माँ नर्मदा और गोवंश को बचाने सब मिलकर आंगे आयें,यादव महासभा अध्यक्ष भारत यादव

 

फोटो उमेश विश्वकर्मा 

जबलपुर :गन्दे नालों के पानी से माँ नर्मदा का निर्मल जल  गन्दा हो रहा है, रेत माफिया माँ नर्मदा का सीना छलनी कर रहे है, माँ नर्मदा के किनारे से पेड़ पौधों को काटा जा रहा लेकिन अब समय आ गया है की हम सबको मिलकर एकजुट होकर माँ नर्मदा को इन माफियों और गंदे नालों के पानी से बचाने आंगे आना होगा ये बात आज बघराजी में एक निजी कार्यक्रम में शामिल हुए यादव महासभा के अध्यक्ष भारत यादव ने कही उन्होंने भैयाजी सरकार द्वारा माँ नर्मदा को रेत माफियों व गंदे नालों  के पानी से बचाने के लिए चलाए जा रहे अभियान में सभी को शामिल होने का आग्रह किया,साथ ही लोगों से अपील की है की सब लोग एकसाथ मिलकर 18 फरवरी के दिन माँ नर्मदा सत्याग्रह पद यात्रा में अधिक से अधिक संख्या में शामिल होकर जीवनदायनी माँ नर्मदा ,और गौ वंश को बचाने की मुहिम में शामिल हों ,माँ नर्मदा बचाओ सत्याग्रह पद यात्रा 18 फरवरी 2021 गुरुवार की सुबह 7 बजे केलाशधाम मटामर से सिद्ध घाट तक निकाली जाएगी ,

भगवान श्रीकृष्ण ने कालिया दहन के लिए डाल दी थी जान जोखिम में ,शिव यादव 

वहीँ इस अवसर पर शिव यादव संस्कार कावर यात्रा संयोजक अध्यक्ष नर्मदा बचाओ मिशन सानिध्य भैया जी सरकार ने कहा की जब यमुना नदी से कालिया जैसे भयानक सर्प को भगाने के लिए भगवान श्रीकृष्ण ने खुद की जान की परवाह न करते हुए युमना नदी में छलांग लगा दी और कालिया नाग के भय से ब्रजवासियों को मुक्ति दिलवाई थी,तो हम भी उन्हीं के वंशज है, तो क्या हम माँ नर्मदा को रेत माफियों ,गन्दे नालों के पानी से बचाने एकजुट नहीं हो सकते क्या ?

इस सत्याग्रह यात्रा का मुख्य उद्देश्य ,

 माँ नर्मदा ,गोवंश को बचाने निर्णायक मुहिम,माँ नर्मदा में मिल रहे गंदे नालों विषैले रसायनों को बंद कराने ,माँ नर्मदा को जींवत इकाई का दर्जा दिलाने,माँ नर्मदा जल संग्रहण हरित क्षेत्र को पूर्णतः सरंक्षित करने,माँ नर्मदा को गौ नीति कानून योजनाओं को क्रियान्वित 

 

 

ये रहे उपस्तिथ,

इस कार्यक्रम में कुंडम यादव महासभा से दसरथ यादव सचिव,रामसुजान यादव अध्यक्ष, गोपाल यादव सदस्य ,प्रदीप यादव सचिव,राजेश यादव सदस्य,वेदभान यादव सदस्य,जवाहर यादव सदस्य,राजेन्द्र यादव सदस्य ,कोदुलाल यादव सदस्य ,पूरनलाल यादव सदस्य,सरविन्द यादव सदस्य,राममिलन यादव सचिव,सहित अन्य लोग उपस्तिथ रहे,

 

 

 

शेयर करें: