अवगत कराते हुये कमरे की तलाशी ली गयी तो कमरे के अंदर एल्यूमीनियम के डिब्बों में तैयार किया हुआ कृत्रिम देशी घी जिससे देशी घी जैसी खुशबू आ रही थी तथा 15 लीटर वाले 33 टीन मे वनस्पति घी एवं 15 लीटर वाले 22 टीन में तैयार किया हुआ कृत्रिम देशी घी भरा हुआ मिला, कमरे में 100, 250, 500 एम.एल. तथा 1 लीटर के प्लस्टिक के सैकड़ों डिब्बे तथा गैस चूल्हा, 2 सिलेण्डर, इलेक्ट्रानिक तौल मशीन, टीन के ढक्कन को पैक करने की मशीन तथा पावक दीप द्रव्य नाम के लेबिल कीमती लगभग 1 लाख 50 हजारों रुपए का मिला , पूछताछ पर संतोष केशरवानी एवं राहुल गुप्ता ने राजेश केशरवानी निवासी कैलाशपुरी गुप्तेश्वर के साथ मिलकर पार्टनरशिप में वनस्पति घी में सस्ता रिफाईंड आईल एवं घी का एसेंस मिलाकर कृत्रिम घी तेयार करते हुये 220 रूपये किलो के भाव से थोक में तथा 280 रूपये फुटकर के भाव से जिला जबलपुर के अलावा कटनी, सिवनी, मण्डला, उमरिया, शहडोल , रीवा, सतना में सप्लाई करना स्वीकार किये। पूछताछ पर किसी भी प्रकार का कोई रजिस्ट्रेशन होना नहीं पाया गया। सूचना पर पहुंची खाद्य अधिकारी श्रीमति मधुरी मिश्रा के द्वारा सैम्पल लिये जाकर कारखाने को सील किया गया है। खाद्य अधिकारी के प्रतिवेदन पर थाना गढा में अग्रिम वैधानिक कार्यवाही की जावेगी ।
*उल्लेखनीय भूमिका* – थाना प्रभारी गढा  राकेश तिवारी के नेतृत्व थाना गढा के उप निरीक्षक विनय बुंदेला, क्राईम ब्रांच के प्रधान आरक्षक प्रमोद पाण्डे, अजय पाण्डे, आरक्षक रामगोपाल, राममिलन, ब्रम्हप्रकाश, महेन्द्र पटेल की सराहनीय भूमिका रही।

शेयर करें: