हर जरूरतमंद को सरकारी योजनाओं का लाभ दिलाना सुनिश्चित करें—प्रभारी मंत्री

जिला योजना समिति की बैठक में लिए गए कई अहम निर्णय
प्रभारी मंत्री ने बिजली, पेयजल और खाद-बीज की उपलब्धता के दिए निर्देश
जबलपुर :प्रदेश के ऊर्जा मंत्री और जबलपुर जिले के प्रभारी मंत्री श्री प्रियव्रत सिंह की अध्यक्षता में आयोजित जिला योजना समिति की बैठक में शासन की प्राथमिकता वाली योजनाओं का मैदानी स्तर पर बेहतर क्रियान्वयन सुनिश्चित करने तथा बिना किसी भेदभाव के हर जरूरतमंद तक इनका लाभ पहुंचाने के निर्देश अधिकारियों को दिये गये हैं । कलेक्टर कार्यालय के सभाकक्ष में संपन्न हुई इस बैठक में जिले के नगरीय और ग्रामीण क्षेत्रों में विद्युत आपूर्ति की समीक्षा की गई । इसके साथ ही खरीफ के मौसम में खाद-बीज की उपलब्धता, पेयजल आपूर्ति, जल संरक्षण तथा वृक्षारोपण जैसे महत्वपूर्ण मुद्दों पर विस्तार से इस बैठक में की गई । प्रदेश के सामाजिक न्याय एवं नि:शक्तजन कल्याण मंत्री श्री लखन घनघोरिया, जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती मनोरमा पटैल, विधायक अजय विश्नोई, श्रीमती नंदिनी मरावी, श्री अशोक रोहाणी, श्री विनय सक्सेना, श्री संजय यादव, राज्यसभा सांसद के प्रतिनिधि श्री प्रेम दुबे, कलेक्टर श्री भरत यादव, पुलिस अधीक्षक अमित सिंह, जिला पंचायत की सीईओ रजनी सिंह, नगर निगम आयुक्त आशीष कुमार तथा समिति के अन्य सदस्‍य बैठक में मौजूद थे । प्रभारी मंत्री ने बैठक की शुरूआत में खरीफ के दौरान किसानों को वितरण के लिए खाद-बीज की उपलब्धता का ब्यौरा अधिकारियों से लिया । उन्होंने डबललॉक केन्द्रों से समिति स्तर तक खाद-बीज के अग्रिम भंडारण की जानकारी भी ली । श्री सिंह ने किसानों को गुणवत्तापूर्ण खाद-बीज की उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिए बुआई के पूर्व निजी संस्थानों से खाद-बीज के नमूने एकत्र करने और उनका परीक्षण कराने के निर्देश दिये । उन्होंने नकली और घटिया किस्म के बीज रखने वाले निजी संस्थानों के विरूद्ध सख्त कार्यवाही करने पर जोर दिया । प्रभारी मंत्री ने जिले की विद्युत आपूर्ति की स्थिति की समीक्षा करते हुए बिजली विभाग के अधिकारियों को जिले के शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में विद्युत की निर्बाध आपूर्ति के निर्देश दिये हैं । श्री सिंह ने कहा कि बिजली की बिना वजह कटौती न हो यह हर हाल में सुनिश्चित करना होगा । प्रभारी मंत्री ने बैठक में मौजूद सदस्यों को बताया कि तापमान में हो रही वृद्धि के कारण फिलहाल कुछ दिनों के लिए मेन्टेनेंस का काम स्थगित कर दिया गया है । उन्होंने विद्युत लाइनों के रखरखाव को आवश्यक बताते हुए कहा कि बिजली विभाग के अधिकारियों को एक-दो बार बारिश हो जाने के बाद तापमान में गिरावट आने पर ही मेन्टेनेंस के काम को प्रारंभ करने के निर्देश दिये गये हैं । प्रभारी मंत्री ने विद्युत वितरण कंपनी के अधिकारियों को बारिश के दौरान विद्युत की आपूर्ति बाधित न हो इसके लिए सप्लाई लाइनों एवं वितरण ट्रांसफार्मरों के मेन्टेनेंस पर भी ज्यादा ध्यान देने के निर्देश दिये । उन्होंने सभी शासकीय और निजी अस्पतालों को विद्युत की निर्बाध आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए वैकल्पिक फीडर की व्यवस्था करने पर जोर दिया । इसके साथ ही सभी वाटर हेड टेंक्स को भी दोहरे फीडर से जोड़ने के निर्देश दिये । प्रभारी मंत्री ने इंदिरा गृह ज्योति योजना के नये प्रावधानों का व्यापक प्रचार-प्रसार करने के निर्देश भी विद्युत विभाग के अधिकारियों को दिये । उन्होंने इस योजना के हितग्राहियों के बिजली बिलों में सुधार के लिए वितरण केन्द्र स्तर पर गठित समितियों की नियमित बैठकें आयोजित करने की हिदायत दी तथा उपभोक्ताओं को बिजली की खपत में मितव्ययता बरतने के लिए प्रेरित करने के निर्देश दिये । प्रभारी मंत्री ने जिले के ग्रामीण और शहरी क्षेत्रों में पेयजल आपूर्ति की स्थिति पर चर्चा करते हुए जहां भी आवश्यकता हो वहां परिवहन के माध्यम से जलापूर्ति सुनिश्चित करने के निर्देश अधिकारियों को दिये । उन्होंने पेयजल समस्या के स्थायी निराकरण के लिए चिन्हित क्षेत्रों में समूह नल-जल योजना का प्रस्ताव तैयार करने की बात कही । प्रभारी मंत्री ने जबलपुर शहर खासतौर पर पूर्व विधानसभा क्षेत्र और केंट विधानसभा के कुछ क्षेत्रों में पेयजल आपूर्ति के लिए नगर निगम द्वारा पर्याप्त प्रयास नहीं किये जाने पर अप्रसन्नता व्यक्त की । उन्होंने निगम आयुक्त को शहर में पेयजल आपूर्ति का दायित्व संभालने वाले अधिकारियों के बीच समन्वय स्थापित करने उपायुक्त स्तर के अधिकारी को नियुक्त करने के निर्देश दिये । श्री सिंह ने निगमायुक्त को शहर में पेयजल आपूर्ति की स्थिति पर नजर रखने तथा संबंधित अधिकारियों से प्रतिदिन की रिपोर्ट तलब करने के निर्देश भी दिये । उन्होंने शहर में पेयजल की आपूर्ति के लिए जिम्मेदार नगर निगम के अधिकारियों को स्थिति में तत्काल सुधार लाने की हिदायत देते हुए उन्हें कार्यवाही की चेतावनी भी दी । प्रभारी मंत्री ने बैठक में जिले में जल संरक्षण के लिए किये जा रहे प्रयासों और पौधारोपण की तैयार कार्ययोजना पर भी समिति के सदस्यों के साथ विसतार से विचार-विमर्श किया । श्री सिंह ने नर्मदा नदी से जिले की अन्य नदियों को जोड़ने तथा बरगी बांध की नहरों से ग्रामीण क्षेत्र में स्थित तालाबों को जोड़े जाने के सदस्यों से मिले सुझावों का परीक्षण करने तथा इसकी कार्ययोजना तैयार करने के निर्देश अधिकारियों को दिये । उन्होंने तालाबों के गहरीकरण के लिए भी समुचित राशि आबंटित किये जाने का सुझाव दिया । प्रभारी मंत्री ने तेवर स्थित तालाब के सौंदर्यीकरण और इसे पर्यटन की दृष्टि से विकसित करने के लिए डीपीआर तैयार करने की बात भी कही । प्रभारी मंत्री ने बैठक में वर्षाकाल के दौरान पौधारोपण के लिए ऐसे स्थानों को प्राथमिकता देने की जरूरत बताई जहां लगाये गये पौधों की सुरक्षा की जा सके । उन्होंने जिले की आवोहवा के अनुकूल छायादार और फलदार पौधे लगाने के निर्देश भी दिये । प्रभारी मंत्री ने पौधारोपण के कार्य में सामाजिक संगठनों और जनता की भागीदारी सुनिश्चित करने पर भी जोर दिया । उन्होंने जबलपुर और जिले के अन्य नगरीय क्षेत्रों के आसपास वन विभाग की उपलब्ध भूमि पर पौधारोपण की कार्ययोजना बनाने के निर्देश दिये । श्री सिंह ने नगर निगम के अधिकारियों से भी कहा कि पौधारोपण के लिए अन्य किसी एजेंसी से पौधे खरीदने की बजाय वन विभाग से ही अपनी आवश्यकता के अनुसार पौधे प्रापत करें । प्रभारी मंत्री ने बैठक में दस्तक अभियान की समीक्षा भी की और इसके सफल क्रियान्वयन के लिए समुदाय एवं संगठनों की भागीदारी सुनिश्चित करने की हिदायत दी । प्रभारी मंत्री ने बैठक में शहर में तीन नये नशामुक्ति केन्द्रों को खोलने के प्रस्ताव तैयार करने के निर्देश अधिकारियों को दिये हैं । इसके साथ ही उन्होंने सामाजिक न्याय मंत्री श्री लखन घनघोरिया के सुझाव पर तहसीली चौक से रद्दी चौकी तक फ्लाई ओव्हर के निर्माण के लिए डीपीआर तैयार करने, सुपर मार्केट से मालवीय चौक तक रात्रिकालीन बाजार की योजना पर अमल के लिए समिति गठित करने, गोहलपुर थाने के सामने नाले पर बने पुल का चौड़ीकरण करने, नये महाविद्यालय खोलने के लिए विजय नगर, शहपुरा और चरगवां में भूमि चिन्हित कर डीपीआर तैयार करने, नर्मदा सेवा यात्रा के दौरान बरगीनगर में बनाये गये अस्पताल भवन के उन्नयन का प्रस्ताव तैयार करने और पूर्व में इसके निर्माण में बरती गई अनियमितताओं की जांच करने के निर्देश भी दिये । प्रभारी मंत्री ने बैठक में जबलपुर से तहसील कार्यालय, अनुविभागीय राजस्व अधिकारी कार्यालय और जनपद कार्यालय को बरगी स्थानांतरित करने तथा अनुविभागीय पुलिस अधिकारी कार्यालय को शहपुरा में स्थानांतरित करने की कार्यवाही करने के भी निर्देश बैठक में दिये ।
शेयर करें: