मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने जबलपुर कलेक्टर को दी शाबासी, किसान से की बात 

जबलपुर :मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज मंगलवार को वीडियो कांफ्रेसिंग के माध्यम से न्यूनतम समर्थन मूल्य पर ग्रीष्मकालीन मूंग व उड़द उपार्जन का वर्चुअल शुभारंभ करने के बाद पंजीकृत किसानों से पंजीयन व्यवस्था, समर्थन मूल्य दर और खरीदी केन्द्रों में जरूरी इंतजामों आदि की जानकारी प्राप्त करने किसानों से संवाद किया।
सरकार किसानों के साथ
मुख्यमंत्री  चौहान ने कहा कि किसानों ने तपती गर्मी में कठोर परिश्रम कर मूंग व उड़द का रिकार्ड उत्पादन किया है। किसानों को उनकी मेहनत की पूरी कीमत दिलाने सरकार ने न्यूनतम समर्थन मूल्य पर मूंग व उड़द की खरीदी शुरू की है। मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना काल के कठिन वक्त में प्रदेश सरकार किसानों के साथ खड़ी है। खेती फायदे का धंधा बने और किसानों की आय दोगुनी सुनिश्चित करने सरकार हर संभव प्रयास करेगी। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार किसानों को उनके पसीने की पूरी कीमत दिलाने संकल्पित है।
कलेक्टर को शाबासी
मुख्यमंत्री  चौहान ने आज व्हीसी के दौरान किसानों का सर्वाधिक पंजीयन करने वाले प्रदेश के पांच अग्रणी जिलों में जबलपुर के शामिल होने पर कलेक्टर कर्मवीर शर्मा को शाबासी दी। मुख्यमंत्री ने कहा कि मूंग व उड़द के उपार्जन हेतु किसानों का पंजीयन कार्य तत्परता के साथ युद्धस्तर पर कराने के लिए कलेक्टर बधाई के पात्र हैं। कलेक्टर ने मुख्यमंत्री को बताया कि जिले में ग्रीष्मकालीन मूंग व उड़द के उपार्जन हेतु अब तक 22 हजार 7 किसानों ने पंजीयन कराया है। न्यूनतम समर्थन मूल्य पर मूंग बेचने के लिए 16 हजार 233 और उड़द की बिक्री के लिए 9 हजार 930 किसानों का पंजीयन अब तक हो चुका है। श्री शर्मा ने बताया कि जिले में आज मंगलवार से मूंग व उड़द का उपार्जन शुरू हो गया है। किसानों से समर्थन मूल्य पर मूंग 7 हजार 196 रुपये प्रति क्विंटल की दर से तथा उड़द 6 हजार रुपये प्रति क्विंटल की दर से खरीदी जायेगी।
मुख्यमंत्री से बात कर खुश हुए अरजरिया
हां…. अरजरिया जी बताईये…..मुख्यमंत्री ने यह बात आज वीडियो कांफ्रेसिंग के द्वारा कलेक्ट्रेट के एनआईसी कक्ष में मौजूद निरंदपुर पनागर के किसान ब्रजेश दत्त अरजरिया से कही। इस दौरान उपसंचालक कृषि एसके निगम भी उपस्थित थे। दरअसल मुख्यमंत्री समर्थन मूल्य पर मूंग व उड़द उपार्जन के बारे में कृषक ब्रजेश की राय जानना चाहते थे।
मालामाल हो रहे किसान
मुख्यमंत्री को कृषक ब्रजेश दत्त अरजरिया ने बताया कि राज्य शासन की दलहन विकास की योजनाओं से किसान मालामाल हो रहे हैं। साथ ही सोने में सुहागा यह कि अब मूंग व उड़द की समर्थन मूल्य पर खरीदी शुरू हो गई है। इसका सबसे बड़ा फायदा यह हुआ कि मंडी बाजार में जो मूंग 5 हजार रुपये क्विंटल बिक रही थी, अब उसका बाजार भाव 6500 रुपये प्रति क्विंटल तक पहुंच गया है। इसी प्रकार 6300 रुपये प्रति क्विंटल बिकने वाला उड़द अब 6700 रुपये क्विंटल के प्रति बाजार भाव पर बिकने लगा है। ब्रजेश ने मुख्यमंत्री को बताया कि शासन ने जो उन्नत बीज किसानों को उपलब्ध कराया था उससे उत्पादन काफी बढ़ा है। धान, चना और मटर की फसलों से भी किसानों की आय बढ़ी है।
आईटी सेक्टर के युवा अपना रहे खेती
मुख्यमंत्री को जबलपुर के किसान  अरजरिया ने बताया कि सरकार की किसान हितैषी नीतियों की वजह से वे कई युवा जो आईटी सेक्टर में नौकरी के लिए मुंबई, बेंगलुरू, पूना और हैदराबाद चले गये थे। वे अब वापिस अपने गांव आकर धान, चना, उड़द और मूंग की लाभकारी खेती को अपना रहे हैं।

 

शेयर करें: