सिहोरा के भनपुरा में सरकार का स्वच्छ भारत अभियान सिर्फ गढ्ढो तक

जबलपुर :वीते 5 वर्ष मोदी सरकार ने स्वच्छ भारत मिशन के तहत करोडों नहीं बल्कि अरबों रुपये खर्च किये जिसके तहत गाँव से लेकर शहर के हर उस घर में शौचालय निर्माण किये जाने थे जिनके घर पर शौचालय नहीँ बने है लेकिन सरकार के इस स्वच्छ भारत मिशन को पलीता लगाती हुई सिहोरा जनपद की ढकरवाह पंचायत ने भनपुरा ग्राम जो की ढकरवाह पंचायत अंतर्गत ही आता है सरकार द्वारा बनवाये जाने वाले शौचालय कर नाम पर सिर्फ गढ्ढे करवा दिए जो आज तक पूरी तरह खत्म हो चुके है ग्रामीणों का आरोप है की पंचायत द्वारा लोगों के घरों में शौचालय के नाम पर अधिकांश लोगों के घरों में सिर्फ गढ्ढे खुदवा दिए गए लेकिन आज तक इन ग्रामीणों के शौचालय नहीँ बनवाये गए नतीजन आज भी यहाँ पर लोग खुले में ही शौच के लिए जाने मजबूर है कुल मिलाकर देखा जाए तो ग्रामीणों की समस्याओं का निदान यहाँ आसानी से नहीँ होता

नहीं होती साफ ,सफाई

वहीँ भनपुरा वासियों आरोप है की पंचायत द्वारा सफाई के नाम पर साल में एक दो बार खानापूर्ति कर दी जाती है लेकिन लगातार सफाई नहीँ करवाई जा रही जिसके चलते ग्राम में बीमारियों का प्रकोप बढ़ रहा है अब ऐसे में देखा जाए तो सरकारी स्वछता सन्देश लगता है इस पंचायत के सरपँच और सचिव के लिए महज एक कागजी घोड़े दौड़ाने जैसा हो गए है साथ ही कागजो में यह पंचायत पूरी तरफ ओ डी एफ हो गई है सभी ग्रामीण खुले में शौच नहीं जा रहे है यह सब कागजों में ओके हो रहा है हलाकि कुछ अधिकारियों ने ग्राम जाकर लोगों की समस्याएं सुनी फोटो उतारी और दुबारा लौटकर नहीं गए अब ऐसे में सवाल उठता है की जब अधिकारी ही इनकी नहीं सुनेंगे तो ग्रामीणजन किसको अपनी समस्यायें सुनायें ?

शेयर करें: