मलेरिया, डेंगू एवं चिकनगुनिया से प्रभावित क्षेत्रों में बीमारी की रोकथाम एवं बचाव के लिए करें प्रभावी कार्यवाही, कलेक्टर

जबलपुर, कलेक्टर कर्मवीर शर्मा ने जिले के राजस्व विभाग के सभी अनुविभागीय अधिकारियों को निर्देशित किया है कि वे संबंधित विकासखंड चिकित्सा अधिकारी और स्वास्थ्य अमले के साथ समन्वय स्थापित कर मलेरिया, डेंगू एवं चिकनगुनिया से संभावित रूप से प्रभावित क्षेत्र में बीमारी की रोकथाम व बचाव हेतु प्रभावी कार्यवाही करें। साथ ही लोगों में इन सभी बीमारियों के प्रति जनजागरूकता फैलायें और इनका व्यापक प्रचार-प्रसार भी सुनिश्चित करें।इस संबंध में जिला मलेरिया अधिकारी द्वारा उपलब्ध कराई गई मलेरिया, डेंगू और चिकनगुनिया से प्रभावित क्षेत्रों वाले 49 गांव और मोहल्ले चिन्हित किये गये हैं। जिसमें बरेला के अंतर्गत आने वाले बरगी व बरेला, चरगंवा क्षेत्र के तहत ग्राम मिरगा, कुण्डम का कोसम डोंगरी एवं कुण्डम, पाटन का कटंगी और मझगंवा क्षेत्र का सिहोरा एवं खजरी कछपुरा शामिल है। इसके अलावा पनागर का पनागर शिवाजी वार्ड, केवलारी, परियट, नुनियाकला तथा कुसनेर और शहपुरा का शहपुरा, भिटौनी, बेलखेड़ा और मझौली का देवरीपीपल, टप्पा, पवार, पोंडा गांव मलेरिया, डेंगू व चिकनगुनिया प्रभावित गांव में शामिल है।जबकि नगर निगम क्षेत्र जबलपुर का गढ़ा, धनवंतरी नगर, शास्त्री नगर, गोहलपुर, अधारताल, हनुमानताल, सुहागी, कंचनपुर, रद्दी चौकी, केन्ट, रामपुर, मदनमहल, आमनपुर, गुलौआ चौक, गढ़ा पुरवा, संजीवनी नगर, गढ़ा बाजार, शीतला माई, सूपाताल, मुजावर मोहल्ला, शारदा चौक, सिद्धबाबा, लालमाटी, घमापुर, प्रेमसागर, रांझी बड़ा पत्थर, परसवाड़ा और चार खंबा शामिल है।

शेयर करें: