सिहोरा के गोरहा में गुंडई,गरीबों की दुकान में लगा दी आग,एक दिन पहले की थी तोड़फोड़

 

जबलपुर:सिहोरा के गोरहा में गुंडे बदमाशों के हौसले सातवे आसमान में है, बदमाशो ने पहले तो गरीबो की चाय नास्ता की दुकान को हटाने की धमकी दी और न करने पर तोड़फोड़ करते हुए आग के हवाले कर दिया,

एक दिन पहले की थी तोड़फोड़ की शिकायत,

वहीँ देखा जाए तो एक तरफ तो प्रदेश के मुखिया गुंडे बदमाशो पर कार्यवाही करने की बात कहतें दूसरी तरफ शिकायत देने के बाद भी गुंडे बदमाशों पर कार्यवाही नहीँ होती जिसका ताजा उदाहरण गोरहा की वो तीन दुकानें है जिन्हें बदमाशो ने आग लगाकर जला दिया शिकायत कर्ताओं में सूरज लोधी ,सुखचैन लोधी व कोदू लाल यादव ने बताया की 12 जनवरी की सुबह हमारी दुकानों को हटाने की धमकी देते हुए आरोपियों द्वारा दुकानों में तोड़फोड़ की गई थी जिसकी लिखित शिकायत हमारे द्वारा 12 जनवरी के दिन ही सिहोरा थाना व एसडीएम को देते हुए आरोपियों के खिलाप उचित कार्यवाही की मांग की गई थी लेकिन पुलिस प्रशासन ने आरोपियों के खिलाप कोई कार्यवाही नहीं की थी जिसके चलते आरोपियों ने 13 जनवरी के दिन तीनों दुकानों में फिर से तोड़फोड़ करते हुए आग लगा दी,यदि तोड़फोड़ की शिकायत के बाद 12 जनवरी के ही दिन पुलिस आरोपियों के खिलाप कार्यवाही कर देती तो दुकानों में आरोपी आग न लगा पाते,

 

पुलिस ने आग लगने के बाद किया मामला दर्ज ,

मामला थाना सिहोरा का है जहाँ दिनांक 13-1-21 की दोपहर में पुरैना तालाब गौराहा में आगजनी होने की घटना पर मौके पर पुलिस को सुखचैन पटैल उम्र 28 वर्ष निवासी ग्राम गौरहा ने बताया कि पुरैना तालाब किनारे रोड़ के पास उसके पिता नंदीलाल एवं चाचा हल्केराम पटैल लगभग 25 वर्ष से चाय नास्ता की दुकान टपरा रखकर चलाते हैं आज सुवह लगभग 9 बजे उसने चाय नास्ता की दुकान खोला था तथा बाजू में कोदूलाल यादव एव सुनील सेन ने विद्याचरण पटैल की दहशत से दुकान नहीं खोले थे वह लगभग 11 बजे दुकान में था उसी समय विद्याचरण पटैल, रामकुमार पटैल, नरेन्द्र पटैल आये और कहने लगे कि दुकान बंद कर दे ,उसने कहा कि सरकारी जमीन है उसके पिता एवं चाचा लगभग 25 वर्ष से यहॉ दुकान लगाते हैं तो विद्याचरण पटैल, रामकुमार पटैल, नरेन्द्र पटैल कहने लगे कि दुकान बंद नहीं किया तो देख लेगें, तब उसने दुकान बंद कर दी उसी समय विद्याचरण पटैल के परिवार की 3-4 महिलायें आयी और टपरा में लगी पन्नी एवं बांस की बल्ली निकालकर फैंकने लगे वह डरकर गणेश गोटिया के मकान के पास खड़ा होकर देखता रहा और वीडियो बनाता रहा फिर पन्नी एवं बांस में आग लगा दिये, आग देखकर गांव के राजभान पटैल, राजेन्द्र पटैल बल्देव गेटिया, भगवानदास लोधी एवं अन्य लोग आये एवं आग बुझाई, आग लगने से उसकी दुकान में रखा सामान बिड़ी, माचिस, नमकीन पन्नी बल्ली लगभग 20 हजार रूपये का नुकसान हुआ है जाते जाते सभी लोग कहने लगे कि टपरा नहीं हटाया तो जान से खत्म कर देगें। वहीं  रिपोर्ट पर पुलिस ने आरोपियों के खिलाप धारा 435, 427, 506, 34 भादवि का अपराध पंजीबद्ध कर आरोपियों की तलाश सुरु कर दी है,

शेयर करें: