सिहोरा में फर्जी दस्तावेज फर्जी नाम के साथ 14 लाख की धोखाधड़ी

जबलपुर ,फर्जी दस्तावेज तैयार कर धोखाधडी करने वालो के विरूद्ध पुलिस ने मामला दर्ज कर मामले को जांच में ले लिया है मामला जबलपुर के सिहोरा थाना का है जहाँ पर एक महिला ने कुछ लोगों के साथ मिलकर फर्जी नाम और फर्जी दस्तावेज से 14 लाख की धोखाधड़ी की है पुलिस की मानें तो दिनॉक 2-4-19 को अभिषेक गुप्ता उम्र 55 वर्ष निवासी झण्डा बाजार सिहोरा ने थाने में लिखित शिकायत देते हुए बताया की दिनॉक 28-3-19 को उसके द्वारा श्याम यादव निवासी मुखर्जी वार्ड सिहोरा के साथ मिलकर ग्राम गौरहा भिटोनी स्थित 16 एकड जमीन की रजिस्ट्री संगीता त्रिपाठी निवासी दमोहनाका से 14 लाख रूपये लेकर दिनॉक 28-3-19 को की गयी थी। जिसमे साक्षी महेन्द्र झारिया, सब्दर खान एवं श्याम सिंह उपस्थित थे। जमीन खरीदने के करीब 6 माह पूर्व उक्त जमीन खरीदी का विक्रय नामा करते हुये एक लाख 1 हजार रूपये नगद दिये गये थे, इकरारनामा रविशंकर मिश्रा द्वारा किया गया था। रविशंकर निवासी सिहोरा के द्वारा पैसे न होने के कारण बताया गया कि आप अपने नाम पर अपने साथियो के साथ मिलकर बाकि रकम देकर संगीता त्रिपाठी से रजिस्ट्री करा लेवे एवं बताया कि दिनॉक 28-3-19 को रजिस्ट्री होनी है, यह बात रविशंकर द्वारा दिनॉक 25-26 को बतायी गयी थी रविशंकर ने नरेन्द्र तिवारी निवासी पटोरी मझोली से बात कर संगीता त्रिपाठी, से सीधे बात की थी और इकरारनामा तैयार कराया था। दिनॉक 28-3-19 को रजिस्ट्री करने गये थे, रजिस्ट्रार आफिस में संगीता त्रिपाठी, निवासी कुडारी अपने बेटे शुभम एवं शिवम तथा पटोरी निवासी नरेन्द्र तिवारी मिले थे उसने एवं श्याम यादव ने 11 लाख रूपये नगद एवं 2 लाख रूपये का चैक रविशंकर से लेकर उनके खाते का चैक ब्रांच एसबीआई सिहोरा का रजिस्ट्रार के समक्ष दिया था। उसने व श्याम यादव ने रजिस्ट्री होने के पूर्व संगीता त्रिपाठी का आधार कार्ड व ऋण पुस्तिका खसरा नक्शा, सभी दस्तावेज देखा था जो असल प्रतीत होता था, पैसे देने के बाद दिनॉक 30-3-19 को सुबह 4 बजे खुडावल ग्राम निवासी शरद उपाध्याय के माध्यम से जानकारी मिली कि जिस संगीता त्रिपाठी नाम की महिला द्वारा उसके एवं श्याम यादव के साथ रजिस्ट्री की गयी है वह फर्जी महिला है, उक्त महिला द्वारा नरेन्द्र त्रिपाठी से मिलकर फर्जी आधार कार्ड, फर्जी ऋण पुस्तिका तैयार करकर उनका उपयोग करते हुये उसके एंव श्याम यादव के साथ धोखाधडी की गयी है।

नाम भी फर्जी काम भी निकला फर्जी

वहीँ पीड़ित की शिकायत के आधार पर जब पुलिस ने जांच सुरु की तो पता चला की राधा बाई ठाकुर निवासी बेलखाडू द्वारा संगीता त्रिपाठी बनकर नरेन्द्र तिवारी के साथ मिलकर , संगीता त्रिपाठी शुभम त्रिपाठी एंव शिवम त्रिपाठी के नाम की ऋण पुस्तिका प्राप्त कर, उसमे अपनी फोटो लगाई गई साथ ही फर्जी आधारकार्ड बनवाकर कूट रचना करते हुये रजिस्ट्री के समय नरेन्द्र तिवारी के साथ मिलकर संगीता, शुभम एंव शिवम के फर्जी हस्ताक्षर कर योजनाबद्ध तरीके से 14 लाख रूपये प्राप्त कर धोखाधडी की गयी है।पीड़ित की शिकायत जांच पर राधा बाई ठाकुर निवासी रामबाग बेलखाडू, थाना कटंगी, नरेन्द्र तिवारी निवासी ग्राम डुगरिया पनागर हाल ग्राम दोनी पटोरी, एवं अन्य 2 के विरूद्ध धारा 420,467,468,471,120 के तहत मामला दर्ज प्रकरण को विवेचना मे ले लिया गया है

शेयर करें: