राजस्थान में बेच आया था जबलपुर की युवती को ऐसे खुला राज

जबलपुर :नौकरी लगाने का प्रलोभन देकर युवती के साथ दुराचार कर षणयंत्र पूर्वक सुनियोजित तरीके से राजस्थान में बेंच दिया गया था पुलिस की मानें तो अधारताल थाने मे दिनॉक 2-4-19 को 40 वर्षिय महिला ने रिपोर्ट दर्ज करायी थी कि सुबह 10-30 बजे उसकी 18 वर्षिय बेटी रांझी स्थित दुकान मे काम करे गयी थी, जिसे देर तक वापस न लौटने पर दुकान मे पता किया तो ज्ञात हुआ कि बेठी आज दुकान काम पर नहीं आयी थी। उसने अपनी बेटी की तलाश की लेकिन ंकुछ पता नहीं चला । सूचना पर गुमइंसान कायम कर जांच मे लिया गया। गुमशुदा के दस्तयाब होने पर एवं गुमशुदा एवं परिजनो के कथन लिये गये, गुमशुदा ने बताया कि उसकी सहेली शैकी रैकवार ने सुनीता यादव निवासी कंचनपुर से करायी थी, सुनीता एवं सुनीता के बेटे निखिल से उसकी जान पहचान हो गयी, बातचीत होने लगी, दिनॉक 2-4-19 को निखिल यादव ने कहा कि उसकी मॉ सुनीता ने तुम्हें बर्थडे पार्टी में बुलाया है, वह निखिल के साथ मोटर सायिकल मे बैठकर कंचनपुर स्थित निखिल के घर पहुचीं जहॉ निखिल ने बर्थडे मनाया, बथडे पार्टी मे श्ैकी रैकवार भी आयी हुई थी बर्थडे पार्टी के बाद सभी ने खाना खाया फिर उसी रात निखिल यादव ने नौकरी दिलाने का लालच देकर स्वयं के घर पर जबरन शारीरिक सम्बंध बनाये, एवं कहा कि तेरा वीडियो बना लिया है यदि किसी को कुछ बताया तो वीडियो वायरल कर दूंगा, , वीडियो वायरल करने की धमकी से वह चुप हो गयी, उसे 3 दिन तक अपने घर मे बंधक बनाकर रखा, उस समयी निखिल की मॉ सुनीता भी धमकाते हुये कहती थी तूने भागने की कोशिश की तो तुझे जान से खत्म कर देंगे, सुनीता ने उसका पैनासोनिक मोबाईल लेकर रख लिया। दिनॉक 5-4-19 को निखिल और सुनीता उसे लेकर रेल्वे स्टेशन जबलपुर पहुचे उस समय एक अज्ञात व्यक्ति सुनीता के साथ था जिसे निखिल यादव दिल्ली वाले चाचा के नाम से पुकार रहा था, सुनीता व दिल्ली वाले चाचा उसे राजस्थान ट्रेन से ले गये, निखिल स्टेशन से वापस हो गया, दिनॉक 6-4-19 को गंगापुर सिटी राजस्थान पहुंचे, जहॉ सुनीता के परिचित नंद किशोर और प्रमोद नामक 2 व्यक्ति मिले, जो कोटा के रहने वाले थे, चारों उसे लेकर गंगापुर सिटी स्थित प्रमोद के किराये के मकान मे लेकर गये, जहॉ 4 दिन उसे बंधक बनाकर रखा , सुनीता, प्रमोद, व नंदकिशोर ने धमकी दी कि यदि यहॉ से भागने की कोशिश की तो हमारे आदमी आसपास लगे है तुझे मारकर फेंक देंगे, इस कारण वह बाहर नहीं जा सकी। निखिल यादव व शैंकी रैकवार गंगापुर सिटी राजस्थान वाले मकान पर आये व दोने बगल के कमरे मे एक रात रूके, शैकी उसकी बचपन की दोस्त है जिसने सुनीता यादव एवं निखिल यादव के साथ मिलकर उसके साथ घटना घटित करायी। दिल्ली वाला अज्ञात व्यक्ति गंगापुर सिटी से वापस लैट गया, अन्य तीनो उसे लेकर कोटा पहुचे, और उसे नंदकिशोर के किराये के मकान मे रखा, दिनॉक 13-4-19 को ग्राम आटोन जिला बारा राजस्थान का रहने वाला गोलू विजयवर्गीय उसे देखने आया और चला गया। दिनॉक 14-4-19 को गोलू विजयवर्गीय ने ग्रे कलर की कार कोटा भिजवायी जिसमे सुनीता, नंदकिशोर एंव प्रमोद तीनो उसे ग्राम आटोन लेकर गये जहॉ सुनीता ने उसकी मौसी बनकर वीडियो वायरल करने की धमकी देकर जबरन उसकी शादी गोलू विजयवर्गीय से करवा दी, सुनीता यादव व उसके साथियो ने गोलू विजयवर्गीय से उससे शादी करने के लिये 2 लाख रूपये ले लिये, शादी करने के बाद गोलू उसे लेकर आटोन पहुचा व पत्नि बनाकर 3 दिन तक साथ रखा। दिनॉक 17-’4-19 को गोलू के पास सुनीता का फोन आया सुनीता ने गोलू से बात चीत करते हुये कहा कि ंमुझे 2 लाख रूपये मिल गये है, फिर उससे फोन कर बात करते हुये कहा तुम गोलू की औरत बन कर रहे तुंम अब वापस जबलपुर नहीं आ सकती हो, पुनः वीडियो वायरल करने की धमकी दी। गोलू द्वारा दिये गये मोबाईल से अपनी नानी को फोन कर जानकारी दी नानी के द्वारा पुलिस को सूचना दी गयी जिस पर पुलिस उसे लेने पहुंची थी। आरोपियों द्वारा एक राय होकर षणयंत्र पूर्वक सुनियोजित तरीके से बहला फुसलाकर, नौकरी लगाने का प्रलोभन देकर, ग्राम आटोन राजस्थान निवासी गोलू विजयवर्गीय को बेचकर जबरदस्ती शादी करा देना व मानव दुर्व्यापार करना पाया जाने पर सुनीता यादव, निखिल यादव, गोलू उर्फ राजेन्द्र विजयवगर्मीय, प्रमोद अग्रवाल, गोलू का जीजा नंदकिशोर, शैंकी रैकवार, दिल्ली वाला निखिल का चाचा के विरूद्ध धारा 363,366,365,368,376(2)एन, 370,371,506,130बी,34 भादवि 3(2)5 एसीएसटी एक्ट का अपराध पंजीबद्ध कर आरोपियों की गिरफ्तारी के प्रयास जारी है।

शेयर करें: