कलेक्ट्रेट में शांति समिति की बैठक,कोरोना प्रोटोकाल का पालन करते हुए मनाएं होली और शब-ए- बारात, ईस्टर एवं ईद-उल-फितर

 

जबलपुर :कलेक्ट्रेट में शांति समिति की बैठक आयोजित की गई जिसमें आने वाले त्यौहारों को कोरोना प्रोटोकाल का पालन करते हुए मनाने की अपील की गई है,पुलिस अधीक्षक  की अध्यक्षता में संपन्न हुई इस  शांति समिति की बैठक में होली, शब-ए- बारात, ईस्टर एवं ईद-उल-फितर आदि त्यौहार अमन और शांति के साथ कोरोना प्रोटोकॉल के नियमों का पालन करते हुए उत्साहपूर्वक घर में ही मनाने का लिया गया निर्णय , साथ ही कोरोना के लगातार बढ़ते प्रभाव को देखते हुए होली, शब-ए- बारात, ईस्टर एवं ईद-उल-फितर आदि त्यौहार अमन और शांति के साथ कोरोना प्रोटोकॉल के नियमों का पालन करते हुए उत्साहपूर्वक घर में ही मनाने का निर्णय आज पुलिस अधीक्षक श्री सिद्धार्थ बहुगुणा (भा.पु.से.) की अध्यक्षता में कलेक्टर सभागार में शांति समिति की बैठक में लिया गया।इस दौरान अपर कलेक्टर  हर्ष दीक्षित (भा.प्र.से.),  अनूप सिंह (भा.प्र.से.), नगर निगम कमिश्नर  संदीप जी आर (भा.प्र.से.) सहित शांति समिति के सदस्य उपस्थित थे।बैठक के दौरान कहा गया कि कोरोना के रोकथाम व बचाव के लिए सभी की सहभागिता आवश्यक है। सभी लोग मास्क पहने, सैनिटाइजर का उपयोग करें और सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखें।आपने शासन द्वारा कोरोनावायरस संक्रमण की रोकथाम एवं बचाव के लिए जारी दिशानिर्देश की जानकारी देते हुये बताया गया कि आगामी आदेश तक रविवार को जबलपुर में लॉकडाउन रहेगा और शनिवार रात 10 बजे से सोमवार सुबह 6 बजे तक यह प्रभावी रहेगा। लॉकडाउन होने के कारण होलिका दहन तथा शब- ए -बरात को सांकेतिक रूप से मनाने पर चर्चा हुई। जिले में समस्त सामाजिक और धार्मिक कार्यक्रम या सार्वजनिक रूप से एकत्र होने के लिए पूर्णतया प्रतिबंध पर चर्चा करते हुये कहा कि होली या अन्य त्यौहार घर पर ही मनाएं । डीजे व जुलूस पूर्णतया प्रतिबंधित रहेंगे ।

शादी में 50 और शव यात्रा में 20 व्यक्ति होंगे शामिल 

वहीँ बैठक के दौरान यह भी कहा गया कि शादी समारोह में 50 तथा शव यात्रा में 20 से अधिक व्यक्ति सम्मिलित नहीं होंगे। जिम, स्विमिंग पूल, सिनेमाघर बंद रहेंगे, रेस्टोरेंट में बैठकर खाने पर प्रतिबंध रहेगा परंतु वह वहां से पार्सल ले जा सकते है।शासन के निर्देशानुसार 31 मार्च तक समस्त स्कूल एवं कालेज में शिक्षण बंद रहेगा। समस्त प्रकार की परीक्षाएं जिसमें प्रतियोगिता परीक्षा भी सम्मिलित है पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार ही आयोजित होंगे।शांति समिति के सभी सदस्यों ने कहा कि कोविड-19 की रोकथाम व बचाव में सबकी सहभागिता आवश्यक है और कोविड-19 को लेकर जो विचार कर रहे हैं यह सब के लिए है अतः अपनी सुरक्षा स्वयं करें। कोविड की रोकथाम में समिति के सभी सदस्यों ने शासन के निर्देशों के पालन करने की प्रतिबद्धता जताई।

शेयर करें: