मासूम बच्चे जान बचाने बिल्डिंग से लगाते रहे छलांग यहाँ लोग वीडियो बनाते रहे

सूरत के कोचिंग सेंटर में आग लगने से अब तक 19 बच्चों सहित एक टीचर की मौत हो गई बताया जा रहा है जान बचाने के लिए छात्र बिल्डिंग से कूद रहे थे यहाँ लोग वीडियो बना रहे थे जो की मानवता को शर्मसार करने जैसा है यदि लोग वीडियो बनाने में व्यस्त न होकर कपड़ा लगाते या अन्य कुछ उपाय करते तो शायद छात्रों की जान बच जाती
घटना के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस हादसे पर गहरा दुख जताया है. उन्होंने गुजरात सरकार को तत्काल राहत देने के आदेश दिए हैं ख़बरों की मानें तो गुजरात के औद्योगिक शहर सूरत में शुक्रवार को एक दिल दहलाने वाला हादसा हुआ. यहां के सरथाणा इलाके में स्थित एक इमारत में भीषण आग लग गई. इस हादसे में एक टीचर और 19 छात्रों की दर्दनाक मौत हो गई. बताया जा रहा है कि यह एक व्यावसायिक इमारत है जिसका नाम तक्षशिला है. इसमें कोचिंग सेंटर चल रहा था और यहां बड़ी संख्या में बच्चे मौजूद थे. अचानक लगी आग से अफरा-तफरी मच गई और वहां पढ़ रहे बच्चे इमारत की तीसरी मंजिल पर फंस गए.आग इतनी तेजी से फैली कि बच्चों को बाहर निकलने का कोई रास्ता नहीं मिला. आग के धुएं से कई बच्चे वहीं बेहोश हो गए. जान बचाने की घबराहट में कई छात्रों ने इमारत से छलांग लगाना शुरू कर दिया. वो बिना किसी सहारे के सीधे नीचे कूद गए. इस हादसे में अभी तक 19 बच्चों की मौत हो गई है, जबकि एक टीचर की भी इसमें जान चली गई है. इस घटना में 10 अन्य लोग गंभीर रूप से घायल बताए जा रहे हैं जिन्हें अस्पताल में भर्ती करवाया गया है.

राहुल ने भी जताया दुख

इस हादसे के बाद राहुल गांधी ने भी ट्वीट कर कहा कि गुजरात में हुए इस हादसे की खबर से काफी दुख पहुंचा है. पीड़ित परिवारों के प्रति मैं संवेदना व्यक्त करता हूं और घायलों के जल्द से जल्द स्वस्‍थ्य होने की कामना करता हूं.

सुरत, गुजरात में हुये इस हादसे की ख़बर से बहुत दुःख पहुंचा है।

पीड़ित परिवारों के प्रति, मैं गहरी शोक और संवेदना व्यक्त करता हूँ।

घायलों के जल्द से जल्द स्वस्थ होने की कामना करता हूँ। https://t.co/RWnH8dJTdP

— Rahul Gandhi (@RahulGandhi) May 24, 2019

नहीं पहुंची फायर ब्रिगेड

स्‍थानीय लोगों ने बताया कि जैसे ही आग लगने का पता चला, इसकी जानकारी फायर स्टेशन को दी गई लेकिन फायर ब्रिगेड समय पर नहीं पहुंची जिससे आग ने विकराल रूप ले लिया. जान बचाने के लिए अंदर फंसे छात्रों ने इमारत के ऊपर से छलांग लगानी शुरू कर दी. इस दौरान स्‍थानीय लोगों ने सीढ़ी लगाकर बच्चों को बचाने का भी प्रयास किया लेकिन वो नाकाम साबित हुए.

आग पर काबू पाया गया

फायर ब्रिगेड ने कड़ी मशक्कत के बाद एक घंटे में आग पर काबू पा‌या. उन्होंने इमारत के अंदर जाकर यह पता लगाने की कोशिश की कि कोई और वहां फंसा तो नहीं रह गया. फायर ब्रिगेड के कर्मचारी और पुलिस मौके पर सघन जांच कर रही है. आग लगने की वजहों का फिलहाल पता नहीं चल सका है. बताया जा रहा है कि घटना के वक्त कोचिंग सेंटर में 30 से ज्यादा बच्चे मौजूद थे.

पीएम मोदी ने हादसे पर जताया अफसोस
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस हादसे पर दुख जताया है. उन्होंने गुजरात सरकार को फौरन राहत पहुंचाने के आदेश दिए हैं.

Narendra Modi

@narendramodi
Extremely anguished by the fire tragedy in Surat. My thoughts are with bereaved families. May the injured recover quickly. Have asked the Gujarat Government and local authorities to provide all possible assistance to those affected.
55.1K
5:54 PM – May 24, 2019
Twitter Ads info and privacy
13K people are talking about this

सीएम रूपाणी ने जांच के दिए आदेश

मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने हादसे पर दुख जताया है. उन्होंने हादसे की जांच के न्यायिक आदेश दिए हैं. रूपाणी ने कहा कि मैं हादसे में मारे गए लोगों के परिवार के साथ हूं, घायल हुए बच्चों के जल्द ही कुशल होने की कामना करता हूं. सीएम ने इस हादसे में मारे गए लोगों को मुआवजे के रूप में 4 लाख रुपये देने की घोषणा की है. स्टेट अरबन डवलपमेंट विभाग को इमारत की जांच के आदेश दिए गए हैं.नड्डा ने दिए एम्स निदेशक को टीम बनाने के निर्देश
स्वास्थ्य मंत्री जे पी नड्डा ने सूरत हादसे पर डॉक्टरों की एक टीम बनाने के निर्देश एम्स के निदेशक को दिए हैं। यदि जरूरत पड़ी तो डॉक्टरों की टीम सूरत के लिए भी रवाना की जाएगी. वहीं एम्स ट्रॉमा सेंटर में बेड्स को भी रिजर्व किया गया.

शेयर करें: