विरासत का संरक्षण” के तहत पांचवें दिन भी दी गईं आकर्षक सांस्कृतिक प्रस्तुतियां

0

जबलपुर : संस्कृति विभाग द्वारा आयोजित बहुआयामी सांस्कृतिक कार्यक्रम “विरासत का संरक्षण” के तहत आज सोमवार को लगातार पांचवें दिन पं.लज्जाशंकर झा शासकीय मॉडल स्कूल में आकर्षक सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किए गए।
आज के आयोजन में नृत्यांजलि कत्थक प्रशिक्षण केन्द्र शैली धोपे और स्वरागिनी सांस्कृतिक कला केन्द्र मेघा पाण्डे के निर्देशन में नृत्य प्रस्तुतियां दी गईं। कु. अन्वेशा शर्मा द्वारा घर मोरे परदेसिया गीत पर तथा मेधा मनस्वनी द्वारा घूमर नृत्य प्रस्तुत किया गया। भरतनाट्यम प्रशिक्षिका मोमिता वेज द्वारा संचालित त्रिलोचन नृत्य अकादमी की कु. अस्मिता सोनी द्वारा अच्वतम केशवम गीत पर नृत्य प्रस्तुति दी गई। नव नृत्यांजलि नृत्य केन्द्र की कु. अंशिका विश्वकर्मा द्वारा अपलम चपलम गीत पर कत्थक शैली की प्रस्तुति दी गई। मेधा पाण्डे के मार्गदर्शन में कु. संस्कृति पटवा द्वारा छाप तिलक, कु.पावनी श्रीवास्तव ने इन्हीं लोगों ने एवं कु.अनुष्का सक्सेना सूफी गाना दमादम मस्त कलंदर पर प्रस्तुति दी।
सीईओ जेटीपीसी हेमंत सिंह एवं उत्कृष्ट विद्यालय प्राचार्य श्रीमती वीणा बाजपेई ने दीप प्रज्जवलित करते हुए कार्यक्रम का शुभारंभ किया। कार्यक्रम के संचालन में जबलपुर टूरिज्म प्रमोशन काउंसिल एवं जिला प्रशासन का सहयोग एवं समन्वय रहा। कार्यक्रम का संचालन उपेन्द्र यादव, श्रीमती अंजना राणा एवं सुश्री सीमा मिश्रा द्वारा किया गया।
मंगलवार 19 नवम्बर को मानस भवन में शाम 5 बजे से समेकित समापन समारोह होगा। इस अवसर पर इन छह दिनों में बेहतर प्रस्तुति देने वाले कलाकारों एवं उनके गुरूजनों को भी सम्मानित किया जाएगा। साथ ही सिटी वॉक एवं पर्यटन पर्व, पर्यटन स्वच्छता पखवाड़ा तथा नर्मदा महोत्सव में विशेष योगदान देने वालों को भी सम्मानित किया जाएगा।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
ख़बर चुराते हो अभी पोलखोल दूंगा
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x