मिलाद-उन-नबी पर इस बार नहीं निकाला जायेगा जुलूस-ए-मोहम्मदी

0

शहर और जिले में अमन-चैन कायम रखने मुस्लिम समुदाय ने लिया फैसला

नायब मुफ्ती-ए-आजम मध्यप्रदेश डॉ. मुशाहिद रजा ने की कंट्रोल रूम में
प्रशासन के साथ आयोजित बैठक में घोषणा

जबलपुर :मुस्लिम समुदाय ने शहर में अमन-चैन कायम रखने प्रशासन के आग्रह पर इस बार मिलाद-उन-नबी पर जुलूस-ए-मोहम्मदी नहीं निकालने का फैसला लिया है । मुस्लिम समुदाय की ओर से इस निर्णय की घोषणा नायब मुफ्ती-ए-आजम मध्यप्रदेश डॉ. मुशाहिद रजा ने शनिवार की शाम प्रशासन द्वारा कंट्रोल रूम में आयोजित बैठक में दी । अयोध्या प्रकरण में देश की शीर्ष अदालत का निर्णय आने के बाद जिले में कानून व्यवस्था बनाये रखने के मद्देनजर जिला प्रशासन द्वारा आयोजित इस बैठक में विधायक विनय सक्सेना, विधायक संजय यादव, कलेक्टर भरत यादव, पुलिस अधीक्षक अमित सिंह, नगर निगम आयुक्त आशीष कुमार तथा मुस्लिम समाज की ओर से भूरे पहलवान, कदीर सोनी, ताहिर अली, मतीन अंसारी, आजम खान, मकबूल अहमद रजवी एवं अन्य वरिष्ठजन मौजूद थे ।
बैठक के प्रारंभ में कलेक्टर भरत यादव ने शहर और जिले में कानून एवं शांति व्यवस्था रखने में सहयोग के लिए मुस्लिम समुदाय का आभार व्यक्त किया । उन्हेंने आने वाले दिनों में इसी तरह के सक्रिय सहयोग की अपेक्षा समाज के वरिष्ठजनों से की । श्री यादव ने बताया कि अयोध्या प्रकरण पर फैसला आने के बाद प्रशासन द्वारा सभी प्रकार के धार्मिक एवं सामाजिक आयोजनों पर रोक लगा दी गई है । फैसले पर न तो किसी को सार्वजनिक रूप से खुशियों का इजहार करने की अनुमति होगी और न ही जुलूस अथवा आतिशबाजी की परमिशन दी जायेगी । इस तरह की सभी गतिविधियों पर प्रतिबंध लगा दिया गया है और पूर्व में जारी अनुमतियां भी निरस्त कर दी गई हैं ।
पुलिस अधीक्षक अमित सिंह ने इस अवसर पर शहर और जिले में कानून व्यवस्था बनाये रखने किये गये इंतजामों की जानकारी दी । उन्होंने बताया कि पुलिस और प्रशासन की प्रत्येक गतिविधि पर पैनी नजर है, सुरक्षा के पुख्ता प्रबंध किये गये हैं तथा संवेदनशील क्षेत्रों में ज्यादा सतर्कता बरती जा रही है । श्री सिंह ने कहा कि शांति भंग करने वालों तथा अफवाह फैलाने वाले तत्वों से सख्ती से निपटा जायेगा वो चाहे किसी भी धर्म या समुदाय का हो । पुलिस अधीक्षक ने कहा कि प्रशासन और पुलिस द्वारा सोशल मीडिया पर भी पैनी नजर रखी जा रही है और आपत्तिजनक संदेश प्रसारित करने वालों पर आईटी एक्ट के तहत कार्यवाही की जायेगी ।
बैठक में विधायक विनय सक्सेना एवं संजय यादव ने भी अपने विचार व्यक्त किये । उन्होंने शहर में शांति सद्भाव और भाईचारा कायम रखने में सभी समुदायों खासतौर पर मुस्लिम समुदाय के योगदान की सराहना की । दोनों विधायकों ने शहर की गंगा-जमुनी तहजीब कायम रखने के लिए समाज के वरिष्ठजनों के योगदान की भी प्रशंसा की और प्रशासन को कानून-व्यवस्था बनाये रखने किये गये इंतजामों के लिए साधुवाद दिया । बैठक में मुस्लिम समुदाय की ओर से श्री भूरे पहलवान, कदीर सोनी, पार्षद आजम खान एवं ताहिर अली, मतीन अंसारी, मकबूल अहमद रजवी आदि ने अपने विचार रखे तथा शहर में अमन-चैन कायम रखने समाज की ओर से पूरा सहयोग प्रदान करने का आश्वासन प्रशासन को दिया । इस अवसर पर समुदाय के वरिष्ठजनों ने कहा कि शहर सबका है और शहर के सांप्रदायिक सद्भाव को बिगड़ने नहीं दिया जायेगा ।

बैठक में मुस्लिम समुदाय के मौजूद सभी वरिष्ठजनों ने सर्व सहमति से शहर में अमन-चैन कायम रखने कल रविवार को मिलाद-उन-नबी पर जुलूस-ए-मोहम्मदी न निकालने का निर्णय लिया । बैठक में समाज द्वारा लिये गये इस फैसले की घोषणा नायब मुफ्ती-ए-आजम मध्यप्रदेश डॉ. मुशाहिद रजा ने की । उन्होंने कहा कि मुस्लिम समाज असामाजिक तत्वों को शहर की फिजाँ बिगाड़ने का कोई मौका नहीं देना चाहता इसलिए यह फैसला लिया गया है । उन्होंने सभी धर्मों एवं समुदाय के नागरिकों को मिलजुलकर रहने का पैगाम भी बैठक में दिया ।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
ख़बर चुराते हो अभी पोलखोल दूंगा
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x