शक होने पर सड़क में पटककर कर दी थी पत्नी की हत्या ऐसे खुला राज

0

थाना तिलवारा अन्तर्गत महिला की हुई अंधी हत्या का खुलासा

जबलपुर ,जिस पत्नी के साथ सात फेरे लेकर सात जन्म तक साथ निभाने की कसमें खाईं उसी पत्नी को शक के आधार पर मौत के घाट उतार दिया ऐसे एक दरिंदे पति की दरिंदगी का पर्दाफास करते हुए पुलिस ने बताया की दिनॉक 30-4-19 को ग्राम एैठाखेडा में तिकारी-चरगवॉ मार्ग चिन्टू बावरिया के प्लाट रोड किनारे नाली मे एक महिला का शव पडे होने की सूचना पर थाना प्रभारी तिलवारा सुश्री सारिका पाण्डे, एवं नपुअ बरगी श्री रवि चौहान हमराह स्टाफ के पहुंचे ग्राम सरपंच रघुनाथ सिंह उम्र 42 वर्ष निवासी एैठाखेडा ने बताया कि सुबह 10 बजे ग्राम पंचायत मे था तभी रामपुर नकटिया के सुमेर सिंह ने आकर बताया कि चिन्टू बावरिया के प्लाट के किनारे कोई चीज की बदबू आ रही है, जाकर देखा तो अज्ञात महिला नग्न अवस्था में सूखी सिमेंटिड नाली में जो कि प्लाटिंग हेतु बनायी गयी है, मृत पडी है, जानकारी मिलने पर उसने जाकर देखा तो एक महिला नग्न अवस्था मे नाली में मृत पडी मिली। घटित हुई घटना से वरिष्ठ अधिकारियों को अवगत कराया गया। सूचना पर पहुंचे अति. पुलिस अधीक्षक ग्रामीण डॉ रायसिंह नरवरिया एवं एफएसएल टीम की उपस्थिति में शव को नाली से निकलवाया गया, शव डिकम्पोज हो चुका था, शव का सिर एवं एक हाथ जीव जंतुओं द्वारा छतिग्रस्त करने के कारण कंकाल के रूप मे परिवर्तित हो गया है,। शव के नीचे नाली में प्रिंटिड गाउन फटा हुआ तथा 1 जोडी चांदी की पायल, पास ही अलग अलग दूरी पर पडी हुई मिली है। पंचनामा कार्यवाही कर शव को पीएम हेतु भिजवाते हुये मर्ग कायम कर जांच में लिया गया। जांच के दौरान शव का पंचनामा, घटना स्थल निरीक्षण, एफएसएल अधिकारी की राय एवं पीएम रिपोर्ट के आधार पर अज्ञात व्यक्ति के द्वारा महिला की हत्या कर शव को छिपाने की गरज से तिखारी रोड ग्राम एैठाखेडा मे सिमेंटेड नाली में डाल दिया जाना पाया जाने पर अज्ञात आरोपी के विरूद्ध धारा 302,201 भादवि का अपराध ंपजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया। उल्लेखनीय है कि दिनॉक 27-4-19 को ग्राम एैठाखेडा से लगे गॉव रामपुर नकटिया में प्रातः लगभग 6 बजे एक डेढ साल की बच्ची लावारिस हालत में मिली थी, जो अपना नाम नहीं बता पा रही थी, बच्ची के माता पिता के सम्बंध मे कांफी तलाश पतासाजी की गयी, पता न चलने पर चाईल्ड केयर संस्था को सूचित कर बच्ची को संस्था के सुपुर्द किया गया था।

ऐसे पकड़ा गया हत्यारा

वहीं पुलिस कप्तान निमिष अग्रवाल द्वारा घटना स्थल से लगभग 1 कि.मी. दूर मिली डेढ वर्षिय बच्ची कहीं मृतिका की तो नहीं है, इस बात की संभावना को ध्यान मे रखते हुये बच्ची के माता पिता की पतासाजी एवं मृतिका की शिनाख्तगी के सम्बंध में आवश्यक दिशा निर्देश दिये गये।दिये गये निर्देशों के पालन मे अति. पुलिस अधीक्षक ग्रामीण डॉ रायसिंह नरवरिया, नगर पुलिस अधीक्षक बरगी रवि चौहान के मार्गदर्शन एवं थाना प्रभारी तिलवारा सारिका पाण्डे के नेतृत्व मे टीम गठित की गयी।सोशल मीडिया एवं समाचार पत्रों के माध्यम से बच्ची के माता पिता की तलाश के सम्बंध में खबर प्रकाशित करायी गयी, वहीं शहर एवं देहात के सभी थानों तथा जबलपुर जिले से लगे सरहदी जिलों को एक अज्ञात महिला के शव के मिलने एवं बच्ची के सम्बंध में सूचित किया गया। लेकिन कहीं भी किसी भी प्रकार की कोई बच्ची के सम्बंध में गुमशुदगी दर्ज होना नहीं पायी गयी है। अज्ञात महिला व बच्ची के संबंध मे काफी पतासाजी की गई तो पता चला कि बच्ची कशिश अपने माता पिता के साथ धनवन्तरी नगर मड़फैय्या मे महेन्द्र जैन के मकान मे किराये से रहती थी मृतिका की शिनाख्त किरण यादव के रूप मे हुई । किरण यादव की शादी पूर्व मे 2011 मे लम्हेटा घाट निवासी मंगल यादव से हुई थी जो अपने पति व 02 वर्षीय बच्ची मानवी को छोड़कर पिछले 03 साल से रघुवीर यादव जो लम्हेटा गोपालपुर का रहने वाला है उसके साथ पत्नी के रूप मे रहनी लगी थी रघुवीर यादव भी शादीशुदा है जो लम्हेटा मे अपनी पत्नी व 03 बच्चो के साथ रहता है ।रघूवीर यादव को सरगर्मी से तलाश कर अभिरक्षा में लेते हुये सघन पूछताछ की गयी तो पाया गया कि दिनांक 26.04.19 को रघुवीर ने अपनी पत्नी किरण को फोन लगाया फोन नही उठाने पर कई बार फोन लगाया जो पत्नी के फोन नही उठाने पर लम्हेटा पहली पत्नी शशि के घर से वापस धनवन्तरी नगर आया और पत्नी किरण से झगड़ा किया उसे शक हुआ कि उसकी पत्नी किरण किसी अन्य के साथ कही गई थी तो उसे मायके कोहानी घंसौर जिला सिवनी ले जाने को कहकर पत्नी, बच्ची को मोटर साइकल मे लेकर निकला और तिखारी चरगंवा रोड़ पर सूनसान जगह में किरण को रोड़ मे पटक दिया तथा पेचकस से गले मे मारा और मर जाने पर उसे रोड़ के किनारे सीमेन्ट की नाली मे डाल दिया, एवं 02.05.19 को धनवन्तरी नगर का किराये का मकान खाली कर दिया। रघुवीर अपनी पहली पत्नी शशि के पास भी रहता था तथा दूसरी पत्नी किरण के साथ भी रहता था शक के आधार पर कि किरण किसी अन्य आदमी के साथ जाती है इस वजह से योजना बनाकर उसकी हत्या कर दी । बच्ची कशिश चूंकि ना समझ थी, बच्ची से बेहद प्यार करता था इसलिये बच्ची को रामपुर नकटिया गॉव के पास रोड किनारे पेड के नीचे सुलाकर चला गया था।

उल्लेखनीय भूमिका- अंधी हत्या का खुलासा करने में थाना प्रभारी तिलवारा सारिका पाण्डे, उनि बी0एल0 नवरेती, प्रधान आरक्षक अनिल सिंह, सच्चिदानंद सिंह, आरक्षक शारदा त्रिपाठी, दिलीप पाठक, यशवन्त सिंह की सराहनीय भूमिका रही। पुलिस अधीक्षक निमिष अग्रवाल (भा.पु.से.) ने टीम को नगद पुरुस्कार से पुरूस्कृत करने की घोषणा की है।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
ख़बर चुराते हो अभी पोलखोल दूंगा
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x