संभागायुक्त ने कहा कमजोर और गरीब के कल्याण को लक्ष्य बनाकर कार्य करें अधिकारी

0


जबलपुर :संभागायुक्त रवीन्द्र कुमार मिश्रा ने कहा है कि कमजोर, गरीब, महिला और बच्चों के कल्याण और सशक्तिकरण की योजनाओं के क्रियान्वयन के विशेष प्रयास किए जाएं। इन हितग्राहियों को उनका वैधानिक हक मिले। सभी विभागों के अधिकारी शासन की इस मंशा के मुताबिक कार्य करें।
संभागायुक्त श्री मिश्रा श्रम, शालेय शिक्षा, आदिम जाति कल्याण, नगरीय विकास, ग्राम एवं नगर निवेश विभाग के कार्यों की समीक्षा कर रहे थे। बैठक में संभागीय और जिला अधिकारी तथा संयुक्त आयुक्त विकास अरविंद यादव मौजूद थे।


संयुक्त संचालक शालेय शिक्षा ने बताया कि 10 वी बोर्ड परीक्षा में संभाग के एक लाख 45 हजार 337 विद्यार्थी तथा कक्षा 12 वीं की परीक्षा में एक लाख एक हजार 657 विद्यार्थी बैठेंगे। करीब 852 परीक्षा केन्द्र बनाए गए हैं। विद्यार्थियों के लिए परीक्षा की तैयारी पर ध्यान दिया जा रहा है। पाठ्यक्रम को रिवाइज कराया जा रहा है। संयुक्त संचालक ने परीक्षा परिणाम को बेहतर बनाने किए गए उपाए की जानकारी दी। संभागायुक्त ने शालेय शिक्षण योजनाओं की समीक्षा करते हुए स्मार्ट क्लास कार्यक्रम को विस्तार देने के निर्देश दिए। संभागायुक्त ने शाला में पेयजल और स्वच्छता कार्यों की जानकारी ली। बताया गया कि मेरी शाला मेरी जिम्मेदारी कार्यक्रम के तहत 12 हजार 506 शालाओं में शिक्षक, विद्यार्थियों तथा जनभागीदारी से स्वच्छता कार्यक्रम संचालित किया जा रहा है।
संभागायुक्त ने निर्देश दिए कि आदिम जाति कल्याण विभाग और शालेय शिक्षा विभाग संयुक्त रूप से शैक्षणिक गुणवत्ता में सुधार के साथ विद्यार्थियों को प्रतियोगी परीक्षाओं में भी सफल होने प्रशिक्षण दें। उन्होंने कहा कि विकासखण्ड स्तर पर प्रतियोगिता परीक्षाओं की तैयारी के लिए कक्षाएं लगाई जाएं। अच्छे शिक्षकों की सेवाएं ली जाएं। प्रतियोगी परीक्षाओं में बच्चों को सफल होना ही चाहिए। ब्लाक स्तर पर बच्चों को आवास का इंतजाम भी किया जाए।
आदिम जाति कल्याण विभाग की समीक्षा में छात्रवृत्ति योजनाओं, मजरे-टोलों का विद्युतीकरण, बस्ती विकास योजनाओं के कार्य समय पर पूर्ण करने के साथ अत्याचार निवारण राहत प्रकरणों में पीड़ितों को राहत राशि का त्वरित भुगतान सुनिश्चित करने के निर्देश दिए गए।
बैठक में बताया गया कि विशेष पिछड़ी जनजाति बैगा और भारिया के मण्डला, बालाघाट, डिंडौरी और छिंदवाड़ा जिले में निवास करने वाले 35 हजार 176 परिवारों को विशेष पोषण के लिए राशि का भुगतान का लक्ष्य है। जिसे पूरा किया जा रहा है।
वन अधिकार अधिनियम के अंतर्गत पट्टा वितरण कार्यक्रम अंतर्गत हितग्राही तथा समुदाय के हित में प्रकरणों का निराकरण नियमानुसार करने के निर्देश दिए गए। अपात्र घोषित दावा प्रकरणों का पुन: परीक्षण करने के लिए कहा गया।
नगरीय विकास और कल्याण विभाग अंतर्गत गरीब परिवारों के लिए वन रहे बहुमंजिला भवनों को गरीबों को आवंटित करने के साथ इन भवनों के समीप आवश्यक वस्तुओं का बाजार तथा लोकल परिवहन सुविधा भी विकसित करने के निर्देश संभागायुक्त ने दिए। नगरीय क्षेत्रों में बारिश से क्षतिग्रस्त सड़कों की मरम्मत के लिए किए कार्यों की जानकारी भी दी गई। संभागायुक्त ने नगरीय स्वच्छता के लिए विशेष प्रयास करने के लिए कहा।
पेयजल आपूर्ति के संबंध में बताया गया कि वर्तमान में पाण्डुर्णा नगर को छोड़कर संभाग के सभी नगरों में नियमित पेयजल आपूर्ति की जा रही है। संभागायुक्त ने कहा कि जिन शहरों में दिन में दोनों वक्त पेयजल आपूर्ति की जा रही है। वहां प्रयोग के तौर पर कुछ क्षेत्रों में 24 घंटे जलापूर्ति की जाए।
संभागायुक्त ने नगरीय निकाय के अधिकारियों को बिजली, पानी, सड़क, स्वच्छता, सेनीटेशन, सड़क के रखरखाव, आदि पर विशेष ध्यान देने के लिए कहा। वार्ड की सुचारू व्यवस्था वार्ड के प्रभारी आफीसर पर बहुत निर्भर करती है। अत: वार्ड आफीसर ध्यान दें।
बैठक में हर विभाग ने उच्च तथा निम्न कार्य करने वाले अधिकारी-ब्लाक, जिलों, निकाय आदि की जानकारी भी प्रदर्शित की गई।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
ख़बर चुराते हो अभी पोलखोल दूंगा
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x