रिछाई में टेक्नोलॉजी सेंटर के लिए जमीन चिन्हित दिसंबर माह तक ओव्हर ब्रिज का निर्माण पूरा करने के निर्देश

0

कलेक्टर ने किया औद्योगिक क्षेत्रों का निरीक्षण

जबलपुर :कलेक्टर श्री भरत यादव ने आज औद्योगिक क्षेत्र रिछाई का निरीक्षण किया और यहाँ उपलब्ध करीब 20 एकड़ भूमि को भारत सरकार के एसएसएमई मंत्रालय द्वारा स्वीकृत प्रदेश के दूसरे टेक्नोलॉजी सेंटर के लिए आरक्षित करने के निर्देश उद्योग विभाग के अधिकारियों को दिये हैं । निरीक्षण के दौरान कलेक्टर के साथ एसएसएमई विकास संस्थान इंदौर के संचालक डी.सी. साहू, उद्योग विभाग के अधिकारी, विभिन्न उद्योग संघों के पदाधिकारी भी मौजूद थे ।
कलेक्टर ने औद्योगिक क्षेत्र रिछाई के निरीक्षण के दौरान यहाँ लघु उद्योग निगम द्वारा स्थापित टेस्टिंग लेब का अवलोकन भी किया और इसे अपग्रेड करने के निर्देश दिये । श्री यादव ने इस मौके पर औद्योगिक संघों से रिछाई औद्योगिक क्षेत्र की विभिन्न समस्याओं पर चर्चा भी की । इस दौरान उन्होंने रिछाई ओव्हर ब्रिज का दिसंबर माह तक निर्माण करने की हिदायत संबंधित निर्माण एजेंसी को दी तथा महाराजपुर से रिछाई औद्योगिक क्षेत्र तक पहुंच मार्ग के नये सिरे से निर्माण का प्रस्ताव तैयार करने के निर्देश उद्योग विभाग के अधिकारियों को दिये । श्री यादव ने उद्योग संघ के प्रतिनिधियों की मांग पर औद्योगिक इकाइयों को निर्बाध बिजली की आपूर्ति के लिए वैकल्पिक फीडर की व्यवस्था करने विद्युत विभाग के अधिकारियों को निर्देशित किया । उन्होंने औद्योगिक क्षेत्र में डम्पिंग स्थल चिन्हित करने तथा यहां एकत्रित कचरे को उठाने प्रतिदिन वाहन भेजने के निर्देश निगम अधिकारियों को दिये । उन्होंने उद्योग संघ के प्रतिनिधियों से भी अपनी-अपनी इकाइयों में स्वच्छता रखने आग्रह किया ।
श्री यादव ने बैठक में उद्योग संघों के प्रतिनिधियों की मांग पर रिछाई औद्योगिक क्षेत्र में कॉमन एरिया में केन्टीन खोलने के लिए जरूरी कार्यवाही प्रारंभ करने के निर्देश दिये हैं । उन्होंने औद्योगिक क्षेत्र रिछाई की सड़कों एवं नालियों की मरम्मत के कार्य में गुणवत्ता का ध्यान रखने की हिदायत अधिकारियों को दी । श्री यादव ने इस मौके पर रिछाई औद्योगिक क्षेत्र की सड़कों पर अतिक्रमण कर लगाये गये ठेले-टपरों को हटाने की कार्यवाही करने के निर्देश एसडीएम रांझी एवं जिला उद्योग केन्द्र के महाप्रबंधक को दिये । उन्होंने औद्योगिक क्षेत्र को रांझी थाने की बजाय अधारताल थाने से संबद्ध करने की मांग पर शीघ्र कार्यवाही करने का आश्वासन उद्योग संघ के प्रतिनिधियों को दिया ।
अधारताल औद्योगिक केन्द्र के मुख्य सड़कों पर हुए अतिक्रमण हटाये जायेंगे:
कलेक्टर ने औद्योगिक क्षेत्र रिछाई के निरीक्षण के बाद औद्योगिक केन्द्र अधारताल का भी निरीक्षण किया । इस दौरान उन्होंने सड़कों के किनारों पर हुए अतिक्रमणों को हटाने की कार्यवाही प्रारंभ करने के निर्देश भी एसडीएम को दिये । श्री यादव ने अतिक्रमण की समस्या के स्थाई निराकरण के लिए फेसिंग का प्रस्ताव तैयार करने के निर्देश अधिकारियों को दिये हैं । उन्होंने अधारताल औद्योगिक केन्द्र में सड़कों के निर्माण में गुणवत्ता की उपेक्षा पर निर्माण एजेंसी लघु उद्योग निगम के अधिकारी को फटकार भी लगाई ।
उमरिया-डुंगरिया औद्योगिक क्षेत्र का भी किया निरीक्षण:
कलेक्टर श्री यादव ने बाद में चरगवां मार्ग पर स्थित औद्योगिक क्षेत्र उमरिया-डुंगरिया का भी निरीक्षण किया । उन्होंने यहां स्थापित कुछ इकाइयों का अवलोकन भी किया । श्री यादव ने उमरिया-डुंगरिया औद्योगिक क्षेत्र में हुए अधोसंरचना निर्माण के कार्यों की सराहना करते हुए यहाँ औद्योगिक इकाइयों की स्थापना के लिए उपलब्ध भूमि का ब्यौरा भी लिया ।
कलेक्टर ने औद्योगिक क्षेत्र उमरिया-डुंगरिया की समस्याओं पर भी उद्योग संघ के प्रतिनिधियों के साथ चर्चा की । उद्योग संघ के प्रतिनिधियों ने कलेक्टर के समक्ष यहां विद्युत की निर्बाध आपूर्ति सुनिश्चित करने की मांग रखी । यहां स्थित औद्योगिक इकाइयों में काम कर रहे कर्मचारियों की सुरक्षा के लिए पुलिस चौकी की स्थापना की आवश्यकता भी कलेक्टर को बताई गई । इस अवसर पर बताया गया कि उमरिया-डुंगरिया को गुणवत्तापूर्ण और निर्बाध विद्युत आपूर्ति के लिए तिगना में निर्माणाधीन 220 केव्ही के विद्युत उप केन्द्र से विद्युत आपूर्ति की व्यवस्था की जायेगी । यहां भिडकी सबस्टेशन से भी वैकल्पिक विद्युत लाइन उपलब्ध कराने का कार्य प्रारंभ कर दिया गया है । इसके अलावा उमरिया-डुंगरिया में उच्चदाब विद्युत सबस्टेशन के निर्माण के लिए सर्वे भी हो चुका है । कलेक्टर श्री यादव ने इस मौके पर उमरिया-डुंगरिया से स्ट्रीट लाईट के लिए सौर ऊर्जा पैनल लगाने का प्रस्ताव तैयार करने के निर्देश भी अधिकारियों को दिये ।
इस अवसर पर श्री यादव ने उमरिया-डुंगरिया औद्योगिक क्षेत्र में स्थापित इकाइयों में कार्यरत लोगों के आवागमन के लिए मेट्रो बस की सुविधा शीघ्र उपलब्ध कराने का आश्वासन दिया । उन्होंने शुल्क जमा करने पर कचरा उठाने के लिए प्रतिदिन वाहन भिजवाने की व्यवस्था करने के निर्देश भी नगर निगम के अधिकारियों को दिये ।
कलेक्टर के साथ औद्योगिक क्षेत्रों के निरीक्षण के दौरान निगमायुक्त आशीष कुमार, सहायक कलेक्टर सिद्धार्थ जैन, मध्यप्रदेश औद्योगिक विकास निगम के कार्यपालन निदेशक सी.एस. धुर्वे, जिला उद्योग केन्द्र के महाप्रबंधक देवव्रत मिश्रा, नगर निगम के कार्यपालन यंत्री अजय शर्मा, एसडीएम रांझी मनीषा वास्कले, एसडीएम पाटन जे.पी. यादव तथा श्री रवि गुप्ता, डी.आर. जैसवानी, श्रीमती अर्चना भटनागर सहित विभिन्न उद्योग संघों के प्रतिनिधि मौजूद थे ।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
ख़बर चुराते हो अभी पोलखोल दूंगा
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x