सिहोरा में झोलाछाप डॉक्टरों की भरमार तो वहीँ ड्राईवरों के हवाले सिविल अस्पताल

जबलपुर :वैसे तो जबलपुर जिले का ऐसा कोई कोना न होगा जहां पर झोलाछाप डॉक्टर अपनी दुकानदारी न सम्भाल रहे हो बिना डिग्री के ये झोलाछाप मरीज़ो का ऐसे इलाज करते है जैसे कोई एम बी बी एस डॉक्टर हो हम बात कर रहे है सिहोरा खितौला नगर की जहाँ पर झोलाछाप डॉक्टरों की भरमार है लेकिन प्रशासन के पास इनकी जांच करने की फुर्सत ही कहा तो हाल खराब सिविल अस्पताल के भी है जहाँ पर ड्यूटी में तैनात होने की जगह डॉक्टर साहब आराम फरमाते है और निजी एम्बुलेंश के ड्राईवर ,सेकेट्री गाड यहाँ डॉक्टर व नर्स की जगह मरीजों को पट्टी ,वाटल चढ़ाने का काम करते है जो की बहुत बड़ी लापरवाही है इससे किसी भी मरीज की जान को खतरा हो सकता है ऐसी स्तिथि में कौन जिम्मेदार होगा गत वर्ष भी इसी तरह के मामले को लेकर सी एम एच ओ मुरली अग्रवाल से बात की गई थी लेकिन उनके कानों में जू तक नहीँ रेंगी नतीजन आज भी ऐसी लापरवाही भरे नजारा सामने आ रहे है सवाल यह है की यदि भविष्य में इनके द्वारा कोई बड़ी घटना घटित होती है तो क्या इसके जिम्मेदार सी एम एच ओ साहब या फिर सिविल अस्पताल के प्राभारी डॉक्टर होंगे ?

शेयर करें: