बचपन का प्रेम और हत्या, बेलखेड़ा से गायब 10 साल के बच्चे का नरसिंहपुर में मिला शव 

 

जबलपुर :एक किशोर ने दूसरे किशोर की हत्या कर नदी में उसके शव को बहा दिया,मामला  बेलखेड़ा थाना क्षेत्र का है जहाँ पर गुमशुदा 10 वर्षिय बालक का शव जिला नरसिंहपुर थाना ठेमीं अतर्गत नर्मदा नदी के मुराच घाट में मिला है,

बचपन का प्यार औऱ हत्या,

वहीं पुलिस से प्राप्त जानकारी के मुताबिक 15 वर्षिय दोस्त के गुमशुदा 10 वर्षिय बालक की बहन प्रेम सम्बंध थे,साथ ही 10 वर्षिय बालक द्वारा 15 वर्षिय दोस्त से माता पिता को बताने की बात कहकर 100-200 रूपये एवं मोबाईल चलाने के लिये माॅग की जाती थी, जिससे तंग आकर 15 वर्षिय दोस्त ने बांस से सिर में हमला कर 10 वर्षिय बालक की हत्या कर शव को नदी में बहा दिया था,

हत्या करने वाला 15 वर्षिय अपचार बालक पुलिस गिरफ्त में

मामला कुछ इस प्रकार है थाना बेलखेड़ा में दिनाॅक 6-3-21 को 4-30 बजे रामदास मल्लाह उम्र 42 वर्ष निवासी जुगपुरा बेलखेड़ा ने रिपोर्ट दर्ज करायी थी कि उसके 2 बेटे एवं 2 बेटियाॅ हैं, बेटा धनराज उर्फ राजा मल्लाह उम्र 10 वर्ष जो गाॅव में ही कक्षा तीसरी में पढता है दिनाॅक 5-3-21 को रात 8 बजे अपने चाचा छोटेलाल के घर जाने का कहकर घर से निकला था जो देर रात तक वापस नहीं आया, बेटे की तलाश किया कुछ पता नहीं चला। कोई अज्ञात उसके 10 वर्षिय बेटे को बहला फुसलाकर ले गया है। रिपोर्ट पर अपराध क्रमंाक 59/21 धारा 363 भादवि का अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना मे लिया गया।वहीं 10 वर्षिय बालक के लापता होने की घटना को गम्भीरता से लेते हुये एसपी सिदार्थ (भा.पु.से.) द्वारा तलाश पतासाजी के सम्बंध में आवश्यक दिशा निर्देश दिए गए साथ ही शीघ्र तलाश बालक की दस्तयाबी हेतु आदेशित करते हुए अपहृत बालक की दस्तयाबी एवं अज्ञात आरोपी को गिरफ्तारी पर 5000 (पाॅंच हजार रूपये ) के नगद पुरूस्कार से पुरूस्कृत करने की उद्घोषणा की गयी।*आदेश के परिपालन में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक ग्रामीण  शिवेश बघेल एवं अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक शहर दक्षिण/अपराध श्री गोपाल खाण्डेल के मार्ग दर्शन में अनुविभागीय अधिकारी पाटन  देवी सिह ठाकुर एवं थाना प्रभारी बेलखेड़ा  सुजीत श्रीवास्तव के नेतृत्व में क्राइम ब्रांच एवं थाना स्टाफ की टीमें गठित कर लगायी गयी।
गठित टीमों के द्वारा हर सम्भावित स्थानों पर 10 वर्षिय बालक राजा मल्लाह की तलाश पतासाजी करते हुये पूछताछ की गयी दौरान पूछताछ के विश्वसनीय सूत्रों से जानकारी लगी कि राजा मल्लाह घटना दिनाॅक को गाॅव के ही एक 15 वर्षिय किशोर के साथ नर्मदा नदी की तरफ जाता हुआ देखा गया है। यह जानकारी लगते ही, जुगपुरा निवासी 15 वर्षिय किशोर से पूछताछ की गयी जिस पर पाया गया कि 15 वर्षिय किशोर के राजा मल्लाह की बहन से प्रेम सम्बंध थे, दिनाॅक 28-2-21 को राजा ने 15 वर्षिय किशोर को अपनी बहन के साथ बातचीत करते हुये देख लिया था, एवं अपने दोस्त 15 वर्षिय किशोर से कहा था कि यह बात वह अपने माता पिता को बतायेगा, जिस पर 15 वर्षिय किशोर ने राजा को 100 रूपये एवं मोबाईल चलाने को दिया था, किंतु राजा अपने 15 वर्षिय किशोर दोस्त से बार बार 100-200 रूपये एवं मोबाईल चलाने को मांगने लगा, जिससे तंग आकर 15 वर्षिय किशोर अपने 10 वर्षिय दोस्त राजा मल्लाह को दिनाॅक 5-3-21 की रात्रि में 8 बजे जब वह अपने घर से निकला था, को फ्रैश होने की बात कहकर जुगपुरा घाट ले गया, और वहीं पर पड़े बांस के डण्डे से राजा के सिर मे मारा जिससे राजा गिरकर बेहोश हो गया तो छोटी नाव (डुंढिया) में डालकर बीच नदी मे ले गया और बहा दिया तथा चुपचाप अपने घर आकर सो गया जब भी पुलिस एवं गाॅव वाले अपहृत राजा उर्फ धनराज को तलाश करते तो दिखावे के लिये साथ मे रहकर तलाश कराता रहा ।
15 वर्षिय अपचारी बालक द्वारा राजा उर्फ धनराज मल्लाह की बांस के डण्डे से सिर में वार कर नदी मे बहा देने की स्वीकारोक्ति पर अलग अलग टीमें गठित कर एन.डी.आर.एफ. एवं स्थानीय नाविकों के माध्यम से नर्मदा नदी के किनारे एवं घाटों पर राजा उर्फ धनराज मल्लाह की तलाश करवाई गयी। दोैरान तलाश के आज दिनाॅक 14-3-21 को राजा उर्फ धनराज मल्लाह का शव जिला नरसिंहपुर थाना ठेमीं अंतर्गत नर्मदा नदी के मुराच घाट में उतराता हुआ मिला है। 15 वर्षिय अपचार बालक के द्वारा 10 वर्षिय बालक की हत्या कर साक्ष्य छिपाये जाने के उद्देश्य से नदी मे शव को बहाया जाना पाये जाने पर प्रकरण में धारा 302, 201 भादवि का इजाफा करते हुये 15 वर्षिय अपचार बालक की निशादेही पर घटना में प्रयुक्त बांस का डण्डा एवं छोटी नाव जप्त करते हुये प्रकरण मे विधिवत गिरफ्तार कर दिनाॅक 15-3-21 को 15 वर्षिय अपचारी बालक को किशोर न्याय बोर्ड के समक्ष पेश किया जायेगा।

*उल्लेखनीय भूमिका* – थाना प्रभारी बेलखेडा  सुजीत श्रीवास्तव, उप निरीक्षक रविन्द्र डुडवा, सहायक उप निरीक्षक आर. एस.एलाड़ी, बी. पी . मरावी, संतोष ठाकुर, आरक्षक सुनील, मनोज , गंगाराम, गौरव लोधी, संदीप घोषी तथा क्राईम ब्रान्च के सहायक उप निरीक्षक राम सनेह शर्मा, रमाकान्त, प्रधान आरक्षक राम बिलोहा, हरि शंकर गुप्ता ,राजेश केवट ,अजीत पटैल ,अनिल शर्मा , बलजीत, चालक मुकेश तथा एन.डी.आर.एफ. टीम होमगार्ड तेजीलाल, मुन्नालाल, सुनील मारको, नवीन धुर्वे ,दलपथ सिंह, एवं चालक सुनील दुबे की सराहनीय भूमिका रही।

शेयर करें: