जबलपुर में 24 हजार हेल्थ वर्कर्स को लगेगा पहले चरण में कोरोना का टीका

 

 

जबलपुर, जबलपुर जिले में कोरोना वेक्सीनेशन के पहले चरण की शुरुआत कल शनिवार 16 जनवरी से होगी। पहले चरण में स्वास्थ्य कर्मियों को कोरोना के टीके लगाये जायेंगे। इसके लिए शुरूआती तौर पर सात स्वास्थ्य संस्थाओं का चयन किया गया है इनमें जिला अस्पताल (विक्टोरिया हॉस्पिटल), मेडीकल कॉलेज, रेलवे हॉस्पिटल, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र सिहोरा, शहपुरा एवं पनागर तथा प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र कटंगी का चयन किया गया है।जिले में कोरोना का पहला टीका सेवानिवृत्त संचालक स्वास्थ्य डॉ. केके शुक्ला को जिला अस्पताल में लगाया जायेगा। कलेक्टर कर्मवीर शर्मा ने बताया कि जिले में कोरोना वेक्सीनेशन के पहले चरण के लिए सभी तैयारियां पूरी की जा चुकी हैं। उन्होंने नागरिकों से कोरोना वैक्सीन लगाने के पहले चरण में सहयोग की अपील की है। श्री शर्मा ने बताया कि कोरोना की वैक्सीन पूरी तरह सुरक्षित है। इसे वैज्ञानिकों द्वारा कई कसौटियों पर कसा गया है। उन्होंने नागरिकों से कहा कि वे वैक्सीन को लेकर भ्रम फैलाने वालों से सतर्क रहें और ऐसे लोगों की सूचना तत्काल कोरोना कंट्रोल एण्ड कमांड सेंटर को दें। वैक्सीन को लेकर भ्रम फैलाने वालों से सख्ती से निपटा जायेगा।
कोविड टीकाकरण तीन चरणों में किया जायेगा। प्रथम चरण में हैल्थ केयर वर्कर दूसरे चरण में फ्रंट लाईन वर्कर जैसे पुलिस एवं डिफेस कर्मचारी, राजस्व कर्मचारी, नगर एवं पंचायतों के कर्मचारी को टीकाकरण किया जायेगा तथा तीसरे चरण में 50 वर्ष की आयु से ऊपर तथा 50 वर्ष की आयु से कम कोमॉर बिक्रिटी वाले लोगों को टीका लगाया जायेगा। जबलपुर जिले में प्रथम चरण में लगभग 24 हजार हैल्थ केयर वर्कर्स को चरणबद्ध तरीके से वैक्सीनेट किया जायेगा। प्रथम चरण के लिए जिले को 28030 वैक्सीन की डोज प्राप्त हुई है। यह वैक्सीन राज्य शासन एवं केन्द्र सरकार की हैल्थ केयर वर्कर प्राईवेट संस्थाओं के हैल्थ केयर वर्कर्स एवं आम्र्डफोर्स के हैल्थ केयर वर्कर्स के लिए उपलब्ध कराई गई है।प्रत्येक सेशन साईड पर 3 कमरों की व्यवस्था होगी वेटिंग हाल, वैक्सीनेशन कमरा एवं आब्जरवेशन कमरा। इसके अतिरिक्त प्रत्येक साइड पर पानी पीने की व्यवस्था, शौचालय आवश्यक संसाधन जैसे सीरिज, मास्क, सेनेटाईजर एवं बायोमेडीकल वेस्ट मैनेजमेंट की व्यवस्था होगी।प्रत्येक टीकाकरण साइड पर 6 लोगों की एक टीम पदस्थ होगी जिसमें एक सुरक्षा गार्ड, एक वेरिफायर, दो वेक्सीनेटर, एक एएनएम/आंगनवाड़ी कार्यकर्ता एवं एक चिकित्सक को पदस्थ किया जायेगा। जिले में पर्याप्त रिजर्व टीम का भी प्रबंध किया गया है।
प्रत्येक वैक्सीनेशन सेशन में 100 लोगों का टीकाकरण किया जायेगा। टीकाकरण का समय प्रात: 9 बजे से सायं 5 बजे तक होगा। एक हफ्ते में 4 दिन टीकाकरण किया जायेगा। (मंगलवार, शुक्रवार एवं रविवार तथा राष्ट्रीय अवकाश दिवस पर कोरोना वैक्सीन नहीं लगाई जायेगी) प्रत्येक सेशन में आने वाले एचडब्ल्यूसी का चयन कोविन पोर्टल के माध्यम से किया जायेगा। हर व्यक्ति को जिसको टीका लगना है उसके रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर टीका लगाने का स्थान एवं समय एक दिन पूर्व सूचित किया जायेगा। एईएफआई मैनेजमेंट हेतु प्रत्येक साइड पर एक चिकित्सक, एनाफाईलेक्सिस किट और एक एम्बुलेंस उपलब्ध रहेगी। चिकित्सा महाविद्यालयों को भी एईएफआई मैनेजमेंट के लिए तैयार किया गया है।
कोविशील्ड की एक वैक्सीन वाटल में 10 डोज होंगे। खुलने के बाद वाटल को 6 घंटे के अंदर इस्तेमाल करना अनिवार्य है। हर व्यक्ति को वैक्सीन के दो डोज लगेंगे, दूसरा डोज अट्ठाईस दिन बाद लगाया जायेगा। सामान्य वैक्सीन की तरह इस वैक्सीन के भंडारण, परिवहन, होल्डिंग एवं क्या करें एवं क्या न करें कि जानकारी संस्था को पृथक से विस्तृत रूप से उपलब्ध कराई गई है।
जिले में कोरोना वैक्सीन लगाने के अभियान हेतु जिला स्तर पर कंट्रोल रूम की स्थापना की गई है। जिसमें हर समय मेडीकल एवं टेक्नीकल सहायता उपलब्ध रहेगी। इसके अलावा 1075 एवं 104 काल सेंटर भी मानीटरिंग हेतु उपलब्ध रहेंगे। जबलपुर जिले में बनाये गये कंट्रोल रूम जिसका दूरभाष नंम्बर 0761-2637501-505 एवं विक्टोरिया अस्पताल का इमरजेंसी नंबर 0761-2621650 एवं 2625002 है।

शेयर करें: