सिहोरा के पास होकर भी दूर क्यों है ये पंचायते ,आम आदमी पार्टी

0

जबलपुर :कभी जबलपुर जिले की सबसे बड़ी तहसील रही सिहोरा तहसील को किसकी नजर लग गई की इसकी कई ऐसी पंचायते जो की सिहोरा के नजदीक होकर भी उससे दूर हो गई जिसके चलते वहां के लोगों को तहसील के काम सहित अन्य कार्यो के लिए भारी परेशानियां उठाना पड़ता है और थोड़े से काम के लिए भी ग्रामीणों को सिहोरा समीप होने के बाद भी मंझोली जाना पड़ता है ऐसे में जनता की समस्याओं को सिहोरा विधायक श्रीमती नंदनी मरावी को एक पत्र देकर आम आदमी पार्टी के विधानसभा प्रभारी संतोष वर्मा द्वारा मांग की गई है की सिहोरा के समीप आने वालीं गाँधीगंज ,गोरहा ,भिटौनी ,खुडावल ,दर्शनी ,गुरजी ,

बड़खेरा ,मोहला ,दिनारी खमरिया ,छपरा ,मड़ई ,धनगवा ,डूडी ,हरदुआ कला ,खिन्नी ,लखनपुर ,झिंगरई ,चन्नोटा,देवरी ताला ,केलवास ,उमरिया ,कंजई ,कूड़ा आदि ग्राम पंचायतों का भी सर्वे करवाकर इन्हें सिहोरा तहसील में जोड़ा जाए ताकि लोगों को हो रही परेशानियों से मुक्ति मिल सके गौरतलब है की उक्त पंचायतों से जनपद मुख्यालय तहसील ,मुख्यालय ,मंझोली की दूरी 30 से 50 किलोमीटर है जबकि इन्हीं पंचायतों से सिहोरा की दूरी मात्र 5 किलोमीटर से अधिकतम 20 किलोमीटर होगी इतना ही नहीं जनता विगत दस वर्षों से इन दूरियों को तय कर बड़े कष्टपूर्वक अपना काम कर रही है हलाकि इस दूरी से सिर्फ जनता ही नहीं सरकारी अधिकारियों व कर्मचारियों को भी भारी परेशानियों का सामना करना पड़ता है जनहित के इस मुद्दे को लेकर संतोस वर्मा द्वारा सिहोरा विधायक व कलेक्टर श्री भरत यादव से मांग की गई है की इन ग्राम पंचायतों को सर्वे कर सिहोरा जनपद में पुनः जोड़ा जाए ताकि लोगों को हो रही परेशानियों से निजात मिल सके

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
ख़बर चुराते हो अभी पोलखोल दूंगा
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x