यूपी के इन चोरों की खोज में लगी थी भारत के सात राज्यों की पुलिस जबलपुर पुलिस के हत्थे चढ़ा अन्तर्राजीय चोर गिरोह

0

जबलपुर पुलिस ने एक ऐसे अन्तर्राजीय चोर गिरोह को पकड़ा है जिस गिरोह ने अब तक भारत के 7 राज्यों के पुलिस की नाक में दम कर रखा था साथ ही इन राज्यों के जिले में ये गिरोह चोरी की वारदात को अंजाम देते हुए आये है इन शातिर चोरों से पुलिस पूछताछ कर रही है एसपी अमित सिंह ने आज कन्ट्रोल रूम में प्रेसवार्ता आयोजित कर बताया की थाना शहपुरा अन्तर्गत सहकारी बैंक में चोरी करने वाले अन्तर्राज्जीय चोर गिरोह के 5 सदस्य गिरफ्तार कर लिए गए है इनमें अभी गिरोह के 6 सदस्य फरार है जिनकी तलाश की जा रही है इन चोरों के खिलाप थाना शहपुरा में अपराध क्रमांंक 76/19 धारा 457,380,212 भादवि के तहत मामला दर्ज किया गया था

गिरफतार आरोपी :पुलिस की गिरफ्त में आये चोरों में
1. हसरत उर्फ हजरत अली पिता सददीक अली मुसलमान उम्र 38 साल, (ककराला का हिस्ट्रीशीटर है)
2. अफगन पिता इसफान खान उम्र 39 साल,
3. इसरत खान उर्फ छुटटा पिता असगर खान उम्र 28 साल,
4. युसूफ अली पिता अली हसन उम्र 31 साल,
5. इमरान उर्फ इवरान पिता इसराक अली उम्र 37 साल,
सभी निवासी ग्राम ककराला थाना अलापुर जिला बदायु उत्तर प्रदेश
फरार आरोपी- 1. इसरार उर्फ असरार उर्फ टिन्ना पिता मुख्तयार अली (मुख्य आरोपी)
2. नबाबुल उर्फ पंडा पिता रौनक अली
3. .फहीम पिता आगाज खान (मुख्य आरोपी)
4. गोरा पिता आगाज खान
5. गुडडा उर्फ काले पिता इस्तयाग अली
6. फरसाद पिता कल्लू खां सभी निवासी ग्राम ककराला जिला बदायु उ0प्र0शहपुरा बैंक से उड़ाई थी 80 लाख 40 हजार की नगदी

7 राज्यों के चोरों को जबलपुर पुलिस ने पकड़ा ,

वहीँ पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक थाना शहपुरा भिटोनी में दिनांक 20.02.19 को राजकपूर शर्मा उम्र 55 वर्ष निवासी चौधरी मोहल्ला थाना पाटन जिला सहकारी केंद्रीय मर्यादित बैंक शाखा प्रबंधक शहपुरा के द्वारा रिपोर्ट लेख कराई थी कि दिनांक 19,20/02/19 की दरम्यानी रात मे अज्ञात चोरों के द्वारा बैंक मे पीछे की खिडकी पर लगी लोहे की ग्रिल को गैस कटर से काटकर बैंक में प्रवेश कर बैंक के अंदर कैश रूम मे रखी तिजोरी को गैस कटर से काट कर उसमे रखे नगदी रूपये 80 लाख 40 हजार चोरी की गयी है, रिपोर्ट पर अप.क्र. 76/19 धारा 457,380 भादवि का मामला पंजीवद्ध कर विवेचना में लिया गया

टीम गठित कर बिछाया चोरों को पकड़ने के लिए जाल

वहीँ घटित हुई घटना की जानकारी लगते ही, पुलिस अधीक्षक जबलपुर अमित सिंह (भा.पु.से.) , अति. पुलिस अधीक्षक ग्रामीण डॉ. राय सिंह नरवरिया, अति. पुलिस अधीक्षक अपराध शिवेश सिंह बघेल, एस.डी.ओ.पी. पाटन एस.एन.पाठक, फिंगर प्रिंट एक्सपर्ट, डॉग स्क्वाड टीम पहुचे।पुलिस अधीक्षक जबलपुर द्वारा घटना स्थल का निरीक्षण करते हुये आरोपियों की पतासाजी के सम्बंध में आवश्यक दिशा निर्देश दिये गये, आदेश के परिपालन में टीमें गठित की गयी, दिये गये निर्देशों के तहत घटित हुई घटना की जानकारी से सभी राज्यों को मैसिज किया गया, गैस कटर से तिजौरी काटकर चोरी करने वाले अपराधियो की जानकारी प्राप्त की गयी। जानकारी पर ज्ञात हुआ कि उ0प्र0 मे ग्राम ककराला थाना अलापुर जिला बदायूं के इसरार उर्फ असरार उर्फ टिन्ना पिता मुख्तयार अली की गैंग के द्वारा इस प्रकार की घटना घटित की जाती है । मिली जानकारी के आधार पर क्राइम ब्रांचजबलपुर की टीम को ककराला उ0प्र0 रवाना कर जानकारी प्राप्त की गई और प्राप्त जानकारी एवं मुखबिर की सूचना के आधार पर इस घटना मे 1.इसरार उर्फ असरार उर्फ टिन्ना एवं उसके साथी 2. नबाबुल, 3. हसरत अली, 4. अफगन, 5. फहीम, 6. युसूफ, 7. गोरा, 8. गुडडा उर्फ काले, 9. इसरत अली, 10. इमरान उर्फ इवरान, 11. फरसाद मुसलमान सभी निवासी ग्राम ककराला जिला बदायु उ0प्र0 के शामिल होना ज्ञात हुआ साथ ही यह भी ज्ञात हुआ कि इस गैंग के द्वारा मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश महाराष्ट्र,दिल्ली , आंध्रप्रदेश , कर्नाटक, तमिलनाडू राज्यों के जिलों के ग्रामीण क्षेत्रों में स्थित बैंक, एटीएम एवं सराफा व्यापारियों की दुकानों में रखी तिजोरियों को गैस कटर से काटकर वारदात को अंजाम दिये है, घटना के बाद यहां वहां लुक छिप कर अपनी फरारी काट रहे हैं।
टीमें महाराष्ट्र एवं उ0प्र0 मे इन अपराधियों के पता ठिकाना पर इन्हें पकडने के लिये थाना प्रभारी शहपुरा जी.एस. मर्सकोले एवं पी.एस.आई अनिल थाना शहपुरा, उप निरीक्षक गिरीश खरे थाना बेलखेडा एवं क्राइम ब्रांच के प्रधान आरक्षक प्रमोद पाण्डे, आरक्षक महेन्द्र, खुमान पटेल, आदित्य कुमार, की एक टीम गठित कर रवाना की गयी।टीम के द्वारा इन अपराधियों की तलाश महाराष्ट्र एवं उत्तर प्रदेश में इनके संभावित ठिकाने मुबंई, भोपाल, इन्दौर, विदिशा, ग्वालियर, आगरा, ऐटा, बंदायू, अलापुर जिलो में की गई तथा टीम के द्वारा थाना अलापुर उत्तर प्रदेश पुलिस स्टाफ का सहयोग लेकर संदेही युसूफ अली को ग्राम ककराला में ही घेराबंदी कर पकडा गया, एव पूछताछ करते हुये अन्य साथी हसरत अली, अफगन अली, इवरान अली एवं इसरत अली चारो निवासी ग्राम ककराला थाना अलापुर जिला बदायु को ऐटा उत्तर प्रदेश से पकडा गया, पकडे गये उपरोक्त पांचो आरोपियों से शहपुरा की बैंक चोरी के सम्बंध मे पूछताछ के लिये थाना शहपुरा भिटोनी लाया गया एवं सघन पूछताछ की गयी तो बताया गया कि माह फरवरी मे जिला सहकारी केंद्रीय मर्यादित बैंक शाखा शहपुरा मे अपने अन्य साथियों के साथ आकर आधी रात को बैंक के पीछे की बाउंडी वाल फांदकर, पिछली दीवार की खिडकी में लगी लोहे की ग्रिल को गैस कटर से काट कर कैशरूम के अंदर रखी हुई तिजोरी को भी गैस कटर से काट कर तिजोरी के अंदर रखे 80 लाख 40 हजार रूपयों की चोरी करना स्वीकार किये।
पूछताछ पर आरोपी हसरत अली के द्वारा बताया गया कि जिस भी राज्य मे हम लोग अपराध करने जाते थे उसके पूर्व जहां वारदात घटित करना होता था वहां गैंग के कुछ सदस्य पहले से ही जाकर रैकी कर लिया करते थे, तथा फोर व्हीलर एवं ट्रक की व्यवस्था कर वारदात को अंजाम देते थे, ट्रक में ही गैस कटर, गैस टंकी, छैनी, हथौडी, सब्बल तथा अन्य औजार साथ मे लेकर चला करते थे, तथा घटना को अंजाम देकर प्राप्त नगदी रूपया एवं जेवरातो को गैंग के सदस्यो की हैसियत के अनुसार गैंग लीडर टिन्ना सादिक और फईम ग्राम ककराला मे पहुॅचकर आने जाने एवं खाने पीने का खर्चा काटकर बांटते थे। शहपुरा स्थित सहकारी बैंक जो कि एकांत में है में घटना करने से पूर्व नरसिंहपुर क्षेत्र मे रहकर मजदूरी करते हुये शहपुरा बैंक की रैकी की थी ।माहौल शांत होने के बाद करने वाले थे पूरा बंटवारा :वहीँ पुलिस की पूछताछ में आरोपी चोरों ने बताया शहपुरा बैंक चोरी मे हसरत अफगन, इसरत एवं युसुफ को 1-1 लाख रूपया देना और बाकी का हिसाब माहौल शांत होने के बाद करना बताया ।
चोरी की घटनाओं के बाद बटवारे मे प्राप्त राशि से गैंग लीडर इसरार उर्फ असरार उर्फ टिन्ना पिता मुख्तयार अली के द्वारा करोडो रूपयो की लागत का हवेलीनुमा मकान का निर्माण कराया गया एवं कृषि योग्य भूमि खरीदी गई इसी प्रकार फहीम पिता आगाज खान एवं गोरा पिता आगाज खान के द्वारा बहूमंजिला सफेद मारबल एवं ग्रेनाईट से निर्मित बिल्डिंग निर्माण कराई गयी एवं छत्तीसगढ मे गुड बनाने के दो बडे बडे प्लांट निर्माण कराये जाने की जानकारी प्राप्त हुई है । गुडडा उर्फ काले पिता इस्तयाग अली एवं युसुफ अली, हसरत अली तथा नबाबुल उर्फ पंडा पिता रौनक अली ने भी करोडो रूपयो की लागत वाला हवेलीनुमा मकान बनाया एवं कृषि योग्य भूमि खरीदी गई ।
फरार आरोपी इसरार उर्फ असरार उर्फ टिन्ना पिता मुख्तयार अली एवं गैंग के अन्य सदस्यों के विरूद्ध हलापुर बदायूं , हर्रई छिंदवाडा , चिचौली बैतूल , कुंडम जबलपुर, बाडी रायसेन पनारी नरसिहपुर, बनखेडा होशंगाबाद , बरघाट सिवनी में भी चोरी की वारदातों को अंजाम दिया गया था, इसी प्रकार फहीम पिता आगाज खान के विरूद्ध शाहजहांपुर भोपाल, कर्नाटक मे लूट, डकैती, हत्या एवं हत्या के प्रयास किये जाने के 4 प्रकरण पंजीबद्ध है, युसूफ अली पिता अली हसन के विरूद्ध अलापुर एवं कर्नाटक में मारपीट हत्या एवं हत्या के प्रयास एवं चोरी के 2 प्रकरण एवं नबाबुल उर्फ पंडा पिता रौनक अली के विरूद्ध चोरी डकैती मारपीट के प्रकरणो की प्रारम्भिक विवेचना में जानकारी प्राप्त हुई है इन सभी के और भी आपराधिक रिकार्ड देश के विभिन्न राज्यों मे होने की संभावना है, जिसकी जानकारी एकत्रित की जा रही है।

फरारी काट रहे थे अब खाएंगे जेल की हवा,

वहीँ पकड़े गए इन चारों अपराधियों का साथी इमरान उर्फ इवरान अली निवासी ग्राम ककराला थाना अलापुर जिला बदायु उत्तर प्रदेश का जो कि मुबंई के नालासुपारा में किराये का मकान लेकर फल बेचने का व्यापार करता है के पास अफगन और इसरत फरारी काट रहे थे और हसरत आंध्रप्रदेश चला गया । करीब 02 माह बाद हसरत भी इमरान के पास आ गया इन तीनों ने इमरान को बताया कि हम लोग मध्यप्रदेश जबलपुर के शहपुरा बैंक में चोरी किये थे और हमें कुछ दिन यहां रहकर फरारी काटना है बताकर चोरी बारदात के 50 हजार रूपये दिये और फरारी काट रहे थे।इस प्रकार इमरान को इस बात की जानकारी होते हुये कि उपरोक्त व्यक्ति शहपुरा बैंक चोरी की घटना करने के बाद फरार है और पुलिस उनकी तलाश कर रही हैं, उन्हे आश्रय देने एवं चोरी के 50 हजार रूपये प्राप्त करने के प्रमाण पाये जाने पर इसे भी आरोपी बनाया गया।पकडे गये उपरोक्त पॉचो आरोपिये से नगद 80 हजार 400 रूपये जप्त किये गये है शेष फरार आरोपियो की तलाश जारी है, पकडे गये आरोपियो की जानकारी सभी राज्यों को दी गयी है।
उल्लेखनीय बिंदू- पकडे एवं फरार आरोपियों द्वारा चोरी एवं डकैती में मिली नगदी राशि तथा जेवर को बेचकर रूपये का इन्वेस्ट कृषि भूमि खरीदने तथा आलीशान मकान बनाने किया जाता है, आरोपियों की सम्पत्ति के सम्बंध मे जानकारी जुटाई जा रही है।
पुलिस अधीक्षक जबलपुर अमित सिंह (भा.पु.से.) द्वारा इस टीम को नगद इनाम से पुरूस्कृत किये जाने की घोषणा की गई है।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
ख़बर चुराते हो अभी पोलखोल दूंगा
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x