मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना से रज्जू, राजेश और किशन की बेटियों के हुए हाथ पीले

जबलपुर : गरीबी और महंगाई की मार, उस पर बिटिया की शादी की चिंता से ग्रस्त विकासखण्ड पाटन के ग्राम बोरिया भिलौदी के रज्जू लाल चौधरी, ग्राम उड़की के राजेश बैन और ग्राम कटरा बेलखेड़ा के किशनलाल बैन के लिए मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना के तहत कृषि उपज मंडी प्रांगण पाटन में आयोजित सामूहिक विवाह सम्मेलन खुशियों की सौगात लेकर आया। यहां बने विशाल और भव्य विवाह मण्डप में वैदिक मंत्रोच्चार के बीच समाज के गणमान्यजनों, जनप्रतिनिधियों और प्रशासनिक अधिकारियों की मौजूदगी में इनकी बेटियों का विवाह संपन्न हुआ। मुख्यमंत्री कमलनाथ के प्रति आभार व्यक्त करते हुए रज्जू, राजेश और किशन ने कहा कि मुख्यमंत्री ने हर बेटी को शादी में उपहार स्वरूप 48 हजार रूपए दिया है, इस पैसे से बेटी अपनी घर गृहस्थी का समान स्वयं खरीद सकेगी। इसके लिए मुख्यमंत्री की जितनी भी प्रशंसा की जाए कम है। राज मिस्त्री का काम कर अपने परिवार का खर्च चलाने वाले रज्जूलाल चौधरी कहते हैं कि दिन-रात बिटिया की शादी की चिंता लगी रहती थी। मुख्यमंत्री कमलनाथ की मदद से अब जाकर बेटी ब्याह पाया हूं, मैं बहुत खुश हूँ। दामाद भी अच्छा मिल गया है। गोदरेज कंपनी में सेल्समेन है, दस हजार रूपए प्रतिमाह कमाता है। अब हंसी-खुशी बेटी-रोशनी का घर चलेगा। ग्राम उड़की के राजेश बैन की बेटी वंदना का विवाह भी सामूहिक विवाह सम्मेलन में मझौली इंद्राना के सुरेश कुमार बेन के साथ संपन्न हुआ। राजेश ने खुशी का इजहार करते हुए कहा कि दामाद सुरेश का बैण्ड बाजा का काम है। मैं मेहनत मजदूरी कर परिवार भले पाल रहा था, लेकिन बेटी की शादी में पैसा खर्च करने और बारातियों की खातिरदारी करने की मेरी हैसियत नहीं थी, लेकिन मुख्यमंत्री कन्यादान विवाह सम्मेलन में बड़े धूम-धाम से बिटिया की शादी हुई। बारातियों का स्वागत सत्कार हुआ, खाने-पीने का भी अच्छा इंतजाम रहा।ग्राम कटरा बेलखेड़ा के किशनलाल बैन कहते हैं – किसी रईस के यहां की शादी में जैसा इंतजाम होता है, मुख्यमंत्री कमलनाथ ने मेरी बेटी की शादी में वैसा ही इंतजाम कराया। बेटी के हाथ पीले हो गए और उसे मुख्यमंत्री ने घर-गृहस्थी के सामान के लिए 48 हजार रूपए भी दिए। मेरे लिए इससे ज्यादा खुशी की बात और क्या हो सकती है।

शेयर करें: