रमजान मुबारक की सदाएं गूंजी हर तरफ

रमजान की दस्तक के साथ ही नेकियों में इजाफे की भी बरकत हो गई। सोमवार से शहर की विविध मस्जिदों और दरगाहों में तरावीह की नमाज अकीदतमंदों से अदा करते हुये पूर ईमान पर चलने और पूरे रोजे रखने की दुआ…
रमजान की दस्तक के साथ ही नेकियों में इजाफे की भी बरकत हो गई। सोमवार से शहर की विविध मस्जिदों और दरगाहों में तरावीह की नमाज अकीदतमंदों से अदा करते हुये पूर ईमान पर चलने और पूरे रोजे रखने की दुआ मांगी। सोमवार की शाम चांद का दीदार हो गया। चांद का दीदार होते ही पाक माह रमजान शुरू हो गया। सभी की जुबां से निकला माह-ए-रमजान आया खुशियों का पैगाम लाया और रमजान की आमद मरहबा। दरगाह मुबारक खां शहीद नार्मल स्थित तंजीम उलेमा-ए-अहले सुन्नत ने चांद का औपचारिक ऐलान किया। लोगों ने एक दूसरे से मिलकर और सोशल मीडिया पर बधाई देनी शुरु की। पहला रोजा मंगलवार को है जो करीब 15 घंटा 3 मिनट का होगा। पुरुषों ने मस्जिदों में इशा की नमाज (रात की नमाज) के बाद तरावीह की नमाज अदा की। वहीं महिलाओं ने घरों में बगैर जमात के तरावीह की नमाज अदा की।

बाजार में दिखने लगी रौनक

चांद नजर आते ही बाजारों में भी चहल-पहल बढ़ गई। लोगों ने सहरी के लिए सामानों की खरीददारी की। बाजार में रोजा इफ्तार व सहरी के सामानों की बड़ी संख्या में दुकानें सज गई है। विभिन्न तरह के पैक में खजूर बाजार में उपलब्ध हैं। ईरानी खजूर के साथ ही मुनक्का खजूर भी लोगों के आकर्षण का केंद्र बनी हुई है।

पहला रोजा

अफ्तार सहरी

(मंगलवार) (बुधवार)

सुन्नी 6:39 मिनट 3: 41 मिनट

शिया 6: 43 मिनट 3 : 33 मिनट

शेयर करें: