”मुझे क्या लेना-देना” का भाव छोड़कर कलेक्टर्स सोशल मीडिया पर सक्रिय हों,मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान 

जबलपुर, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज मंत्रालय से कलेक्टर-कमिश्नर्स को वीडियो-कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से संबोधित किया। उन्होंने कहा कि सोशल मीडिया, गुड गवर्नेंस का प्रभावी साधन है। कलेक्टर्स ”मुझे क्या लेना-देना” का भाव छोड़कर सोशल मीडिया पर सक्रिय हों।मुख्यमंत्री  चौहान ने कहा कि जनता अपनी समस्यायें सोशल मीडिया पर सरलता से रख सकती है, इस आधार पर समस्याओं का समाधान होना जनता के लिये बड़ी राहत है। कॉन्फ्रेंस में आयुक्त जनसंपर्क डॉ. सुदाम खाड़े ने प्रदेश के संभागों एवं जिलों की फेसबुक और ट्वीटर सक्रियता का विस्तार से प्रस्तुतीकरण दिया।
मुख्यमंत्री द्वारा सोशल मीडिया की समीक्षा में जबलपुर संभाग प्रदेश के टॉप फाइव संभागों में शामिल रहा। वहीं जबलपुर जिला प्रदेश के ”ए” श्रेणी के जिलों मे फेसबुक फॉलोअर्स की संख्या के मामले में प्रदेश में प्रथम स्थान पर है।जबलपुर संभाग सोशल मीडिया की उपलब्धियों के मामले में प्रदेश भर में अग्रणी रहा। वहीं जबलपुर जिले के कलेक्टर के फेसबुक एकाउण्ट को प्रदेश स्तरीय समीक्षा में प्रथम स्थान हासिल हुआ। 97 हजार 130 फॉलोअर्स के साथ जबलपुर कलेक्टर का फेसबुक एकाउण्ट प्रदेश में प्रथम, मुरैना द्वितीय, ग्वालियर तृतीय, भोपाल चौथे और इंदौर कलेक्टर का फेसबुक एकाउण्ट पॉंचवें स्थान पर रहा।वहीं कलेक्टर जबलपुर का ट्वीटर एकाउण्ट फॉलोअर्स के मामले में प्रदेश में तीसरे स्थान पर रहा। पहले और दूसरे स्थान पर क्रमश: इंदौर और भोपाल कलेक्टर के ट्वीटर एकाउण्ट रहे।जबलपुर कमिश्नर का फेसबुक एकाउण्ट फॉलोअर्स की संख्या के मामले में प्रदेश में दूसरे स्थान पर रहा। वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में कमिश्नर कार्यालय से आई.जी. उमेश जोगा, अतिरिक्त आयुक्त तरूण भटनागर तथा कलेक्ट्रेट कार्यालय के एन.आई.सी. कक्ष से कलेक्टर कर्मवीर शर्मा, पुलिस अधीक्षक सिद्धार्थ बहुगुणा, नगर निगम आयुक्त संदीप जी.आर., सी.ई.ओ. जिला पंचायत रिजू बाफना, अपर कलेक्टर त्रय राजेश बाथम, शेर सिंह मीणा एवं विमलेश सिंह वर्चुअली जुड़े थे।

शेयर करें: