तलाक होते ही दोस्त की बीबी के साथ करता था गंदा काम,दुराचार का 4 हजार इनामी आरोपी गिरफ्तार  

जबलपुर :आरोपी ने अपने ही दोस्त की बीबी को तलाक होते ही बहन जैसे पवित्र रिश्ते में बांधने की बात कहकर उसे अपनी हवस का शिकार बनाता रहा दुराचार के  4 हजार इनामी आरोपी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है,

5 माह से था फरार 

पुलिस से प्राप्त जानकारी के मुताबिक महिला थाने मे 12 जनवरी 2021 की रात्रि में 29 वर्षिय महिला द्वारा रिपोर्ट दर्ज करायी गयी थी कि पति से उसका तलाक हो चुका है, उसका 10 वर्षिय बेटा उसके साथ एवं छोटी बेटी पति के साथ रहती है, श्रीकात सोनी से उसके पति की दोस्ती थी, श्रीकांत सोनी हम लोगो के साथ ही किराये के मकान मे रहता था, पति से तलाक होने के बाद श्रीकांत सोनी ने कहा कि तुम्हें बहन बनाकर अपने साथ रखूंगा, मार्च 2018 में श्रीकात सोनी ने जबरदस्ती उसके साथ शारीरिक सम्बंध बनाये और लगातार उससे सम्बंध बनाता रहा, उसके मना करने पर जान से मारने की धमकी देता था, डर के कारण उसने यह बात किसी को नहीं बतायी थी। रिपोर्ट पर धारा 376, 376(2)एन, 506 भादवि का अपराध पंजीबद्ध कर आरोपी श्रीकांत की गिरफ्तारी हेतु दबिश दी गयी जो फरार मिला।पकड़े न जाने पर पुलिस अधीक्षक  सिद्धार्थ बहुगुणा (भा.पु.से.) द्वारा फरार आरोपी श्रीकांत सोनी निवासी वीर सावरकर वार्ड की गिरफ्तारी पर 4 हजार रूपये के नगद पुरूस्कार से पुरूस्कृत करने की उद्घोषणा करते हुये फरार आरोपी की शीघ्र गिरफ्तारी हेतु आदेशित किये जाने पर अति. पुलिस अधीक्षक शहर  रोहित काशवानी (भा.पु.से.) एवं अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक शहर दक्षिण/अपराध  गोपाल खाण्डेल तथा नगर पुलिस अधीक्षक कोतवाली  दीपक मिश्रा के मार्ग दर्शन में क्राईम ब्रांच की टीम को लगाया गया। क्राईम ब्रांच की टीम द्वारा आज दिनाॅक 24-6-21 को विश्वसनीय मुखबिर की सूचना पर अमखेरा में किराये के मकान मे रह रहे श्रीकांत सोनी पिता विजय सोनी उम्र 35 वर्ष को दबिश देते हुये पकड़ कर महिला थाने के सुपुर्द किया गया है। महिला थाने में पंजीबद्ध अपराध में आरोपी श्रीकांत सोनी को विधिवत गिरफ्तार कर मान्नीय न्यायालय के सक्षम पेश किया जा रहा है।
उल्लेखनीय है कि आरोपी श्रीकांत सोनी शातिर चोर है, सकूनत बदलता रहता है।

उल्लेखनीय भूमिका* – दुराचार के प्रकरण में 5 माह से फरार 4 हजार रूपये के ईनामी आरोपी को पकड़ने में क्राईम ब्रांच के सहायक उप निरीक्षक धनंजय सिंह, विजय शुक्ला, प्रमोदा पाण्डे, प्रधान आरक्षक दीपक तिवारी, रामगोपाल विश्वकर्मा, राममिलन, नितिन मिश्रा, अजय सोनकर, मोहित उपाध्याय की सराहनीय भूमिका रही।

शेयर करें: