गेंहू उपार्जन व खाद्यान्न वितरण को लेकर कलेक्टर ने की समीक्षा,दिए ये निर्देश 

जबलपुर, कलेक्टर  कर्मवीर शर्मा ने शनिवार के दिन वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से गेहूं उपार्जन एवं खाद्यान्न वितरण की समीक्षा की। इस दौरान उन्होंने गेहूं उपार्जन, भंडारण, परिवहन व भुगतान आदि के संबंध में विस्तार से जानकारी लेकर आवश्यक दिशा निर्देश दिए और कहा कि उपार्जित गेहूं का परिवहन समय पर हो जाए। वीडियो कांफ्रेंस में बताया गया कि अभी तक 123 खरीदी केंद्रों में 41 हजार 672 किसानों से 4.63 लाख टन गेहूं खरीदी जा चुकी है। जिसमें 41 हजार टन गेहूं का परिवहन अभी बाकी है। 35 हजार टन गोडाउन में रखा जाना है। शेष गेहूं को भी रखने की व्यवस्था की जा रही है। किसानों को 914 करोड़ भुगतान योग्य राशि में से 716 करोड़ राशि का भुगतान हो चुका है, शेष राशि का भुगतान भी शीघ्र होगा। कलेक्टर श्री शर्मा ने खरीदी केंद्रों में बारदाना आदि की उपलब्धता की जानकारी लेकर कहा कि पात्र किसानों के गेहूं का एक-एक दाना खरीदा जाए। उन्होंने कहा कि गेहूं खरीदी के अंतिम दौर में बिचौलिये सक्रिय होते है अतः खरीदी व्यवस्था का अनुचित लाभ उठाने की कोशिश करने वालों या गडबड़ी करने वालों पर कठोर कार्यवाही करें।कलेक्टर  शर्मा ने कहा कि फिलहाल कोरोना नियंत्रण व राशन वितरण शासन की प्राथमिकता में है। मुख्यमंत्री की घोषणा अनुसार 3 माह और प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के अंतर्गत 2 माह का राशन नि:शुल्क देने को कहा। अतः मई-जून के खाद्यान्न का उठाव सुनिश्चित कर वितरण तेजी से करें। गरीब या पात्रता पर्ची से छूटे हुए लोगों को अस्थाई पात्रता पर्ची के लिए स्वघोषणा पत्र भरवा कर तत्काल उन्हें राशन देना सुनिश्चित करें। यदि कहीं कोई सेल्समैन पॉजिटिव है तो उसकी वैकल्पिक व्यवस्था कर खाद्यान्न वितरण कराएं । इस दौरान उन्होंने कहा कि ग्रामीण क्षेत्र में कोरोना कंट्रोल के लिए कार्य करें। सेंपलिंग बढ़ाएं और किल कोरोना अभियान चलाएं।वीसी में अपर कलेक्टर राजेश बाथम,नगर निगम में प्रभारी अधिकारी,समस्त एसडीएम, डीएम नान, डीएमओ, फ़ूड कंट्रोलर, डीआरसीएस, जीएम सीसीबी एवं फ़ूड से संबंधित स्टाफ उपस्थित थे ।

 

शेयर करें: