रंगकर्मी से रियल लाइफ के खलनायक बने अभिनेता साहिल मिश्रा का फिल्मी सफर  



 

एक्टर साहिल मिश्रा के अभिनय की यात्रा झांसी से शुरू हुई जहाँ पर उन्होंने थिएटर की एक संस्था को जॉइन किया India pol khol से बात करते हुए उन्होंने बताया की  थिएटर की दुनिया की शुरुआत के बाद वे भोपाल आकर थिएटर की दुनिया मे बिलीन  हो गए और बहुत से डायरेक्टर्स के साथ थिएटर किया,इस दौरान उन्होंने करीब 13 साल  थिएटर किया उसके बाद पहला चांस उन्हें सत्याग्रह फ़िल्म मैं मिला जिसे प्रकाश झा बना रहे थे फ़िल्म में अमिताभ बच्चन , अजय देवगन, करीना कपूर , अर्जुन रामपाल आदि सुपरस्टार कलाकार थे उसके बाद तो एक के बाद सीरियल , फ़िल्म आदि में लगातार काम करने का मौका मिलता रहा सावधान इंडिया, क्राइम पेट्रोल,क्राइम एलर्ट में अलग अलग किरदार निभाए।उसके बाद तेलगु फिल्म सातकर्णी गौतमी पुत्र में राजा के कैरेक्टर की अहम भूमिका निभाई साथ में लोकल प्रोडक्शन और कास्टिंग भी की। सौरभ श्रीवास्तव जी ‘फ्रॉड सैयां’ अंकिता के निर्देशन में लिपिस्टिक ‘अंडर माय बुर्का’ में कास्टिंग के साथ एक्टिंग भी की।जय संतोषी माँ में लीड रोल कर रही रतन सिंह ठाकुर के अपोजिट मैंने रोल किया इस सीरियल में 7 एपिसोड में मेरा रोल नजर आया।बेइंतहा सीरियल और पिया बसंती रे में भी अभिनय करने का मौका मिला साथ एपिक चैनेल पर लूटेरे और सुल्तान में लगातार 11 एपिसोड्स किये इसमे ब्रिटिश इंडियन ऑफिसर का किरदार किया । फ़िल्म मंदाकिनी में अभिनेता दीपराज राणा के साथ खलनायक की भूमिका निभाई जिसके डायरेक्टर संजय साक्षी जी हैं उसके साथ साथ प्यार के सर्कल में लीड खलनायक का किरदार निभाया जिसके डायरेक्टर नरेंद्र साहू थे,

*गवरमेंट प्रोजेक्ट*

स्वच्छता की राजधानी अपना भोपाल, जय हो जय हो मेरा मध्यप्रदेश, जीना जीना जी लेंगें हम उसमें मैंने अभिनय के साथ साथ कास्टिंग और डायरेक्शन भी किया
जय हो जय हो मध्यप्रदेश, जीना जीना जी लेंगें हम गाना जो कोरोना योद्धाओं के प्रोत्साहन के लिए बनाये गये
साथ में कई ऐड शूट भी किये बीजेपी और कांग्रेस के किये।

*अपकमिंग प्रोजेक्ट*

मटक विवाह शॉर्ट फिल्म की शूटिंग अब चल रही है जिसमें मैं विलन का मुख्य कैरेक्टर निभा रहा हूं। इसके बाद मेरी अपकमिंग फिल्म तेलगु में है इसका शूट नवंबर या दिसंबर में शुरू होगा। इसके साथ ही वेब सीरीज है जिसमें मुझे आप एक मजाकिया टाइप के डायरेक्टर अहम भूमिका में देख सकते हैं साथ में कास्टिंग भी कर रहा हूँ बहुत जल्द एक क्राइम शो में कई एपिसोड्स में देख पाएंगे।साहिल मिश्रा बताते है कि कुछ सीरियल और फ़िल्म की कास्टिंग भी कर रहे जो 2021 के अंतिम में फ़िल्म रिलीज़ होंगी । साथ में विकाश दुवे पर बनी वेब सीरीज़ में गोपाल का अहम भूमिका निभा रहा हूँ जिसके डायरेक्टर विकास वात्सल्य हैं। भोजपुरी भाषा की दो फिल्मों के लिए साइन किया जो 2021 जून में जिसकी शूटिंग होंगी उसके साथ 2 सॉन्ग 2021 दिसम्बर तक रिलीज़ होंगें साथ में भोपाल में💐 बन रही फ़िल्म शुक्रदोष में अहम भूमिका कर रहा हूँ जिसके डायरेक्टर अनूप थापा हैं जो 2021के दिसम्बर तक होने की संभावना साथ मे नेटफ्लिक्स की एक वेब सिरीज़ में अहम भूमिका में आने बाला हूँ।

*थिएटर मेरे लिए रामबाण साबित हुआ*

मैं यूपी से हूं भोपाल आकर थोड़ा भाषा में फर्क नज़र आया क्योंकि यहां पर नुक्ता का बिशेष ध्यान दिया जाता है थिएटर से मुझे शब्दों के चयन की समझ आई।अगर मैं थिएटर नहीं करता तो मुझे अभिनय की बारीकियों की समझ नहीं आ पाती।मैं आलोक दादा और जयंत देशमुख दादा के साथ नटसम्राट जैसे महानाट्य का हिस्सा बना जिसका मुझे हमेशा गर्व रहेगा।आलोक दादा, जयंत देशमुख दादा, वसीम भैया के साथ रहकर मैंने एक्सप्रेशन पर काफी काम किया जो मेरे अभिनय में साफ नज़र आता है।थिएटर ने मुझे परिपक्व बना दिया जिसका मैं सदैव आभारी रहूंगा। मैंने कई नाटक मंचन किया जिसमें प्रमुख हैं वर्ल्ड टॉप नाटक नट सम्राट, लछिया,बाबू जी, अंधेर नगरी चौपट राजा, रोमियो की जूलियट, बेहतर है मौत, हां नी तो, बांछाराम की बगिया, आदि नाटक हैं। मैंने कुछ नाटकों में अभिनय के साथ साथ डाइरेक्शन भी किया जो हमारे लिए लकी साबित हुआ।

 

*नेगेटिव कैरेक्टर करना पसंद*

एक्टर साहिल मिश्रा बताते है कि मुझे लगता है कि मेरी पर्सनालिटी के हिसाब से मुझ पर नेगेटिव रोल ज्यादा सूट करते हैं।मेरा फेस विलेन के लिए ही बना है। और लोग मुझे नेगेटिव रोल में ही प्रीफर करती है इसलिए मैं भी लोगों के आदेश को सर आंखों पर रखता हूं। मुझे भोजपुरी फिल्म में लीड कैरेक्टर भी ऑफर हो चुका है लेकिन लगता कि मेरा चेहरा हीरो की तरह चॉकलेटी नहीं है और मैं अभी इस के लिए तैयार भी नही हूँ।मटक विवाह में रोल निभाना रहा काफी चैलेंजिंग*अभिनेता साहिल मिश्रा बताते है कि मटक विवाह में करना हमारे लिए सौभाग्य की बात है क्योंकि अपनी जन्मभूमि पर अभिनय के साथ साथ लाइन प्रोड्यूसर करने का मौका जो मिला सच में अपनी जन्म भूमि में अभिनय करने का एक अलग ही मज़ा है मटक विवाह के डायरेक्टर श्री राम तिवारी सर और प्रड्यूसर श्री अखिलेश चौबे सर ने मुझे फ़िल्म की स्क्रिप्ट सुनाई और मैंने तुरंत हां कर दी क्योकि कॉन्सेप्ट ही बहुत अच्छा था उन्होंने मुझे बुंदेलखंड की फ़िल्म में काम करने का मौका दिया में दिल से उनका आभार करता हूँ। मटक विवाह फिल्म में विलेन का रोल करना मेरे लिए काफी चैलेंजिंग साबित हुआ।वैसे तो मैं बुंदेलखंड से ताल्लुक रखता हूं लेकिन इसमें बोली गई शुद्ध बुंदेलखंडी बोली सीखने के लिए मैंने लोगों को ऑब्जर्व किया।जो शब्द मुझे कठिन लगे तो मैंने उन्हें डायरी में लिखकर याद किया।कैरेक्टर में ढलने के लिए ग्रामीणों की चाल-ढाल भी सीखी ताकि रोल में जान फूंक सकूं।इसमें मैं एक क्रूर और लालची इंसान की भूमिका में नजर आऊंगा जिसके पास जज्बातों के लिए कोई जगह नहीं है।

शेयर करें: