प्रदेश सरकार ने आदिवासियों के सामाजिक-आर्थिक उत्थान के लिए ऐतिहासिक निर्णय लिए हैं – गृह मंत्री बाला बच्चन

0

अमर शहीद बिरसा मुण्डा जयंती पर विशाल आदिवासी सम्मेलन एवं आदर्श सामूहिक विवाह समारोह आयोजित

जबलपुर :गृह मंत्री बाला बच्चन ने कहा है कि प्रदेश सरकार ने आदिवासियों के सामाजिक-आर्थिक उत्थान के लिए अनेक महत्वपूर्ण निर्णय लेकर क्रियान्वयन सुनिश्चित किया है। राज्य शासन आदिवासियों के सर्वांगीण विकास के लिए कृत संकल्पित है।जेल एवं गृह मंत्री श्री बच्चन जबलपुर के जवाहरलाल नेहरू कृषि विश्वविद्यालय मैदान अधारताल में पूर्व मंत्री सुश्री कौशल्या गोंटिया कार्यक्रम संयोजक अखिल भारतीय आदिवासी शबरी महासंघ द्वारा अमर शहीद बिरसा मुण्डा जयंती के शुभ अवसर पर आयोजित विशाल आदिवासी सम्मेलन एवं आदर्श सामूहिक विवाह महायज्ञ समारोह को संबोधित कर रहे थे। इस कार्यक्रम के मुख्य अतिथि पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह थे। इस अवसर पर विधायक संजय यादव, दिनेश यादव, जगदीश सैनी, सम्मति सैनी, नित्यनिरंजन खम्परिया, अजय शाह, मांडवी चौहान आदि जनप्रतिनिधि भी मौजूद थे।गृह मंत्री श्री बच्चन ने कहा कि राज्य सरकार ने विश्व आदिवासी दिवस के अवसर पर अनुसूचित जनजातियों तथा अनुसूचित जनजाति बहुल क्षेत्रों की उन्नति के लिए ऐतिहासिक निर्णय लिए । जिन पर प्रभावी अमल प्रारंभ हो गया है। उन्होंने कहा कि सुश्री कौशल्या गोंटिया द्वारा गरीब आदिवासी कन्याओं के विवाह का यह आयोजन जो लगातार 20 से अधिक वर्षो से जारी है। बहुत सफल और सराहनीय है। उन्होंने नवविवाहित दंपति को आशीर्वाद सहित शुभकामनाएं दीं। गृह मंत्री ने कहा पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह सरकार द्वारा अमर शहीद बिरसा मुण्डा की शिक्षाओं को प्रसारित करने के लिए स्थान-स्थान पर स्टेच्यू स्थापना और जागरूकता के क्षेत्र में उल्लेखनीय कार्य किया गया था।
मुख्य अतिथि पूर्व मुख्यमंत्री एवं राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह ने वर-वधु को आशीर्वाद देते हुए उनके शतायु होने तथा उज्जवल भविष्य की शुभकामना की। उन्होंने कहा कि सुश्री गोंटिया द्वारा अमर शहीद बिरसा मुण्डा की जयंती पर गरीब आदिवासी कन्याओं के विवाह कार्यक्रम उत्साहवर्धन और प्रेरणा देने वाला तथा अनुकरणीय है। उन्होंने बिरसा मुण्डा का स्मरण करते हुए कहा कि बिरसा मुण्डा ने अन्याय और अत्याचार के विरूद्ध संघर्ष किया और समाज में नई चेतना का संचार किया। उनके कार्यों से हजारों वर्षों तक लोग प्रेरणा लेते रहेंगे। श्री सिंह ने कहा कि कोल समाज की उन्नति के लिए राज्य सरकार सतत् कार्य कर रही है। प्रदेश सरकार ने कोल समाज के सदस्यों की अच्छी शिक्षा और रोजगार के अवसरों को बढ़ाने के लिए लगातार प्रयास किए हैं। भविष्य में भी प्रदेश सरकार यथासंभव विकास के लिए कार्य करेगी। विकास अधिकरण के माध्यम से कोल समाज की सर्वांगीण उन्नति को गति मिलेगी।
पूर्व मंत्री सुश्री कौशल्या गोंटिया ने कहा कि आदिवासी शबरी महासंघ परिवार 20 वर्षों से अधिक समय से अमर शहीद बिरसा मुण्डा की जयंती के अवसर पर तथा समय-समय पर आदिवासी सम्मेलन एवं आदर्श सामूहिक विवाह का आयोजन कर आर्थिक एवं सामाजिक उत्थान को प्रोत्साहित करता आ रहा है। उन्होंने आदिवासियों के कल्याण के लिए शिक्षा और रोजगार के अवसरों में वृद्धि की जरूरत को रेखांकित किया। सुश्री गोंटिया ने बताया कि आदिवासी समाज ने सदैव जल, जंगल और जमीन की रक्षा की है। यह समाज सामाजिक संतुलन का पक्षधर रहा है। इस समाज ने लड़का-लड़की दोनों के जन्म का बिना भेदभाव स्वागत किया है। सुश्री गोंटिया ने कोल समाज के चहुमुंखी विकास की योजनाओं का मांगपत्र भी प्रस्तुत किया। उन्होंने अमर शहीद बिरसा मुण्डा का स्मरण कर कहा कि प्रदेश की बिरसा मुण्डा की पहली प्रतिमा जबलपुर में ही स्थापित की गई थी और तब से लगातार उनकी जयंती पर विशाल आदिवासी सम्मेलन का आयोजन कर समाज द्वारा उनकी शिक्षाओं तथा योगदान का स्मरण किया जाता है ताकि नागरिकों को प्रेरणा मिल सके।
समारोह में 32 आदिवासी वर-वधुओं के जोड़ों ने आदर्श सामूहिक विवाह महायज्ञ में शामिल होकर दाम्पत्य जीवन में प्रवेश किया। अतिथियों द्वारा अमर शहीद बिरसा मुण्डा की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया गया। बालिकाओं ने आकर्षक सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किए।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
ख़बर चुराते हो अभी पोलखोल दूंगा
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x