राशियों का उनके जातकों के जीवन पर प्रभाव 

**ज्योतिषचार्य निधिराज त्रिपाठी अनुसार———-**
**ज्योतिष शास्त्र में कुल 12 राशियां हैं और हर राशि का अपना एक विशेष गुण होता है। राशि के इन्हीं गुणों का प्रभाव इन राशियों में जन्मे हुए जातकों पर पड़ता है**। उनके हाव-भाव, व्यवहार, शारीरिक संरचना, आर्थिक जीवन, पारिवारिक जीवन से लेकर करियर तक इन राशियों के गुण के प्रभाव से अछूते नहीं रहते हैं। ऐसे में कई ऐसी राशियां भी हैं जिनके सितारे शुरुआत से ही बुलंद रहते हैं और हर मोड़ पर किस्मत उनका साथ देती नजर आती है।

जीवन से जुड़ी हर छोटी बड़ी समस्या का समाधान जानने के लिए करें फोन पर बात और चैट करें (9302409892)

हालांकि इन राशियों पर ग्रहों के प्रभाव को अनदेखा नहीं किया जा सकता है लेकिन कुछ राशियां ऐसी भी हैं जिन्हें अक्सर करियर में गज़ब की तरक्की मिलती है। ऐसे में आज हम इस लेख में आपको उन तीन राशियों के बारे में बताने वाले हैं जिन्हें अक्सर सरकारी नौकरियां प्राप्त होती हैं और वे इन नौकरियों में उच्च पद पर विराजमान होते हैं।

**सिंह राशि**
सिंह राशि के स्वामी भगवान सूरी हैं। सूर्य को यश व किर्ति का देवता माना जाता है। यही वजह है कि सिंह राशि के ज़्यादातर जातकों को सरकारी नौकरी प्राप्त होती है। इसके अलावा इस राशि के जातकों के अंदर मेहनत व लगन के गुण मौजूद होते हैं जिसकी वजह से ये जातक सरकारी नौकरी के लिए उपयुक्त पात्र बनते हैं। हालांकि अगर सिंह राशि के जातक निजी नौकरियों या फिर व्यापार के क्षेत्र में भी करियर बनाते हैं तो वहाँ भी इन्हें तरक्की मिलती है। सिंह राशि के जातकों के अंदर प्रबंधन करने का जन्मजात हुनर होता है जो इन्हें किसी भी क्षेत्र में उच्च पद हासिल करने में मदद करता है।

**कन्या राशि**
कन्या राशि के स्वामी ग्रह बुध देवता हैं। बुध देवता आर्थिक जीवन, संचार व व्यापार के कारक माने जाते हैं। ऐसे में कन्या राशि के जातकों के जीवन में अक्सर दो पड़ाव देखने को मिलते हैं। पहला यह कि या तो ये जातक नौकरी करते हैं और बहुत ही उच्च पद पर विराजमान होते हैं या तो फिर ये जीवन भर बेरोजगार बने रहते हैं। चूंकि इस राशि के स्वामी बुध होते हैं इसलिए इस राशि के जातकों के अंदर एकाग्रचित्त रह कर काम करने का गुण मौजूद होता है और अपने इस स्वभाव या गुण की वजह से ये खुद को इतना योग्य बना लेते हैं कि इन्हें छोटी नौकरियाँ पसंद ही नहीं आती हैं जिसकी वजह से ये बेरोजगार रह जाते हैं। अपने मेहनती और तेज दिमाग की वजह से कन्या राशि के जातक जिस क्षेत्र में भी जाते हैं वहाँ नयी ऊंचाइयों को छूते हैं।

**तुला राशि**
तुला राशि के जातकों का स्वामी ग्रह शुक्र को माना जाता है। शुक्र भौतिक सुखों के दाता माने जाते हैं। ऐसे में तुला राशि के जातकों के अंदर भौतिक सुखों को प्राप्त करने की प्रबल इच्छा होती है और ये उसे पाने का हरसंभव प्रयास करते नजर आते हैं। इनकी हार न मानने की इच्छाशक्ति इन्हें निरंतर प्रयास करने को प्रेरित करती रहती है जिसकी वजह से ये जातक जिस भी क्षेत्र में जाते हैं बहुत ही शीघ्र बुलंदियों तक पहुँच जाते हैं। यही वजह है कि इस राशि के लोग भी सरकारी नौकरी में बड़े-बड़े पदों पर अक्सर आपको देखने को मिल जाते हैं।

**हम उम्मीद करते हैं कि आपको हमारा यह लेख जरूर पसंद आया होगा। अगर ऐसा है तो आप इसे अपने अन्य शुभ चिंतकों के साथ जरूर साझा करें। धन्यवाद!**

**लेकिन, यदि आपके मन में कोई और दुविधा है या इस संदर्भ में आप और ज्यादा विस्तृत जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं ज्योतिष व वास्तु के लिए सम्पर्क करे* **ज्योतिषचार्य निधिराज त्रिपाठी** अगर आपको ग्रह दशा के बारे में जानकारी चाहिए तो आप हमें +91-9302409892 पर कॉल करें। या आप हमें
“अपना नाम”
“जन्म दिनांक”
“जन्म समय”
“जन्म स्थान”
व्हाट्सएप करें!! धन्यवाद
ज्योतिष शास्त्र के अनुसार देखा जाए तो हर व्यक्ति का जन्म होते ही वह अपने प्रारब्ध के चक्र से बंध जाता है और ज्योतिषशास्त्र द्वारा निर्मित जन्म कुंडली हमारे इसी प्रारब्ध को प्रकट करती है। हमारे जीवन में सभी घटनाएं बारह राशि व नवग्रह द्वारा ही संचालित होती हैं। इन ग्रहों का आपके जीवन पर आने वाले समय में कैसा प्रभाव पड़ेगा इसके बारे में विस्तृत जवाब जानने के लिए अभी आप भी कर्ज़ की समस्या से परेशान हैं, और उससे जुड़ा कोई व्यक्तिगत उपाय, निवारण जानना चाहते हों या इससे जुड़े किसी सवाल का जवाब चाहिए हो तो
अभी इस नंबर पर आप संपर्क कर सकते हैं l 9302409892

शेयर करें: