भूमि सुधार आयोग ने नजूल भूमि के प्रबंधन एवं निर्वतन पर जनप्रतिनिधियों से ली राय

0

जबलपुर :राज्य भूमि सुधार आयोग ने आज यहां कलेक्टर कार्यालय के सभाकक्ष में आयोजित बैठक में नजूल भूमि के प्रबंधन एवं निर्वतन पर जनप्रतिनिधियों की राय जानी । भूमि सुधार आयोग के अध्यक्ष श्री इंद्रनील शंकर दाणी की अध्यक्षता में आयोजित इस बैठक में जबलपुर केंट के विधायक श्री अशोक रोहाणी, बरगी विधायक श्री संजय यादव, आयोग के वरिष्ठ सलाहकार श्री ए.के. सिंह, अपर कलेक्टर वी.पी. द्विवेदी मौजूद थे ।बैठक में मुख्य रूप से नजूल पट्टों के नवीनीकरण की प्रक्रिया को सरल बनाने का सुझाव जनप्रतिनिधियों ने भूमि सुधार आयोग को दिया तथा नजूल रेंट को तर्क संगत बनाने की आवश्यकता बताई । जनप्रतिनिधियों ने नजूल की भूमि पर कई वर्षों से काबिज परिवारों से भूमि का मालिकाना हक देने की बात कही । जनप्रतिनिधियों ने आयोग से कहा कि शहरी क्षेत्रों में स्थित नजूल भूमि का कुछ हिस्सा गरीब एवं कमजोर वर्ग के लोगों को पट्टे पर देने के लिए आरक्षित किया जाना चाहिए ।
आयोग को शासकीय विभागों को आबंटित की गई भूमि का उपयोग नहीं होने पर वापस लिये जाने का सुझाव भी दिया गया । इसी के साथ भेड़ाघाट तथा इसके आसपास नर्मदा नदी के किनारे बसे गांवों में नजूल की भूमि पर वर्षों से घर बनाकर रह रहे लोगों को नर्मदा तट के तीन सौ मीटर के दायरे में निर्माण पर लगी रोक से छूट दिलाने का आग्रह भी भूमि सुधार आयोग से किया गया ताकि जर्जर और जीर्ण-शीर्ण हो चुके मकानों की मरम्मत कराई जा सके ।
बैठक में जबलपुर विकास प्राधिकरण को आवासीय कालोनी विकसित करने के लिए दी गई नजूल की भूमि को फ्री होल्ड में परिवर्तित करने की मांग की गई । बैठक में कोटवार संघ के अध्यक्ष ने भूमि सुधार आयोग के अध्यक्ष को बताया कि कोटवारों को मालगुजारों से मिली भूमि को नजूल की भूमि घोषित कर दिया गया है । उन्होंने इस भूमि को वापस आबादी की भूमि घोषित करने और कोटवारों को इसका मालिकाना हक दिलाने का आग्रह आयोग के अध्यक्ष से किया । बैठक में जनप्रतिनिधियों ने पुरानी आबादी वाली भूमि को ग्रीन बेल्ट घोषित न किये जाने का सुझाव भी दिया ।
भूमि सुधार आयोग द्वारा जनप्रतिनिधियों की राय लेने के लिए आयोजित इस बैठक में शरण चौधरी, लक्ष्मण गुप्ता, राजेश जायसवाल, तेजकुमार भगत, राकेश चौधरी, मनीष पटेल, मोतीलाल अहिरवार, प्रशांत जैन, अशोक कटारे, दामोदर सोनी, अशोक उरमलिया, भेड़ाघाट नगर पंचायत के पूर्व अध्यक्ष महेश तिवारी एवं सुनील जैन आदि भी उपस्थित थे । बैठक में आबादी की भूमि एवं नजूल भूमि को नक्शे में अलग-अलग रंग से दर्शाने का सुझाव भी दिया गया ।
भूमि सुधार आयोग के अध्यक्ष श्री दाणी ने बैठक के समापन पर जनप्रतिनिधियों से मिले सुझावों को महत्वपूर्ण बताया । श्री दाणी ने कहा कि आयोग इन सुझावों पर गौर करेगा

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
ख़बर चुराते हो अभी पोलखोल दूंगा
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x