भगवान पारसनाथ का किया गया अभिषेक व शांतिधारा हुई आयोजित

कटनी/स्लीमनाबाद(सुग्रीव यादव):पारसनाथ दिगंबर जैन मंदिर बाकल में आचार्य विद्यासागर जी महामुनि आज की परम प्रभाव अक्षया 105 उपशांतमति माताजी ससंग के सानिध्य में सानंद संपन्न चातुर्मास के उपरांत सकल जैन समाज द्वारा मंदिर परिसर में श्रुत स्कंध विधान का आयोजन भक्ति भाव के साथ किया गया।
इस अवसर पर नवीन मंदिर की नवीन पीठ  स्थल पर मूलनायक भगवान पारसनाथ को विराजमान कर सकल जैन समाज द्वारा भक्ति भाव के साथ प्रातः मंत्रोचार के साथ अभिषेक शांतिधारा पूजन तथा मां जिनवाणी की आराधना भक्ति भाव के साथ सकल जैन समाज द्वारा संपन्न की गई।
विधान उपरांत उपशांतमति माता ने अपने उद्बोधन में कहा कि हमें अपने जीवन में निरंतर स्वाध्याय मां जिनवाणी की आराधना करना चाहिए। जिससे समाज में गांव में देश में विश्व मैं शांति स्थापित होगी। स्वाध्याय से व्यक्ति का मनोबल ऊंचा होता है सोच बदलती है।
इस दौरान वीरेन्द्र सिघई, नरेंद्र सिंघई ,जीवनधर मोदी, सुरेन्द्र सिघई, संजय सिंघई,अरविंद सिघई, अशोक सिंघई ,वीरेंद्र सिंघई, राजेन्द्र सिघई ,  मनोज मोदी,सुरेश चंद सिघई, पवन मोदी,अजय सिघई,राजेश मोदी,डॉ सुबोध जैन, स्वप्निल साहूकार, विमल सिंघई, आनंद जैन, अजय अहिंसा ,संजय मोदी ,अनिल सिंघई सहित महिला मंडल, बालिका मंडल, युवा मंडल व सकल जैन समाज की उपस्थिति रही।

शेयर करें: