शासकीय अस्पतालों के लापरवाह चिकित्सा अधिकारियों-कर्मचारियों पर सख्ती के निर्देश संभागायुक्त द्वारा समीक्षा

जबलपुर : संभागायुक्त राजेश बहुगुणा ने शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में स्थित शासकीय अस्पतालों की व्यवस्थाओं को बेहतर बनाने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य विभाग के जिला और संभाग स्तरीय अधिकारी अस्पतालों का नियमित निरीक्षण कर सुधार लाएं। लापरवाह चिकित्सकों-कर्मियों के विरूद्ध सख्त कार्रवाई करें।
संभागायुक्त ने जनपद पंचायत पनागर के अंतर्गत प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र सोनपुर की स्वास्थ्य सुविधाओं और इंतजामों में सुधार लाने के निर्देश दिए हैं। इसके लिए संबंधित सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र प्रभारी तथा जिला चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी उत्तरदायी होंगे। संभागायुक्त को सोनपुर स्वास्थ्य केन्द्र की अव्यवस्थाओं के संबंध में शिकायत मिली थी। संभागायुक्त श्री बहुगुणा ने स्वास्थ्य, आबकारी, कोष लेखा एवं पेंशन, महिला एवं बाल विकास विभाग के संभागीय अधिकारियों की समीक्षा बैठक ली।
संभागायुक्त ने आमजन के लिए स्वास्थ्य के लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए चल रहे कार्यों की जानकारी ली। उन्होंने ग्रामीण क्षेत्रों के शासकीय प्रसव केन्द्रों की जानकारी लेकर निष्क्रिय केन्द्रों को पुन: सक्रिय करने के निर्देश दिए। जन्मजात विकृति वाले बच्चों के उपचार, टीकाकरण, दिव्यांगों के उपचार इंतजामों की भी समीक्षा की।
संभागायुक्त ने कहा कि अति कुपोषित बच्चों के उपचार के लिए पोषण पुनर्वास केन्द्रों की पूरी क्षमता का उपयोग किया जाए।
संभागायुक्त ने महिला एवं बाल विकास विभाग के अंतर्गत पोर्टल में जरूरी जानकारियों का इन्द्राज करने में लापरवाही बरतने पर डिण्डोरी, कटनी, मण्डला और नरसिंहपुर के संबंधित अधिकारियों को कारण बताओ नोटिस जारी करने के निर्देश दिए। बैठक में पेंशन प्रकरणों के निराकरण के लिए तैयार केलेण्डर के मुताबिक आयोजित होने वाले शिविरों में अधिकाधिक पेंशन प्रकरणों का निराकरण करने के निर्देश दिए गए। संभागायुक्त ने विभागों में लंबित पेंशन प्रकरणों की सूची ली। अधिक समय से लंबित पेंशन प्रकरणों के निराकरण के लिए जिला कलेक्टर्स को विशेष ध्यान देने के लिए कहा जाएगा। बैठक में आबकारी तथा खनिज विभागों के अंतर्गत प्राप्त राजस्व और अन्य विभागीय कार्यों की समीक्षा की गई। बैठक में संयुक्त आयुक्त विकास अरविंद यादव भी मौजूद थे।

शेयर करें: