भगवत गीता के हर श्लोक में है मुक्ति का मार्ग साध्वी प्रतिमा दीदी

सिहोरा :मरने के बाद कौन मुक्ति नहीं चाहता खासकर हर इंसान की तमन्ना होती है की मौत के बाद मुक्ति मिल जाये जिसको लेकर परिजन आत्मा की शांति के लिए यज्ञ दान और पुराण सुनाकर मरने वाले को मोक्ष दिलाने की सोचते है लेकिन क्या पता है आपको भगवत गीता के हर श्लोक में भगवान ने मुक्ति का मार्ग दे रखा है गीता जयंती पर खड़रा में श्री गोवर्धन गौशाला में संत आसारामजी बापू आश्रम छिंदवाड़ा से आईं साध्वी प्रतिमा दीदी ने अपने प्रवचन में बताया की यदि आप प्रतिदिन भगवत गीता के एक श्लोक का भी पाठ करते है तो मुक्ति पक्की क्योंकि ये भगवान श्रीकृष्ण का वचन है जिन्होंने महाभारत जैसे युद्ध के मैदान में खड़े होकर जो अर्जुन को उपदेश दिया उससे अर्जुन यानी सत्य की जीत हुआ इसलिए यदि मनुष्य भगवत गीता का सही और पूरी तरह अध्ययन करले और उसके अनुसार चले तो ये तो पक्का है की उसके लिए मोक्ष के दरवाजे खुल जाएंगे वहीं भगवत गीता की महिमा बताते हुए साध्वी प्रतिमा दीदी ने बताया की जिसकी महिमा का बखान भगवान द्वारा खुद किया गया है उस गीता ज्ञान को जनता के बीच तक पहुँचाने का दैवीय कार्य करते है कहते है उनको बहुत -बहुत पुण्य लाभ मिलता है अपनी भारतीय सँस्कृति में श्रीमद भगवत गीता का महत्वपूर्ण स्थान है भगवतगीता दुनिया का एकमात्र ऐसा ग्रँथ है जिसकी जयंती मनाई जाती है -गीता जो की साक्षात योगेश्वर भगवान श्रीकृष्ण की वाणी है वर्तमान की विकट से विकट समस्याओं का समाधान गीता ज्ञान से ही संभव है गीता का ज्ञान जन्म मरण के चक्र से मुक्ति देने वाला है गीता जयंती के उपलक्ष्य में प्रवचन व भंडारा का कार्यक्रम आज 8 दिसंबर 2019 रविवार के दिन श्री गोवर्धन नाथ गौशाला खड़रा माँ दुर्गा देवालय के सामने खड़रा( कुँआ ) में आयोजित किया गया जिसमें अनेक सन्तो के साथ साध्वी प्रतिमा दीदी( संत श्री आसाराम जी आश्रम छिंदवाड़ा से कार्यक्रम में पहुँची यह आयोजन श्री योग वेदांत सेवा समिति सिहोरा द्वारा आयोजित किया गया

शेयर करें: