2019 जाते -जाते 7 थानों में सूदखोरों व भूमाफियों के खिलाप मामला दर्ज

0

जबलपुर :साल 2019 जाते -जाते पुलिस ने सूदखोरों व भूमाफियों पर अलग -अलग थाना क्षेत्रों में मामला दर्ज किए है जिनमें थाना रांझी, बेलबाग, गोहलपुर, अधारताल, गोरखपुर, तिलवारा,सहित विजय नगर थाना में सूदखोर एवं भू-माफियाओं के विरूद्ध पुलिस ने प्रकरण दर्ज किये है जिसमें पहला थाना रांझी है और इसके अतिरिक्त अन्य थाने भी शामिल है

1- थाना रांझीं में दिनांक 30-12-19 को राजकुमार धमेजा उम्र 59 वर्ष निवासी जयप्रकाश नगर अधारताल ने रिपोर्ट दर्ज कराई कि वह आर्डनेंस फेक्ट्री में नौकरी करता है , नीलकंठ नाईक भी उसके साथ फेक्ट्री में कार्यरत था जो फेक्ट्री में ही ब्याज पर पैसा उधार देता था उसे अक्टूबर 2016 में बच्चों की शादी के लिये पैसों की जरूरत थी, उसने नीलकंठ नाइक से पैसा उधार लेने की बात की, तो नीलकंठ नाइक ने अक्टूबर 2016 में 02 लाख रूपये 5 प्रतिशत की ब्याज दर से उधार दिये और सिक्योरिटी बतौर तीन ब्लैंक चैक एवं कोरे 2 स्टाम्प पेपर में हस्ताक्षर करवाकर ले लिये, हर माह वह 10 हजार रूपये दे रहा था, नीलकंठ कुछ समय बाद उसे अधिक पैसो के लिये परेशान करने लगा तो उसने एक्सिस बैंक से 4 लाख 29 हजार रूपये का लोन लेकर जुलाई 2018 में नीलकंठ के घर जाकर 2 लाख रूपये उधारी के चुकता कर दिये तथा अपने चैक एवं स्टाम्प पेपर वापस मांगे तो नीलकंठ बोला कि कल लाकर दे दूंगा, वह निरंतर स्टाम्प पेपर एवं चैक मांगता रहा लेकिन नीलकंठ ने वापस नहीं किये, कुछ दिनों से तुम्हारा कर्ज अभी पूरा नहीं चुका है, कहते हुये और 2 लाख 60 हजार रूपये की मांग कर धमका रहा है, उसके द्वारा और पैसे न देने पर चैक बैंक में लगाते हुये उस पर फर्जी केस लगा दिया है। नीलकंठ से 2 लाख रूपये उधार लेकर 4 लाख रूपये से ज्यादा वापस कर चुका है किन्तु नीलकंठ और 2 लाख 60 हजार रूपये की मांग कर उसे प्रताडित कर रहा है। रिपोर्ट पर नीलकंठ नाईक के विरूद्ध धारा 384 भादवि 4 कर्जा एक्ट का अपराध पंजीबद्ध कर आरोपी की गिरफ्तारी के प्रयास जारी है।
2- थाना बेलबाग में दिनॅाक 31-12-19 को जय प्रकाश गुप्ता उम्र 60 वर्ष निवासी छुई मोहल्ला ने लिखित शिकायत की कि अक्टूबर 2015 में बेटी की शादी का कर्ज चुकाने के लिये संजय जाट निवासी बेलबाग से 10 प्रतिशत ब्याज की दर से 1 लाख 38 हजार रूपये उधार लिये थे जिसे 28 हजार रूपये वापस कर दिये उसके बाद से 7 प्रतिशत की ब्याज दर से 10 हजार रूपये प्रतिमाह देते आ रहा था । 2 माह पहले वह संजय जाट को ब्याज के रूपये नही दे पाया, इसी बात पर संजय जाट उसके साथ गालीगलौज कर बेज्जती करता है, दिनॉक 6-1-2020 तक रूपये वापस न करने पर जान से खत्म कर मकान पर कब्जा कर लेने की उसे व उसके परिवार के लोगों को धमकी दे रहा है। शिकायत पर धारा 384,294,506 भादवि 3, 4 म.प्र. ़ऋणियों का संरक्षण अधिनियम का अपराध पंजीबद्ध कर आरोपी की गिरफ्तारी के प्रयास जारी है।
3- थाना गोहलपुर में दिनॉक 30-12-19 सुचिता सोनी उम्र 38 वर्ष निवासी वल्लभ पंत वार्ड मिलौनीगंज ने लिखित शिकायत की कि दिनॉक 3-3-19 को 4-30 बजे आदित्य गुप्ता नाम का व्यक्ति उससे मिला बोला हम आवास योजना में आपका काम करवा देंगे, उसे बातों में गुमराह करके उससे 20 हजार रूपये ले लियें है। शिकायत जांच पर आदित्य गुप्ता द्वारा आवास योजना का लाभ दिलाने के नाम पर 20 हजार रूपये लेकर हडपते हुये धोखाधडी की जाना पाया जाने पर आदित्य गुप्ता के विरूद्ध धारा 420 भादवि का अपराध पंजीबद्ध कर आरोपी की तलाश जारी है।
4- थाना गोहलपुर में आज दिनॉक 31-12-19 को आनंद पहारिया उम्र 35 वर्ष निवासी बिनकोबार के पीछे गोहलपुर ने लिखित शिकायत की कि वह मौसम विभाग कार्यालय के पास अधारताल में शिव मार्केटिंग के नाम से मोबाईल का व्यवसाय करता है, मोह. आसिफ मंसूरी निवासी मंसूराबाद, से दोस्ती है इसी के चलते आसिफ मंसूरी ने उसे करोंदा बाईपास में लगभग 2 एकड़ जमीन व डॉ. राममनोहर लोहिया वार्ड स्थित अघेरीबाबा मंदिर के सामने 2400 वर्ग फिट का भूखण्ड यह कहते हुये दिखाया कि उपरोक्त दोनो सम्पत्तियॉ उसके स्वामित्व की हैं, आसिफ ने बताया कि वर्तमान में पैसो की बहुत आवश्यकता है इसलिये दोने सम्पत्तियॉ कम दाम मे बेच रहा है, आसिफ से दोने सम्पत्तियो का सौदा 1 करोड 10 लाख मे तय किया, आसिफ को बयाना बतौर 20 लाख रूपये दिये, आसिफ के द्वारा अपनी आर्थिक जरूरतें बातते हुये लगभग 4 वर्षो में 70 लाख रूपये प्राप्त कर लिये गये, उसने आसिफ से कहा कि शेष बची रकम लेकर दोनों सम्पत्तियो की रजिस्टी करवाकर उसे कब्जा दे दें तो आफिस हीला हवाली कर समय बढाने लगा, जब उसने दोने सम्पत्तियो की जानकारी प्राप्त की तो पता चला कि दोनो सम्पत्तियॉ किसी अन्य व्यक्ति के नाम पर है, आसिफ से इस सम्बंध में बात की तो आसिफ ने कहा मै तुम्हारी रकम मय नुकसानी सहित वापस कर दूंगा, पहली किश्त बतौर उसे 2 चैक 10-10 लाख रूपये के दिये, दोने चैकें को बैंक में लगाया, बैंक द्वारा दोने चैक इस टीप के साथ वापस कर दिये गये कि खाता पूर्व से बंद है,। आसिफ को इस सम्बंध में बताने व रूपये वापस मांगने पर झूठे केस में फसाने एवं जान से मारने की धमकी दे रहा है। आसिफ के द्वारा यह जानते हुये कि उपरोक्त सम्पत्तियॉ उसकी नहीं है, तथा उसका खाता बंद है रकम हडपने की नियत से छल करते हुये उपरोक्त चैक जारी किये गये, उपरोक्त सम्पत्ति जिसका वह स्वामी नहीं उसका विक्रय अनुबंध कर 70 लाख रूपये लेकर हडपते हुये उसके साथ धोखाधडी की गयी है। रिपोर्ट पर पर धारा 420 भादवि का अपराध पंजीबद्ध कर आरोपी की गिरफ्तारी के प्रयास जारी है।
5- थाना अधारताल में दिनॉक 31-12-19 को हेमंत विश्वकर्मा उम्र 37 वर्ष निवासी सुहागी ने लिखित शिकायत की कि दिनॉक 21-6-18 को नोटराईज्ड विक्रय अनुबंध पत्र के माध्यम से महाराजपुर स्थित 14 हजार 400 वर्ग फिट के प्लाट में से 1200 वर्ग फिट का प्लाट 4 लाख 8 हजार रूपये में प्रदीप कुशवाहा निवासी शंकर नगर सुहागी से क्रय करने की चर्चा की थी, अरूण कुमार पटेल निवासी राईट टाउन गोलबाजार वालों से विक्रय पत्र मे हस्ताक्षर करवाया गया था, उक्त प्लाट अपनी पत्नि के नाम से क्रय किया तथा प्लाट में प्लिंथ का काम करवाया था। दिनॉक 30-12-19 को तहसीलदार एवं अन्य अधिकारियों ने आकर उसका निमार्ण कराया हुआ प्लिंथ तोड दिया एवं वहॉ स्थित सभी प्लाटों में सरकारी भूमि का बोर्ड लगाकर चले गये, प्रदीप कुशवाहा ने अशोक सिंह सेगर, धरविन्दर सिंह राजपूत, हेमेंन्द्र सिंह राजपूत, ओवेन्द्र सिंह राजपूत, राजकुमार विश्वकर्मा, राजाराम विश्वकर्मा, राजकुमार विश्वकर्मा,सत्येन्द्र पटेल, श्रीमति रेखा रजक, घसीटेलाल रजक, अरविंद पाल को भी इसी प्रकार प्लाट विक्रय किया है इसी प्रकार प्रदीप कुशवाहा के एक पार्टनर नेमचंद चढार उर्फ धर्मेन्द्र चढार निवासी शंकर नगर सुहागी द्वारा उक्त स्थान पर राममिलन रैकवार, श्रीमति अर्चना रैकवार , अशोक रैकवार, संतोष राय, श्रीमति नेहा बर्मन को एक हजार वर्गफिट का प्लाट तथा प्रदीप कुशवाहा के दूसरे पार्टनर गोविंद हल्दकार निवासी पुरानी बस्ती द्वारा 600-600 वर्ग फिट का प्लाट श्यामलाल केवट, मनोज कुमार केवट तथा मुकेश पटेल को छलपूर्वक विक्रय किया गया है। प्रदीप कुशवाहा, नेमचंद उर्फ धर्मेन्द्र चढार तथा गोविंद प्रसाद हल्दकार द्वारा सरकारी जमीन को स्वयं की होना बताते हुये बेचकर धोखाधडी की गयी है। शिकायत पर धारा 420 भादवि का अपराध पंजीबद्ध कर आरोंपियो की तलाश जारी है।
6- थाना गोरखपुर में दिनॉक 30-12-19 को रात 9-30 बजे संजय मलिक उम्र 43 वर्ष निवासी अहीर मोहल्ला गोरखपुर ने रिपोर्ट दर्ज करायी कि मार्च 2019 को राजेश विश्वकर्मा उसके घर आया, बोला कि 2-5 लाख रूपये का लोन पास करवा देता हूॅ, उसके उपर कर्ज था इस कारण उसने राजेश विश्वकर्मा से उसे 1 लाख 40 हजार रूपये का लेन लेना है कहा तो राजेश ने उससे एवं देव विनोदिया, कमलेश मलिक, रामनाथ मलिक, सुशीला कोरी, अनिल बिरहा, लता बाई भवरेल से लोन पास करवाने हेतु 10-
10 हजार रूपये ले लिये, राजेश ने कोई लोन पास नहीं करवाया , तथा उससे एंव उपरोक्त सभी से 10-10 हजार रूपये लेकर धोखाधडी की है, रूपये मांगने पर रूपये वापस नहीं कर रहा है। शिकायत पर धारा 420 भादवि का अपराध पंजीबद्ध कर आरोंपियो की तलाश जारी है।
7- थाना तिलवारा में आज दिनॉक 31-12-19 को रमेश कोष्टी उम्र 56 वर्ष ने लिखित शिकायत की कि वह तहसील गोरखपुर में राजस्व निरीक्षक के पद पर पदस्थ है, तहसीलदार गोरखपुर के आदेशानुसार जांच पर ग्राम रमनगरा प.ह.न. 7 में भू-माफिया मनोहर राम निवासी रमनगरा, शशि वैदेही एवं अजय, अभय, अंकिता वैदेही, श्रीमति मंजीत कौर, नोखे लाल द्वारा अपनी कृषि भूमि में अवैध रूप से प्लाटिंग कर प्लाट का विक्रय किया जाना पाया गया है, नगर निगम एवं टी.एन.सी.पी. से कोई स्वीकृति नहीं ली गयी है। शिकायत पर मनोहर राम निवासी रमनगरा, शशि वैदेही बेटे अजय, एवं अभय, तथा बेटी अंकिता वैदेही, चारों निवासी रमनगरा, मंजीत कौर निवासी दशमेश द्वार गुरूद्वारा के पास, नोखेलाल निवासी रमनगरा, के विरूद्ध धारा 420 भादवि का अपराध पंजीबद्ध कर प्रकरण विवेचना मे लिया गया।
8- थाना विजय नगर में पंकज राजपूत निवासी पूजा होम्स कचनार सिटी विजय नगर ने एक लिखित शिकायत की कि धर्मेश कुमार श्रीवास्तव निवासी सैनिक सोसायटी दानव बाबा शक्ति नगर गुप्तेश्वर एक दवा व्यवसायी है, जिसके द्वारा दवा व्यवसाय मे पैसे लगाकर हर माह पैसे कमाने के लिये एक समाचार पत्र में समाचार प्रकाशित कराया गया, चूंकि धर्मेश कुमार श्रीवास्तव उसके परिचित थे, जिनसे उसने बात की तो दवा व्यवसाय हेतु 10 लाख रूपये 1 वर्ष की समयावधि के लिये मांगे, उसने चैक के माध्यम से धर्मेश कुमार श्रीवास्तव को 10 लाख रूपये फरवरी 2018 मे प्रदान किये, धर्मेश कुमार श्रीवास्तव ने उक्त राशि अपने बैंक खाते में टांसफर करा ली, रूपये लेते समय धर्मेश ने एक अनुबंध पत्र लिखा था कि प्रत्येक माह की 30 तारीख को 60 हजार रूपये उसके एक्सिस बैंक के खाते में जमा करेगा, किन्तु धर्मेश कुमार ने अनुबंध की किसी भी शर्त का पालन नहीं किया, धोखाधडी कर उसके 10 लाख रूपये हडप लिये हैं, बार बार मांगने पर अपशब्दों का प्रयोग करता है। धर्मेश कुमार श्रीवास्तव ने और भी अन्य लोगो से उसकी तरह ही रूपये लेकर धोखाधडी की है। शिकायत पर धारा 420 भादवि का अपराध पंजीबद्ध कर आरोपी की गिरफ्तारी के प्रयास जारी है।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
ख़बर चुराते हो अभी पोलखोल दूंगा
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x