हताशा एवं तनाव को कम कर आत्मिक आनंद के स्त्रोत को खोलने की जिम्मेदारी निभायें , संभागायुक्त श्री बहुगुणा

0

जबलपुर :संभागायुक्त राजेश बहुगुणा ने कहा है कि सकारात्मक सोच, समाज एवं जनहित के कार्यों के बड़े लक्ष्य, सांस्कृतिक आयोजन, खेल, मनुष्य में मानसिक, शारीरिक और भावात्मक कुशलता, शांति और आनन्द बढ़ाने में मुख्य कारक होते हैं । लोगों की हताशा और तनाव को कम कर उनमें आत्मिक आनन्द के स्त्रोत को खोलने की जिम्मेदारी निभायी जानी चाहिये । संभागायुक्त श्री बहुगुणा सेंट थामस स्कूल के सभाकक्ष में राज्य आनन्दम् संस्थान के तत्वावधान में अध्यात्म विभाग के अंतर्गत आयोजित जिला सतरीय आनन्दम् सम्मेलन एवं प्रशिक्षण कार्यक्रम को मुख्य अतिथि के रूप में संबोधित कर रहे थे । इस अवसर पर कलेक्टर भरत यादव, जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी प्रियंक मिश्र, अपर कलेक्टर हर्ष दीक्षित भी मौजूद थे । संभागायुक्त ने कहा कि सिर्फ भौतिक सुत्व सुविधाओं से सच्चे आनन्द की प्राप्ति संभव नहीं है । अच्छे कार्यों के बड़े लक्ष्य, जनहित के कार्य, ध्यान, योग, खेलकूद, अच्छे साहित्य के अध्ययन और सत्संग के माध्यम से व्यक्ति के भीतर आनन्द का स्त्रोत खुलता है । आनंद मन की एक अवस्था है । अपना कार्य अच्छे से करने पर आनन्द भाव जागृत होता है । संभागायुक्त ने अध्यात्म विभाग अंतर्गत प्रशिक्षण प्राप्त कर रहे प्रशिक्षकों से कहा कि अपने कार्य क्षेत्र में हताशा-तनाव को कम करने वाली सकारात्मक गतिविधियों का चयन करें और जन सहयोग से संचालित करें । समाज के भीतर छोटे-छोटे समूह बनाकर भ्रमण कार्यक्रम आयोजित किये जायं । अच्छी पुस्तकों का अध्ययन सहभागिता से किया जाय जिसमें न्यूनतम खर्च में बेहतर अध्ययन का लाभ मिले । संभागायुक्त ने कहा कि देशी खेलों में टीम की जरूरत होती है । आनंद के विसतार के लिये ग्रामीण खेलों को बढ़ावा दें। उत्तरदायित्व को बोझ नहीं मानें आनंदपूर्वक किया गया कार्य बहुत बेहतर होता है । कलेक्टर भरत यादव ने कहा कि आनंदम् के प्रशिक्षण प्रापत कर रहे प्रशिक्षक स्वयं खुश रहे और समुदाय को खुश रखें । लोगों को प्रेरित करें कि वे अपनी रूचि को पूरा करने की कोशिश करें । हर परिस्थिति में प्रसन्न रहने की आदत बनायें । किसी को परेशान करने की भावना से कोई भी कार्य नहीं करें । सम्मेलन में 136 प्रतिभागियों ने हिस्सा लिया । प्रशिक्षण कार्यक्रम के मास्टर ट्रेनर्स उपेन्द्र यादव, सीमा मिश्रा, दीप्ति ठाकुर, प्रतिभा दुबे थीं । नोडल अधिकारी एसडीएम नम:शिवाय अरजरिया थे । सहायक नोडल अधिकारी हेमंत सिंह थे ।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
ख़बर चुराते हो अभी पोलखोल दूंगा
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x