भारत के धुरंधरों ने धो डाला पाकिस्तानी गेंदबाजों को शानदार जीत की हासिल


नई दिल्ली. पूरे देश की निगाहें जिस मैच पर टिकीं थी वो मैच भारत के रणबाकुरों ने जीतकर दिखा दिया साथ ही इस मैच की जीत से एक संदेश भी दे दिया गया की हम पाकिस्तान को हर क्षेत्र में धूल चटा सकते है चाहे वो जंग का मैदान हो या किर्केट का मैदान 2019 का इस सबसे बड़ा मुकाबले का टॉस पाकिस्तान ने जीत और भारत को बल्लेबाजी के लिए बुलाया. पाकिस्तान ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने का फैसला किया है. भारत ने चिर प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान को 89 रन से हरा दिया है. रनों के लिहाज से वर्ल्ड कप में पाक पर भारत की ये सबसे बड़ी जीत है. पिछली बार 2015 में उसने एडिलेड में 76 रन से हराया था. टीम इंडिया ने पाक को वर्ल्ड कप में लगातार 7वीं बार हराया. वर्ल्ड कप में 1992 से दोनों टीमों के बीच मैच खेले जा रहे हैं, लेकिन टीम इंडिया कभी नहीं हारी. मैनचेस्टर में पाकिस्तान ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी का फैसला किया. भारत ने 50 ओवर में 5 विकेट पर 336 रन बनाए.

डकवर्थ लुइस नियम के हिसाब से पाकिस्तान को 40 ओवर में जीत के लिए 302 रन का लक्ष्य दिया गया था. वह 6 विकेट पर 212 रन ही बना सका. बारिश के कारण दो बार खेल रोका गया भारतीय पारी के 47वें ओवर में बारिश शुरू हो गई थी. इसके कारण खेल को रोक दिया गया था. 30 मिनट बाद खेल फिर से शुरू हो सका. इसके बाद भारतीय पारी के खत्म होने के बाद बारिश के कारण कवर्स मैदान पर लाए गए. हालांकि, इस बार मौसम जल्द ही साफ हो गया.

पाकिस्तान की पारी में 35 ओवर के बाद बारिश के कारण मैच रोक दिया गया था. तब पाक का स्कोर 6 विकेट पर 166 रन था. डकवर्थ लुइस नियम के हिसाब से उसकी पारी को 40 ओवर का कर दिया गया. उसे मैच जीतने के लिए 302 रन का लक्ष्य दिया गया. यहां से उसे 30 गेंद पर 136 रन बनाने थे. मैच के बाद कप्तान कोहली ने कहा, ‘पिच ने बहुत ज्यादा फर्क पैदा नहीं किया. हम भी पहले बॉलिंग करना चाहते थे. अगर अच्छी जगह फेंकते तो हमें पहले बॉलिंग में भी कामयाबी मिलती.

रोहित ने अकेले ही बहुत अच्छी पारी खेली. उनकी यह पारी शानदार थी. 340-350 स्कोर के लिए अच्छा प्लेटफॉर्म दिया. उसके बाद राहुल और मैंने भी अपना रोल प्ले किया. इस तरह से मिडल ऑर्डर बैटिंग को मजबूती दी है. कुलदीप यादव हर ओवर के साथ बेहतर हो रहे थे. बाबर और फख्र का आउट होना बहुत अहम पड़ाव था. चहल और कुलदीप हमारे लिए मिडल ओवरों में बहुत महत्वपूर्ण हैं. भुवनेश्वर के जल्दी ठीक होने की उम्मीद करते हैं. हमारे पास शमी मौजूद हैं. हमारे गेंदबाजों ने अपनी जिम्मेदारी अच्छी तरह से निभाई है.’

शेयर करें: