आईपीएल क्रिकेट मैच का सट्टा ख़िलाते 1 सटोरिया गिरफ्तार 

जबलपुर:आईपीएल क्रिकेट मैच का सट्टा खिला रहे एक सटोरिया को पुलिस ने रंगे हाथ गिरफ्तार किया है, पकड़े गए सटोरिये के कब्जे से नगद 4500 रूपये एवं 4 मोबाइल, 1 टीव्ही, 1 सैटअप बॉक्स आदि जप्त करते हुए कार्यवाही की गई है, गौरतलब है की पुलिस अधीक्षक जबलपुर  सिद्धार्थ बहुगुणा (भा.पु.से.)* द्वारा द्वारा चल रहे आईपीएल क्रिकेट मैच का सट्टा खिलाने वाले एंव सट्टा लिखने वाले सटोरियों की धरपकड़ एवं उनके विरूद्ध प्रभावी कार्यवाही हेतु समस्त राजपत्रित अधिकारियों एवं सभी थाना प्रभारियों को आदेशित किया गया है।आदेश के परिपालन में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक शहर  गोपाल खाण्डेल एवं अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक दक्षिण/अपराध  संजय कुमार अग्रवाल के मार्गदर्शन में क्राईम ब्रांच एवं थाना अधारताल की टीम के द्वारा क्रिकेट का सट्टा खिलाते हुये सटोरियें को रंगे हाथ पकडा गया है।

ऐसे पकड़ में आया सटोरिया

थाना प्रभारी अधारताल  शैलेष मिश्रा ने बताया कि आज दिनाँक 15/05/2022 को क्राईम ब्राचं को विश्वसनीय मुखबिर से सूचना प्राप्त हुई कि झण्डा चौक निवासी राकेश साहू अपने घर से आज लखनउ सुपर जायंट्स विरूद्ध राजस्थान रायल्स के बीच चल रहे आईपीएल मैच में हार जीत का दांव लगवाकर क्रिकेट का सट्टा खिलवा रहा है।सूचना पर क्राईम ब्रांच एवं थाना अधारताल की संयुक्त टीम द्वारा दबिश दी गयी, एक व्यक्ति कमरे के अंदर बैठकर टीवी में मैच देखकर मोबाईल पर बातचीत करते हुये क्रिकेट का सट्टा लिखते हुये मिला पूछताछ पर अपना नाम राकेश साहू उम्र 47 वर्ष निवासी झण्डा चौक जय प्रकाश नगर का रहने वाला बताते हुये उक्त मकान स्वयं का होना बताया। चैक करने पर एक पन्ने में लगाई खाईबाजी का हिसाब लिखा हुआ मिला, पूछताछ पर राकेश साहू ने सट्टे की लाईन नरसिंहपुर निवासी नीरज राय से लेकर सट्टे की लगाई-खाईबाजी करना स्वीकार किया, आरोपी के कब्जे से 4 मोबाईल, 1 टीव्ही, 1 सैटअप बॉक्स, नगद 4500 रूपये, हिसाब किताब का एक पन्ना, जप्त करते हुये सटोरिये राकेश साहू एवं नीरज राय के विरूद्ध धारा 4 (क) सट्टा एक्ट एवं 109 भादवि का अपराध पंजीबद्ध करते हुये नीरज राय की तलाश जारी है।

*उल्लेखनीय भूमिका* –

क्रिकेट के सट्टे के व्यापार मे लिप्त सटोरिये को पकडने में क्राईम ब्रांच के सहायक उप निरीक्षक धनंजय सिंह , प्रधान आरक्षक ब्रजेन्द्र सिंह, आरक्षक मोहित उपाध्याय, खेमचंद, वीरेन्द्र सिंह, एवं थाना अधारताल के उप निरीक्षक चंद्रकांत झा, प्रधान आरक्षक अजीत पटेल, मोहन थापा, तथा सायबर सेल के प्रधान आरक्षक अमित पटेल की सराहनीय भूमिका रही।

शेयर करें: