पुलिस को देर रात तक खुली दुकानों को बंद करवाना पड़ा महंगा

जबलपुर :मझौली नगर में देर रात तक खुली दुकानों को बंद करवाना पुलिस को महंगा पड़ गया बताया जा रहा है की व्यवस्था बना रही पुलिस को स्थानीय भाजपा नेताओं का विरोध झेलना पड़ा मामला शुक्रवार की रात्रि का है जब बचैया तिराहा में11:45 मिनिट के लगभग100डायल द्वारा थाना प्रभारी के द्वारा दिये गए नोटिस जिसमे लिखा था कि सभी पान दुकान और ठेला वाले को थाना प्रभारी द्वारा बोला गया कि 11:30मिनिट पर अपनी दुकान बंद कर लें ताकि चोरियां और असामाजिक तत्य को मौका मिलता है अपराध करने में इसी की कर्तब्य पूर्वक ड्यूटी निभा रहे पुलिस कर्मचारी मनोहर विश्वकर्मा द्वारा 100 डायल के माध्यम से दुकान बंद करवाई जा रही थी तभी जब 100 डायल बचैया तिराहा पहुंची तो बादमें उसके पीछे राजेन्द्र चौरसिया ,बबलू चौरसिया,और किन्दू चौरसिया ने 100 डायल के पुलिस कर्मचारी को बुलाया और अभद्र व्यवहार पुलिस के साथ करने लगे गाली गलौच का भी प्रयोग किया गया साथ ही नोकरी छीनने की भी धमकी देने लगे ये सब बातें मंझोली निवासी सूर्यकांत पांचाली विश्वकर्मा जबलपुर दर्पण न्यूज़ पेपर के पत्रकार के सामने घटित हुई सूर्यकांत ने बताया की पुलिस के साथ हो रही अभद्रता को मैने देखा तो में थोड़ी देर वंहा खड़ा हो गया इसके बाद फिर राजेन्द्र चौरसिया ,बबलू चौरसिया दोनों मुझसे भी लड़ने के लिए बार बार गली गलौच देने लगे और बार बार लड़ने को और टारगेट कर निपटवाने की बात करने लगे मेने जब उनसे बोला कि मेरी कोई बात नही है तो फिर भी गुंडा गर्दी से लड़ने के लिए बिल्कुल तैयार हो गए और इनके द्वारा खुलेआम धमकी दी और जान को भी खतरा है ऐसे इनके विचारों से दिख रहा है जो खुलेआम निपटवाने की बाद कर रहे हैं जिसके बाद मेरे द्वारा घटना के तुरंत बाद मझौली थाना में शिकायत की गई

इनका कहना है ,नहीं ऐसा कोई मामला नहीँ हुआ है न ही कोई शिकायत आई है

मझोली टी आई, गोपाल जगेत

शेयर करें: