सोमवार से प्रारंभ होगी जिले के किसानों से समर्थन मूल्य पर धान की खरीदी

0

17 खरीदी केन्द्रों से होगी उपार्जन की शुरूआत
कलेक्टर ने उपार्जन व्यवस्था से जुड़े अधिकारियों की ली बैठक

निम्न गुणवत्ता का धान किसी सूरत में स्वीकार न करने के निर्देश

जबलपुर :राज्य शासन के निर्देशानुसार जबलपुर जिले में किसानों से समर्थन मूल्य पर धान की खरीदी कल सोमवार 2 दिसंबर से प्रारंभ होगी । कलेक्टर श्री भरत यादव ने आज रविवार को उपार्जन व्यवस्था से जुड़े सभी अधिकारियों की बैठक लेकर खरीदी केन्द्रों पर किसानों के ‍लिहाज से सभी जरूरी सुविधायें सुनिश्चित करने के निर्देश दिये हैं ।बैठक में बताया गया कि जबलपुर जिले के किसानों से समर्थन मूल्य पर धान के उपार्जन के लिए 61 खरीदी केन्द्र स्थापित किये जा रहे हैं । इनमें से सत्ररह खरीदी केन्द्रों में कल सोमवार से ही धान का उपार्जन प्रारंभ कर दिया जायेगा । जिले में धान का उपार्जन के लिए मध्यप्रदेश राज्य सहकारी विपणन संघ को नोडल एजेंसी बनाया गया है । किसानों से धान का उपार्जन धान कामन 1815 रूपये प्रति क्विंटल तथा धान ग्रेड-ए 1835 रूपये प्रति क्विंटल की दर से किया जायेगा ।कलेक्टर श्री भरत यादव ने उपार्जन व्यवस्था से जुड़े अधिकारियों को खरीदी केन्द्रों पर किसानों के लिहाज से सभी जरूरी सुविधायें मुहैय्या कराने के निर्देश दिये हैं । उन्होंने कहा कि खरीदी केन्द्रों पर इलेक्ट्रॉनिक तौल मशीन, सिलाई मशीन, माईश्चर मीटर, छन्ना, पंखा आदि के साथ-साथ छाँव एवं पीने के पानी के पर्याप्त इंतजाम भी किये जायें । इसके साथ ही प्रत्येक खरीदी केन्द्रों पर बैनर एवं फ्लैक्स तथा सूचना पटल पर एफ.ए.क्यू. मापदण्डों और खरीदी की दरें भी प्रदर्शित की जायें ।
श्री यादव ने बैठक में साफ तौर पर कहा एफ.ए.क्यू. के मापदण्ड से निम्न गुणवत्ता की धान की खरीदी किसी भी हालत में न हो यह हर हालत में अधिकारियों को सुनिश्चित करना होगा । उन्होंने कहा कि खरीदी केन्द्र प्रभारियों एवं समिति प्रबंधकों को भी इस बारे में स्पष्ट हिदायत दे दी जाये कि नान एफ.ए.क्यू. धान खरीदने पर उनके विरूद्ध कठोर कार्यवाही की जायेगी । कलेक्टर ने बैठक में सभी खरीदी केन्द्रों पर बारदानों की पर्याप्त उपलब्धता तथा बारिश से उपज के बचाव हेतु तिरपाल की व्यवस्था करने के भी निर्देश दिये हैं ।
कलेक्टर ने बैठक में धान खरीदी केन्द्रों पर आने वाले किसानों के खाते एक बार पुन: जाँच करने की हिदायत भी दी । उन्होंने कहा कि किसानों के खाता नंबर सही-सही हो इसकी तसदीक कर ली जाये । यह सुनिश्चित कर लिया जाये कि अवयस्क के नाम पर, जन-धन योजना अथवा संयुक्त नाम से किसानों के खाते न हों । ताकि भुगतान में किसी तरह की कठिनाई न हो । श्री यादव ने किसानों से खरीदी गई धान की कम्प्यूटराईज्ड पावती जारी करने के निर्देश भी दिये और गोदाम में भण्डारण होने के बाद एक सप्ताह के भीतर उपज का भुगतान करने की हिदायत दी । कलेक्टर ने बैठक में किसानों से खरीदी गई धान की तुलाई और भराई के बाद बारदानों में किसानों का नाम, रजिस्ट्रेशन नंबर भी अंकित करने के निर्देश भी दिये हैं । उन्होंने किसानों से भी आग्रह किया है कि साफ-सुथरी और एफ.ए.क्यू. मापदण्ड की धान ही खरीदी केन्द्र पर लेकर आयें ताकि उन्हें किसी तरह की कठिनाई का सामना न करना पड़े । कलेक्टर ने बैठक में सभी खरीदी केन्द्रों पर पर्याप्त संख्या में कम्प्यूटर और नेट कनेक्टिविटी की उपलब्धता सुनिश्चित करने के निर्देश भी दिये हैं । उन्होंने सकरा खरीदी केन्द्र के कम्प्यूटर आपरेटर द्वारा किसान को भुगतान की जाने वाली राशि अपने खाते में जमा किये जाने के मामले में तत्काल कार्यवाही करने, राशि वापस लेकर किसान के खाते में जमा कराने तथा उसके विरूद्ध एफआईआर दर्ज कराने के निर्देश भी दिये ।

इन खरीदी केन्द्रों पर होगी सोमवार से धान का उपार्जन:

बैठक में बताया गया कि समर्थन मूल्य पर किसानों से धान के उपार्जन के लिए जिले में 61 खरीदी केन्द्र स्थापित किये जा रहे हैं । इनमें से ऐसे 17 खरीदी केन्द्रों पर कल सोमवार दो दिसंबर से धान की खरीदी प्रारंभ की जायेगी, जिन्हें शासन से अनुमोदन मिल गया है । शासन के अनुमोदन मिलते ही शेष खरीदी केन्द्रों पर भी धान का उपार्जन प्रारंभ कर दिया जायेगा ।बैठक में दी गई जानकारी के मुताबिक जिन 17 खरीदी केन्द्रों पर सोमवार 2 दिसंबर से किसानों से धान उपार्जन का कार्य प्रारंभ होगा उनमें जबलपुर विकासखण्ड में सहकारी विपणन संस्था कृषि उपज मंडी जबलपुर, सेवा सहकारी संस्था तिलहरी एवं सेवा सहकारी संस्था मोहास, कुण्डम विकासखण्ड में सेवा सहकारी संस्था पड़रिया, हरदुलीकलॉ एवं इमलई, मझौली विकासखण्ड में सेवा सहकारी संस्था सहजपुरा, पनागर विकासखण्ड में सेवा सहकारी समिति नुनियाकलॉ बरोदा, पाटन विकासखण्ड में वृहताकार सेवा सहकारी संस्था नुनसर, वृहतकार सेवा सहकारी संस्था आरछा एवं सेवा सहकारी संस्था कटंगी, शहपुरा विकासखण्ड में वृहताकार सेवा सहकारी संस्था शहपुरा, सहजपुर, बेलखेड़ा एवं सहकारी विपणन संस्था शहपुरा तथा सिहोरा विकासखण्ड के सहकारी विपणन संस्था सिहोरा शामिल हैं ।

पीटीएस सर्वे कार्य की भी की समीक्षा:

कलेक्टर श्री यादव ने खाद्य सुरक्षा अधिनियम के सभी पात्रता पर्चीधारी परिवारों के सत्यापन के चल रहे कार्य की समीक्षा भी की । उन्होंने शेष रह गये सभी सर्वे दलों को एक-दो दिन के भीतर पोर्टल पर लॉग इन कराने की हिदायत अधिकारियों को दी । श्री यादव ने कहा कि पात्रता पर्ची एवं बीपीएल सूची में शामिल परिवारों के सत्यापन का कार्य दस दिसंबर तक पूरा कर लिया जाना चाहिए । उन्हें सत्यापन के कार्य में पारदर्शिता और निष्पक्षता बरतने की हिदायत भी बैठक में दी ।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
ख़बर चुराते हो अभी पोलखोल दूंगा
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x