डीएलसीसी की बैठक में बैंकर्स को कलेक्टर ने दिये ये निर्देश

जबलपुर:जिला स्तरीय साख समन्वयसमिति(डीएलसीसी) की आज शाम संपन्न हुई बैठक में कलेक्टर डॉ. इलैया राजा टी ने बैंकर्स को स्वरोजगार योजनाओं के लंबित प्रकरणों को शीघ्र स्वीकृति प्रदान करने तथा चालू वित्त वर्ष के समाप्त होने के पहले सभी स्वीकृत प्रकरणों के हितग्राहियों को ऋण वितरित करने के निर्देश दिये हैं।
कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में आयोजित की गई इस बैठक में कलेक्टर ने मुख्यमंत्री उद्यम क्रांति योजना, प्रधानमंत्री रोजगार सृजन योजना, स्ट्रीट वेंडर योजना, प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना, किसान क्रेडिट तथा महिला स्व-सहायता समूहों को क्रेडिट लिंकेज प्रदान करने सहित राज्य एवं केन्द्र शासन द्वारा प्रायोजित सभी स्वरोजगार ऋण योजनाओं की प्रगति की बैंकवार समीक्षा की। बैठक में जिला पंचायत की सीईओ डॉ. सलोनी सिडाना, लीड बैंक अधिकारी संजय सिन्हा, सभी बैंकों के जिला समन्वयक अधिकारी तथा स्वरोजगार ऋण योजनाओं से जुड़े विभागों के अधिकारी मौजूद थे।कलेक्टर डॉ. इलैयाराजा ने बैठक में शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्र के पथ विक्रेताओं के लिए चलाई जा रही प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना एवं मुख्यमंत्री स्ट्रीट वेंडर योजना के प्रकरणों में ऋण वितरण को खास तरहीज देने के निर्देश बैंक अधिकारियों को दिये हैं। उन्होंने कहा कि बैंक अधिकारियों को इन योजनाओं के लंबित प्रकरणों में सकारात्मक रूख अपनाते हुए त्वरित निर्णय लेना होगा। यदि किसी प्रकरण में कोई कमी पाई जाती है तो हितग्राही से संपर्क कर उसकी पूर्ति करानी होगी।कलेक्टर ने बैठक में पशुपालक किसानों को किसान क्रेडिट कार्ड जारी करने को भी प्राथमिकता देने की हिदायत बैठक में दी। उन्होंने बैंकर्स से कहा कि किसान क्रेडिट कार्ड की प्रगति की अपने स्तर पर भी नियमित समीक्षा करें। उन्होंने स्वरोजगार ऋण योजनाओं से जुड़े विभागों के अधिकारियों को बैंक अधिकारियों के साथ नियमित रूप से संपर्क में रहने तथा बेहतर समन्वय स्थापित कर ज्यादा से ज्यादा प्रकरणों में वित्तीय वर्ष समाप्त होने के पहले हितग्राहियों को ऋण वितरित कराने के निर्देश दिये। कलेक्टर ने बैठक में बैंक अधिकारियों को सीएम हेल्पलाइन से प्राप्त शिकायतों के निराकरण भी तत्परता बरतने के निर्देश बैठक में दिये।

 

शेयर करें: