स्कूली छात्रों से बोले कलेक्टर ,उनमें वो काबिलियत है कि सफलता उनसे दूर नहीं रह सकती

0

जबलपुर :स्कूली बच्चों को सही कैरियर और उपयुक्त विषय चुनने में मदद करने जिला प्रशासन द्वारा आज शनिवार को कैरियर गाइडेंस कार्यक्रम “आसमाँ के पार ” का आयोजन किया गया । मॉडल स्कूल में आयोजित इस कार्यक्रम में कलेक्टर भरत यादव ने अपने प्रेरक उद्बोधन में बच्चों को बडा लक्ष्य तय करने और उसे पाने के लिए कड़ी मेहनत करने की सलाह दी । उन्होंने कहा कि यही वह समय है जब बच्चों को तय करना होगा कि उन्हें किस क्षेत्र में अपना कैरियर बनाना है ।
श्री यादव ने कहा कि सफलता प्राप्त करने के लिये सिर्फ पढ़ाई ही नहीं , व्यक्तित्व के विकास पर भी ध्यान दिया जाना जरूरी है । बच्चों को पढ़ाई के साथ-साथ खेलकूद एवं अन्य गतिविधियों में भी भाग लेना होगा । जिज्ञासु एवं मुखर तथा खुद की काबिलियत पर भरोसा करने वाला बनना होगा । श्री यादव ने कहा कि देश विदेश के घटनाक्रम की जानकारी के लिये बच्चे समाचार पत्र पढ़ें और न्यूज़ चैनल भी देखें । लेकिन इन सबसे ऊपर उन्हें अनुशासन को तरजीह देनी होगी । उन्होंने इस मौके पर उच्च शिक्षा के लिए शासन द्वारा दी जा रही सहायता एवं बैंकों के एजुकेशन लोन का जिक्र करते हुए कहा कि आज सामान्य परिस्थितियों में पले – बढ़े बच्चे भी अपनी राह चुन सकते हैं और आगे बढ़ सकते हैं । श्री यादव ने इस अवसर पर कार्यक्रम में शामिल बच्चों का हौसला बढ़ाते हुए कहा कि वे अभी से तय कर लें कि उन्हें क्या बनना है और उसे प्राप्त करने परिश्रम करें, उनमें वो काबिलियत है कि सफलता उनसे दूर नहीं रह सकती।
कार्यक्रम में जिला पंचायत के सीईओ प्रियंक मिश्र ने बच्चों से कहा कि जिस क्षेत्र में उन्हें ज्यादा रुचि है, जो विषय उन्हें अच्छे लगते हैं , वही विषय उन्हें आगे की पढ़ाई के लिये चुनने चाहिए । सीईओ ने कहा कि अच्छे अंको से परीक्षा पास कर लेने का मतलब यह कतई नहीं है कि आगे की पढ़ाई विज्ञान या गणित विषय में ही की जाए । उन्होंने कहा कि दसवीं की परीक्षा अच्छे अंको से पास करने वाले बच्चों के माता- पिता को भी उस पर गणित या विज्ञान विषय को चुनने का दबाव नहीं डालना चाहिए ।
जिला पंचायत सीईओ ने इस मौके पर कैरियर को लेकर बच्चों से सवाल भी किये । उन्होंने बच्चों से जाना कि वे किस क्षेत्र में अपना कैरियर बनाना पसन्द करते हैं । श्री मिश्र ने बच्चों द्वारा पूछे गए प्रश्नों का जवाब भी दिया और उनकी जिज्ञासा का समाधान किया । उन्होंने कहा कि बच्चों को सवाल- जवाब करने में संकोच या झिझक छोड़ देनी चाहिए लेकिन इसके साथ ही उन्हें संयम और अनुशासन में रहना होगा ।
आसमाँ के पार कार्यक्रम में एसडीएम आधारताल आशीष पांडे ने स्कूली बच्चों को सफलता के तीन टिप्स बताए । उन्होंने कहा कि पढ़ते समय पांचों सेंस सिर्फ पढ़ाई पर ही केंद्रित होने चाहिए इससे आप जो कुछ भी पढ़ेंगें वो कभी भूलेंगे नहीं । श्री पांडे ने बच्चों से हमेशा माता-पिता का आदर करने और गुरुओं का सम्मान करने की बात कही । उन्होंने कहा कि इन तीनों बातों को जो भी अपनाएगा उसे सफल होने से कोई रोक नहीं सकेगा । कार्यक्रम में मॉडल स्कूल के कक्षा दसवीं , ग्यारहवीं और बारहवीं के बच्चे मौजूद थे । कार्यक्रम के दौरान कई बच्चों ने सेना,पैरामेडिकल फोर्स , मेडिकल,इंजीनियरिंग, शिक्षा और विधिक क्षेत्र को अपनी पहली पसंद बताया तथा कैरियर के रूप में अपनाने की इच्छा जताई । इस मौके पर छात्र-छात्राओं को विभिन्न तकनीकी एवं व्यावसायिक पाठ्यक्रमों की जानकारी भी विषय विशेषज्ञों द्वारा दी गई । कार्यक्रम में मॉडल स्कूल की प्राचार्य श्रीमती वीणा वाजपेयी, शासकीय विज्ञान महाविद्यालय के प्रोफेसर संजय अवस्थी भी मौजूद थे । कार्यक्रम का संचालन गिरीश मैराल ने किया और आभार प्रदर्शन कार्यक्रम के संयोजक अजय दुबे ने किया ।
कार्यक्रम के समापन पर स्कूली बच्चों से निधारित प्रपत्र में फीडबैक भी लिया गया । आसमाँ के पार कार्यक्रम में शामिल हुए सभी बच्चों ने इसे अत्यंत उपयोगी बताया । बच्चों की राय थी कि इस कार्यक्रम से उनका आत्मविश्वास बढ़ा है इससे आगे की पढ़ाई के लिए विषय तथा कैरियर चुनने में भी उन्हें आसानी होगी । उन्होंने कार्यक्रम के निरन्तर आयोजन की जरूरत भी बताई ।
कार्यक्रम के अंत मे जिला पंचायत के सीईओ ने बताया कि सेना को कैरियर के रूप में चुनने वाले बच्चों के लिए अलग से कैरियर गाईडेंस का कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा । इसके साथ ही उन्होंने अलग – अलग क्षेत्र में कैरियर बनाने के इच्छुक विद्यार्थियों के लिए अलग – अलग कार्यक्रम आयोजित करने की रूपरेखा तैयार किये जाने की बात भी कही ।आसमाँ के पार कार्यक्रम के तहत कैरियर गाईडेंस के यह कार्यक्रम विकासखण्ड मुख्यालयों पर भी आयोजित किये जायेंगे ।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
ख़बर चुराते हो अभी पोलखोल दूंगा
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x