390 नग नशीले इंजैक्शन के साथ एक आरोपी गिरफ्तार 

 

जबलपुर:नशीले इंजेक्शन के अवैध कारोबार मे लिप्त आरोपी को गिरफ्तार करते हुए पुलिस ने आरोपी के कब्जे से 390 नग नशीले इंजैक्शन जप्त करते हुए कार्यवाही की है, गौरतलब है की पुलिस अधीक्षक  सिद्धार्थ बहुगुणा (भा.पु.से.)* द्वारा सभी राजपत्रित अधिकारियों एवं थाना प्रभारियों को अवैध मादक पदार्थ, शराब की तस्करी तथा नशीले इंजैक्शन के कारोबार मे लिप्त असामाजिक तत्वों को चिन्हित करते हुये उनके विरूद्ध कार्यवाही हेतु आदेशित किया गया है।आदेश के परिपालन में अति. पुलिस अधीक्षक शहर दक्षिण/अपराध  गोपाल खाण्डेल एवं नगर पुलिस अधीक्षक गोरखपुर  आलोक शर्मा के मार्गदर्शन में गोरखपुर की टीम को एक आरोपी को 390 नशीले इंजैक्शन के साथ गिरफ्तार करने में महत्पूर्ण सफलता प्राप्त हुई है।

ग्राहक के इंतजार में खड़ा था आरोपी ,

थाना प्रभारी गोरखपुर  सारिका पांडे ने बताया कि दिनांक 1-3-21 की रात्रि लगभग 10 बजे विश्वसनीय मुखबिर से सूचना मिली कि महर्षि स्कूल के पास मैदान में एक 20-25 वर्षिय युवक जिसके बाल लम्बे है, जो फुल टीशर्ट एवं नीला जंींस पेंट पहने हुये है, अपने पास अवैध नशीले इंजेक्शन लिये बेचने की फिराक में खड़ा है जो अपराध के आशय से विष इत्यादि द्वारा उपहति कारित करने के उद्देश्य से नशे के इंजेक्शन अपने पास रखकर बेचता है एवं आपराधिक प्रवृति के लोगों को इसका डेाज देता है तथा सीधे सादे लोगों को नशीले इंजेक्शन का डोज देकर नशे का आदि बनाता है सूचना पर मुखबिर के बताये स्थान पर दबिश दी गयी जहंा मुखबिर के बताये हुलिये का व्यक्ति अपने पास 2 थैला लिये खड़ा दिखा जो पुलिस को देखकर भागने लगा जिसे घेराबंदी कर पकड़ा गया जिसने नाम पता पूछने पर अपना नाम ऋषि उर्फ सोनू जार्ज उम्र 26 वर्ष निवासी बड़ी अम्मा कलारी के पास गुप्तेशवर का रहने वाला बताया जिसे सूचना से अवगत कराते हुये तलाशी ली जो एक थैले के अंदर 195 फेैनेरामाईन मैलेट इंजेक्शन आई एविल 10 एमएल वाली शीशियां तथा दूसरे थैले में 195 नग ब्रूपे्रनोरनफिन इंजेक्शन आई लीजेसिक 2 एमएल वाले अवेैध रूप से विक्रय करने हेतु रखे मिला, ऋषि जार्ज द्वारा यह जानते हुये भी की इन नशीले इंजेक्शन के उपयोग करने से मानव जीवन संकटापन्न हो सकता है , अवैध रूप से लोगों को बेच कर सदोष लाभ कमाने के उद्देश्य से रखना पाया जाने पर 390 नग नशीले इंजैक्शन जप्त करते हुये धारा 328 भादवि एवं 5/13 ड्रग्स कंट्रोल एक्ट का अपराध पंजीबद्ध कर उक्त इंजैक्शन कहाॅ से प्राप्त किये के सम्बंध में पूछताछ जारी है।
*उल्लेखनीय भूमिका* – आरोपी को गिरफ्तार कर नशीले इंजैक्शन जप्त करने मे उप निरीक्षक राहुल परमार, आरक्षक संतोष जाट, रत्नेश राय, संदीप पाल की सराहनीय भूमिका रही।

शेयर करें: