क्राईम ब्राँच के 4 नकली ऑफिसर गिरफ्तार, युवक का अपहरण कर मांगी थी 50 हजार की फिरौती  

 

जबलपुर ,क्राईम ब्राँच के नकली ऑफिसर बनकर युवक का अपहरण कर 50 हजार की फिरौती माँगने वाले 4 आरोपियों को पुलिस ने  गिरफ्तार कर उनके कब्जे से  एक देसी पिस्टल, दो कारतूस, तीन बटनदार चाइना चाकू जप्त करते हुए कार्यवाही की है,

गिरफ्तार आरोपी,

 

1- राहुल साहू उर्फ काला पिता श्रीराम साहू उम्र 23 वर्ष निवासी रामपुर बृजमोहन नगर गोरखपुर
(शातिर अपराध प्रवृत्ति का है थाना कोतवाली से जिला बदर किया गया है)
2- आकाश ठाकुर पिता कन्हैया ठाकुर उम्र 27 वर्ष निवासी कांचघर झामनदास चैक बल्दी कोरी की दफाई घमापुर
3- दीपक अहिरवार पिता बेनी प्रसाद अहिरवार उम्र 25 वर्ष निवासी झण्डा चैक भानतलैया
4- कृष्णा केवट पिता राजकुमार केवट उम्र 20 वर्ष निवासी ललपुर नई बस्ती

ये है पूरा मामला,

पुलिस से प्राप्त जानकारी के मुताबिक थाना ग्वारीघाट में दिनंाक 17-12-2020 की रात्रि लगभग 1 बजे रितिक कुरील उम्र 20 वर्ष निवासी ललपुर नई बस्ती ने रिपोर्ट दर्ज करायी थी कि दिंनाक 16-12-2020 की शाम लगभग 7 बजे वह मुंहबोली बहन के घर के सामने खड़ा था तभी एक काले रंग की पल्सर मोटर सायकिल पर 2 व्यक्ति आये और उसे पकड़ लिये जिनकी मोटर सायकिल के समाने अंग्रेजी में पुलिस लिखा था, दोनों बोले तू शराब बेचता है एैसा कहते हुये जहां वह खड़ा था वहां सभी जगह की तलाशी लिये और बोले हम लोग क्राईम ब्रांच से हैं और कमर में पहना हुआ बेल्ट पकड़कर उसे जबरदस्ती मोटर सायकिल में बीच में बैठा लिये और उसे ललपुर नर्मदा नदी के घाट पर ले गये जहाॅ पर उसके साथ मारपीट किये और पूछ रहे थे कि सही सही बता दिन भर में कितनी शराब बेच लेता है तब उनमें से एक व्यक्ति ने अपने साथी से कहा कि तेरे पास चाकू है इसके हाथ में चाकू पकड़ा के मोबाइल से फोटो ले ले, इसको 25 आम्र्स एक्ट मे बंद करा देगें फिर मोटर सायकिल में उसे बैठाकर सुखसागर वैली के सामने विंध्यवासिनी माता के मंदिर में लेकर आये वहां से दोनों व्यक्ति में से एक व्यक्ति के मोबाइल से अज्जू अहिरवार के मोबाइल नम्बर पर उससे फोन लगवाये तब अज्जू ने मुंहबोली बहन को बताया तो उन्होंने पलटकर उनके फोन पर फोन लगाया, जैसे ही वह बात करने को हुआ तो मोबाइल छुड़ा लिये और मुंहबोली बहन से बात किये बोले 50 हजार रूपये लेकर आ जाओ तो इसकेा छोड़ देगें। फिर उसे सूपाताल ले गये एवं वहां बैठाकर रखे एक थप्पड़ वहां पर भी मारा, फिर वहीं पर राहुल साहू उर्फ काला आ गया जो देखकर बोला अरे तू कैसे यहां बैठा है तो उन दोनोें व्यक्तियो ने राहुल काला से कहा, अरे ये दारू बेचता है तब राहुल साहू उर्फ काला बोला ठीक है पैसा बुलवा लो मैं साहब लोगों से बात करता हूॅ और कम से कम पैसों मेें छुड़वा दूंगा, राहुल ने फोन से घर पर बात करायी तो घर से उत्तर मिला कि इतना पैसा नहीं है तो राहुल काला उर्फ साहू उन लोगों से बोला ठीक है इसे ले जाओ, मैं जा रहा हूॅ फिर दोनों व्यक्ति उसे मोटर सायकिल पर बिठाकर मेडिकल कालेज के सामने पेट्रोल पम्प पर ले गये और उससे 200 रूपये लेकर मोटर सायकिल में पेट्रोल डलवाये फिर उसे मोटर सायकिल से दोनों व्यक्ति तिलवाराघाट ले गये जहां पर नर्मदा परिक्रमा करने वाले आग ताप रहे थे वहीं पर उसे बिठा दिया और दोनों थौड़ी दूर बैठ गये, कुछ देर बाद फिर उसे लेकर मेडिकल तरफ आये और बोले कुछ पैसा और दे तुझे इतनी देर से लेकर घुमा रहे हैं तो उसने डर के कारण जेब से 400 रूपये निकालकर दे दिये, तो दोनो बोले कि तुझे मेडिकल के पास छोड़ देते हैं तू घर चले जाना किसी को बताना नहीं, पुलिस में रिपोर्ट नहीं करना और ललपुर में कौन कोन शराब बेचता है इसकी खबर देते रहना एैसा कहते हुये उसे मेडिकल बस स्टाॅप के सामने एक आटो रोककर आटो में बिठा दिये आटो वाले से पूंछा कहां जा रहा है तो आटो वाला बोला बस स्टेण्ड जा रहा है और वह दोनों व्यक्ति उसे छोड़कर वहां से चले गये तब वह आटो से छोटी लाईन फाटक आया और उसी आटो वाले के मोबाइल से अजय अहिरवार केा फोन लगाया और बताया कि उन लोगों ने उसे छोड़ दिया है वह छोटी लाईन पर खड़ा है किसी को भिजवा देा, तब उसका छोटा भाई रोहित कुरील एवं दोस्त सौरभ ठाकुर मोटर सायकिल से छोटी लाईन फाटक पहुच कर उसे घर ले गये। एक सप्ताह पहले उसका झगड़ा मौहल्ले के कृष्णा केवट से हुआ था जिसकी रिपोर्ट मां ने थाना ग्वारीघाट एवं हरिजन कल्याण थाने में की थी उसे शक है कि उसका अपहरण कृष्णा केवट ने कराया होगा। रिपोर्ट पर राहुल साहू उर्फ काला एवं अन्य 2 व्यक्तियों के विरूद्ध धारा 364 ए, 323, 419, 384, 190 भादवि एवं 3(2)5 एससीएसटी एक्ट का अपराध पंजीबद्ध कर प्रकरण विवेचना में लिया गया।

ऐसे पकड़ में आये आरोपी,

वहीँ पुलिस अधीक्षक जबलपुर  सिद्धार्थ बहुगुणा (भा.पु.से.)* द्वारा घटित हुई घटना को गम्भीरता से लेते हुये आरोपियों की शीघ्र गिरफ्तारी हेतु आदेशित किये जाने पर अति. पुलिस अधीक्षक शहर दक्षिण/अपराध  गोपाल खाण्डेल एवं नगर पुलिस अधीक्षक कैंट भावना मरावी द्वारा थाना प्रभारी ग्वारीघाट  विजय परस्ते के नेतृत्व में थाने एवं क्राईम ब्रांच की टीम गठित कर लगायी गयी।
दिनाॅक 17-1-21 को विश्वसनय मुखबिर से क्राईम ब्रांच को सूचना मिली कि पी.एच.ई. ललपुर मे 3 लडके हथियारों से लैस खडे है, क्राईम ब्रांच की टीम द्वारा वरिष्ठ अधिकारियों को अवगत कराते हुये प्राप्त निर्देशों के तहत ग्वारीघाट पुलिस बल के साथ संयुक्त रूप से घेराबंदी कर मुखबिर के बताये स्थान पर दबिश दी गयी, पुलिस को देखकर तीनों युवक भागने लगे जिन्हें घेराबंदी कर पकडा गया पूछताछ पर तीनों ने अपने नाम राहुल साहू उर्फ काला एवं आकाश उर्फ आशीष ठाकुर तथा दीपक अहिरवार बताये जिनकी तलाशी ली गयी तो राहुल साहू उर्फ काला कमर में 1 देशी पिस्टल जिसमे 2 जिंदा कारतूस लोड थे, 1 मोबाईल, एवं दीपक अहिरवार एक बटनदार चायना चाकू 1 मोबाईल तथा आकाश ठाकुर 1 बटनदार चायना चाकू, 1 मोबाईल रखे हुये मिला जिन्हें अभिरक्षा में लेकर थाना ग्वारीघाट लाया गया ।
सघन पूछताछ पर राहुल काला ने बताया कि कृष्णा केवट उसका दोस्त है, कृष्णा केवट का ललपुर निवासी रितिक कुरील से विवाद चल रहा है कृष्णा केवट के द्वारा रितिक कुरील को धमकाने हेतु कहने पर अपने दोस्त आकाश ठाकुर एवं दीपक अहिरवार के साथ योजना बनाकर अपने आपको क्र्राईम ब्रांच का होना बताते हुये, रितिक कुरील को अपहृत कर, रितिक कुरील के घर वालों को फोन लगाकर पहले 50 हजार रूपये फिर 20 हजार रूपये की मांग करना स्वीकार किये, प्रकरण मे धारा 120 बी भादवि एवं 25, 27 आर्म्स एक्ट का इजाफा करते हुये कृष्णा केवट निवासी ललपुर नई बस्ती को सरगर्मी से तलाश कर अभिरक्षा मे लेते हुये घटना में प्रयुक्त मोटर सायकिल के सम्बंध में पूछताछ की गयी तो दीपक अहिरवार ने उक्त मोटर सायकिल अपने परिचित के पास गिरवी रखना स्वीकार किया है जिसकी बरामदगी हेतु दीपक अहिरवार का पुलिस रिमाण्ड लिया जा रहा है।उल्लेखनीय है कि पकड़ा गया आरोपी राहुल साहू उर्फ काला शातिर अपराध प्रवृत्ति का है थाना कोतवाली से प्रस्तुत किये गये प्रकरण में राहुल काला का जिला जबलपुर की राजस्व सीमाओं एंव जबलपुर से लगे सरहदी जिलों की राजस्व सीमा से 1 वर्ष के लिये जिला बदर किया गया था, आदेश की तामीली 19-8-2020 को करा दी गयी थी। राहुल काला द्वारा जिला बदर के आदेश का उल्लंघन करना पाया जाने पर राहुल काला के विरूद्ध थाना ग्वारीघाट में धारा 188 भादवि एवं 14 म.प्र. रा.सु. अधिनियम के तहत कार्यवाही की गयी है।

*उल्लेखनीय भूमिका* – इस संपूर्ण कार्यवाही मे थाना प्रभारी ग्वारीघाट  विजय सिंह परस्ते के नेतृत्व में क्राईम ब्रांच के सहायक उप निरीक्षक आर.पी.बर्मन, आरक्षक राधेष्याम दुबे, ओमनारायण, अमीर चंद, मुकुल गौतम, रोहित द्विवेदी, आनंद तिवारी, अमित श्रीवास्तव, एवं थाना ग्वारीघाट के उप निरीक्षक अनिल गौर, आरक्षक तरुण मिश्रा, हाकम सिंह, अजय सिंह, सुरेन्द्र सेन, राजेन्द्र धुर्वे की सराहनीय भूमिका रही।

शेयर करें: