धान के अवैध रूप से उपार्जन के मामले में समिति प्रबंधक सहित तीन अन्य के खिलाप मामला दर्ज 

 

जबलपुर:पाटन तहसील के ग्राम सिमरा में बिना अनुमति के अवैध रूप से धान उपार्जन केन्द्र का संचालन करने के मामले में वृहत्ताकार सेवा सहकारी समिति नुनसर के प्रबंधक, लिपिक और कम्प्यूटर ऑपरेटर के विरूद्ध पाटन थाने में आज एफआईआर दर्ज करा दी गई हैै। इस मामले में इन तीनों को निलंबित भी कर दिया गया है।
ज्ञात हो कि अवैध रूप से संचालित इस धान उपार्जन केन्द्र की जानकारी तब सामने आई थी जब संयुक्त कलेक्टर नम:शिवाय अरजरिया एवं उपार्जन व्यवस्था से जुड़े अधिकारी 29 दिसंबर को धान उपार्जन केन्द्रों के निरीक्षण के दौरान यहां पहुंचे थे। प्रभारी जिला आपूर्ति नियंत्रक सुधीर दुबे के मुताबिक यह खरीदी केन्द्र गणपति वेयर हाउस पर संचालित किया जा रहा था, जबकि इसे खरीदी केन्द्र बनाया ही नहीं गया था। अधिकारियों के निरीक्षण के दौरान अवैध रूप से संचालित इस खरीदी केन्द्र पर कम्प्यूटर ऑपरेटर प्रयाग पांडे एवं लिपिक प्रदीप दीक्षित को किसानों से धान की खरीदी करते पाया गया था। यहां कृषकों से करीब 26 हजार क्विंटल धान खरीदी कर वेयर हाउस में रखी भी जा चुकी थी। इस धान की किसानों को न तो पर्ची दी गई थी और न ही उन्हें भुगतान प्राप्त हुआ था। इस धान उपार्जन केन्द्र का संचालन वृहत्ताकार सेवा सहकारी समिति के प्रबंधक गंधर्व सिंह द्वारा किया जा रहा था। प्रभारी जिला आपूर्ति नियंत्रक ने बताया कि कलेक्टर श्री कर्मवीर शर्मा द्वारा दिये गये निर्देशानुसार समिति प्रबंधक गंधर्व सिंह, कम्प्यूटर ऑपरेटर प्रयाग पांडे एवं लिपिक राहुल दीक्षित के विरूद्ध जिला विपणन अधिकारी द्वारा आज पाटन पुलिस थाने में एफआईआर दर्ज कराई गई है। जबकि इस मामले में इन तीनों को उपायुक्त सहकारिता द्वारा निलंबित किया गया है।

शेयर करें: